Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

करूणानिधि 11वीं बार चुने गए DMK प्रमुख, 1969 में बने थे पहली बार अध्‍यक्ष

उन्होंने अगले पांच साल तक के लिए पार्टी की बागडोर अपने हाथों में संभाल ली है।

करूणानिधि 11वीं बार चुने गए DMK प्रमुख, 1969 में बने थे पहली बार अध्‍यक्ष

चेन्नई. नवगठित समान्य परिषद् ने द्रमुक प्रमुख एम करूणानिधि को शुक्रवार को 11 वीं बार पार्टी का अध्यक्ष चुना। पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान करूणानिधि ने संकेत दिया था कि यह उनका अंतिम चुनावी अभियान हो सकता है और इस चुनाव का मतलब है कि अब उन्होंने अगले पांच साल तक के लिए पार्टी की बागडोर अपने हाथों में संभाल ली है। द्रमुक अध्यक्ष सीएन अन्नादुरई की मृत्यु के बाद करूणानिधि पहली बार 27 जुलाई 1969 में अध्यक्ष निर्वाचित हुये थे।

पेरिस में लगातार तीसरे दिन आतंकियों से मुठभेड़, एक को सुलाया मौत की नींद

1949 में पार्टी की स्थापना के बाद से पहली बार इस पद का गठन किया गया था। के अन्बझगण और करूणानिधि का बेटा एम स्टालिन भी क्रमश: महासचिव और कोषाध्यक्ष के पद के लिए फिर से चुने गये हैं। पार्टी कोष प्रबंधन की देखरेख के लिए चार लेखा परीक्षा समिति के सदस्यों को चुना गया है।

ISIS ने फ्रांस पर किया साइबर अटैक, वेबसाइट हैक कर लगा दिए अपने झंडे

चुनाव से कुछ दिन पहले, स्टालिन ने उन खबरो का खंडन किया था जिसमें मीडिया के एक वर्ग द्वारा कहा गया था कि उन्हें महासचिव के पद पर चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी गई है और उन्होंने कोषाध्यक्ष के पद से हटने की पेशकश की है।

श्रीलंका: चुनावों में महिंदा राजपक्षे ने मानी हार, मैत्रीपाला का राष्ट्रपति बनना तय

नीचे की स्लाइड्स में जानिए, स्टालिन के इस्तीफे की रही थी चर्चा -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top