logo
Breaking

जम्मू कश्मीर में बाढ़ से राहत, वैष्णों देवी यात्रा फिर से शुरु, बचाव व राहत कार्य जारी

बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए श्रीनगर, जम्मू और दिल्ली में कंट्रोल रुम स्थापित किए गए हैं।

जम्मू कश्मीर में बाढ़ से राहत, वैष्णों देवी यात्रा फिर से शुरु, बचाव व राहत कार्य जारी

जम्मू कश्मीर. जम्मू-कश्मीर में बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कार्य जारी है। इसके लिए नौसेना के मरीन कमांडो तैनात किए गए हैं। श्रीनगर-सोपोर हाईवे पर हैगांव में करीब 200 कमांडो राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हैं। गोताखारों की और टीमें दिल्ली, मुंबई और विशाखापत्तनम से बुलाई गई हैं। जम्मू-कश्मीर में बाढ़ से फिलहाल राहत के आसार नहीं हैं। बाढ़ में 150 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। एनडीआरएफ की 5 और टीमें मौके के लिए रवाना की गई है। राहत और बचाव कार्यों पर निगरानी के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक टीम बनाई है जो संयुक्त सचिव की देखरेख में काम करेगी।

बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए श्रीनगर, जम्मू और दिल्ली में कंट्रोल रुम स्थापित किए गए हैं। झेलम में आए उफान से श्रीनगर शहर में पानी घुस गया है। कई जगहों पर लोगों के फंसे होने की खबर है। लाल चौक समेत श्रीनगर के कई इलाकों में बाढ़ का तांडव दिख रहा है। श्रीनगर में लोगों को निकालने के लिए सेना की मदद ली जा रही है। राहत और बचाव में एयरफोर्स के हेलीकॉप्टरों की भी सेवा ली जा रही है।

वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू
जम्मू में भी बाढ़ का तांडव नजर आ रहा है। हालांकि, मौसम ठीक होने पर वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू कर दी गई है। कश्मीर घाटी के लिए नाव और दवाएं जम्मू टेकनिकल एयरपोर्ट भेजी जा रही हैं। श्रीशक्ति एक्सप्रेस से वैष्णो देवी की यात्रा पर गए रास्ते में फंसे श्रद्धालुओं को बसों से जम्मू भेजा गया है। ये लोग पिछले तीन दिनों से रामनगर और ऊधमपुर में फंसे थे जो आज दिल्ली पहुंचेंगे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कहां कहां बाढ़ ने मचाई तबाही-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Share it
Top