logo
Breaking

इरोम शर्मिला फिर हुईं गिरफ्तार, अनशन तोड़ने से किया इनकार

अपनी मांग पर अड़ी इरोम ने मेडिकल जांच और अनशन तोड़ने से इनकार कर दिया।

इरोम शर्मिला फिर हुईं गिरफ्तार,  अनशन तोड़ने से किया इनकार

इंफाल. मणिपुर की ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट इरोम शर्मिला को एक बार फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्‍हें कोर्ट के आदेश के बाद दो दिन पहले ही रिहा किया गया था। इरोम पिछले 14 सालों से आर्म्ड फॉर्सेस स्पेशल पॉवर एक्ट ( AFSPA ) के खिलाफ लड़ रही हैं। इरोम ने 14 सालों से भूख हड़ताल पर हैं। बुधवार को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के आदेश पर इरोम को रिहा किया था। कोर्ट ने कोर्ट ने उनकी रिहाई पर राज्य सरकार को आदेश दिया था कि इरोम के स्वास्थ की जिम्मेदारी आपकी है अगर जरूरी हो तो उन्हें ट्यूब से खाना खिलाया जाए, लेकिन अपनी मांग पर अड़ी इरोम ने मेडिकल जांच और अनशन तोड़ने से इनकार कर दिया।

जब पुलिस ने इरोम को धरने वाले स्थान पर पहुंचकर गिरफ्तार किया, तो उनकी मां ने उनकी गिरफ्तारी का विरोध किया। रिहाई के बाद इरोम ने मेडिकल जांच कराने से मना कर दिया था।गौरतलब है कि सन 2000 से अनशन कर रही हैं। आर्म फोर्स स्पेशल पावर एक्ट-1958 को हटाने की मांग को लेकर इरोम पिछले 14 सालों से अनशन कर रही हैं। राज्य सरकार की ओर से इरोम को गत वर्षों से गिरफ्तार किया हुआ है। उन्हें जबरदस्ती दवाइयों के जरिए जिंदा रखा अभी तक जिंदा रखा गया। इरोम के नाके से दवाइयों के जरिए खाद्य पदार्थ शरीर में पहुंचाए गए। लेकिन इरोम ने अपना अनशन कभी नहीं तोड़ा।

नीचे की स्लाइड्स में जानिए, क्‍या है एएफएसपीए-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

Share it
Top