logo
Breaking

पिता ने शौचालय बनवाने से किया मना, पंचायत ने गिफ्ट में दिया

सुबह सुनिथा स्कूल गई थी लेकिन वापस आने पर उसे अपने घर एक टॉयलेट मिला।

पिता ने शौचालय बनवाने से किया मना, पंचायत ने गिफ्ट में दिया
कर्नाटक. सोलह साल की एक मासूम अपने पिता से घर में शौचालय बनवाने की जिद कर रही थी, लेकिन शराबी पिता ने उसकी यह जिद पूरी करने से मना कर दिया। तो वहीं गांव की पंचायत ने सुनीथा के लिए एक दिन में शौचालय बनवाकर गिफ्ट में दे दिया।
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुदिगेरे क्षेत्र के कुक्कोडू गांव में 16 साल की सुनिथा अपने पिता से कई दिनों से घर में शौचालय बनवाने की जिद कर रही थी। लेकिन उसके शराबी पिता ने उससे साफ़ इनकार कर दिया। अपनी पूरी कमाई शराब में उड़ा देने के कारण वह उसकी इस बात पर राजी नहीं हो रहा था।
परिस्थितियों से तंग आकर सुनिथा ने अपनी बात पंचायत में रख दी। गांव में पंचायत के एक कार्यकर्ता एम एन गुरुदत्थ की अध्यक्षता में एक टीम दौरे के लिए आई तब सुनिथा ने अपनी बात उनके सामने रखी। पंचायत के लोगों ने सुनिथा के पिता शेशे गौड़ा को मनाने की बहुत कोशिश की और स्वच्छ भारत अभियान से फण्ड जुटाने के लिए भी कहा, लेकिन उसने सारी बात अनसुनी कर दी। यह सब देखकर उसकी बेटी सुनिथा वहीं रोती रही।
गुरुदत्थ ने बताया कि. "उस समय हम लोग वहां से आ गए लेकिन फिर हमने निर्णय लिया कि हम उस बच्ची को एक टॉयलेट बना कर देंगे। इसलिए हमने आस-पड़ोस में लोगों से मदद मांगी और एक दिन में उसे टॉयलेट बनाकर दिया। सुबह सुनिथा स्कूल गई थी लेकिन वापस आने पर उसे अपने घर एक टॉयलेट मिला।
गुरुदत्थ का कहना है कि, " हमने दो राजमिस्त्रियों को बुलाया और दीवार बनवाने का काम शुरू करवा दिया। मैं उस बच्ची की खुशी आपको बता नहीं सकता। बता दें कि इस शौचालय को बनवाने में 22 हजार रुपिए के खर्च को पूरा करने के लिए गुरुदत्थ सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने भी अपने पास से पैसे दिए थे। तो वहीं स्वछ भारत अभियान के तहत सुनिथा की शिक्षा के लिए करीब 12 हजार की सब्सिडी भी दी गई है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top