logo
Breaking

कश्मीर हिंसा: 300 कश्मीरी युवा सेना में भर्ती

कश्मीर घाटी में 42वें दिन भी कर्फ्यू जारी अब तक 66 की मौत

कश्मीर हिंसा: 300 कश्मीरी युवा सेना में भर्ती
नई दिल्ली. कश्मीर घाटी में कड़े कर्फ्यू व अलगाववादियों द्वारा बंद की आह्वाहन के बीच आम जनजीवन अस्त व्यस्त होकर रह गया है।अलगाववादियों ने अपनी बंद की काल को 25 अगस्त तक बढ़ा दी है। आज घाटी में 42वें दिन भी कड़ा कफ्यू व प्रतिबंध जारी हैं।
बता दें कि अब तक हिंसा में मरने वालों की संख्या जहां एक ओर 66 हो गई है, वहीं गुरुवार को कश्मीर की आजादी के नारों को दरकिनार कर 300 स्थानीय युवा सेना में भर्ती हुए। घाटी के तमाम इलाकों में अलगाववादियों के विरोध-प्रदर्शन अभी भी जारी है। गुरुवार को कश्मीर के लाइट इन्फैन्ट्री रेजिमेंट के नए रंगरूटों ने बना सिंह परेड ग्राउंड रंगरेथ में देश की सेवा करने की शपथ ली। जम्मू-कश्मीर के युवकों को ऐसे समय में सेना में शामिल किया जा रहा है, जब घाटी में कुछ युवकों द्वारा पथराव की घटना को लेकर राज्य सुर्खियों में है। राज्यपाल एनएन वोहरा ने सेना मे भर्ती हुए 106वें बैच का स्वागत किया है।
दूसरी तरफ गुरुवार रात ओल्ड श्रीनगर इलाके में एक एंबुलेंस के ड्राइवर को गोली मार दी गई। इसके लिए भी सुरक्षाबलों पर आरोप लगाए जा रहे हैं। अलगाववादी नेताओं ने लोगों से बडगाम जिले के अरीपंथन गांव की ओर से मार्च करने का आह्वान किया है, जहां 15 अगस्त को विरोध प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाबलों की फायरिंग में 4 लोग मारे गए थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top