logo
Breaking

दिल्‍ल्‍ाी के बाद चेन्‍नई में 11 मंजिला इमारत गि‍री, 9 की मौत 26 को बचाया

मुख्यमंत्री जयललिता ने इस दुर्घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने के पुलिस को आदेश दिए हैं।

दिल्‍ल्‍ाी के बाद चेन्‍नई में 11 मंजिला इमारत गि‍री, 9 की मौत 26 को बचाया
चेन्‍नई. उपनगरीय पोरूर इलाके में एक निर्माणाधीन 11 मंजिला इमारत के गिरने की घटना में नौ लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य के मलबे के नीचे दबे होने की आशंका है। बचाव कार्य में अब तक 26 लोगों को मलबे से नि‍काला जा चुका है, घायलों को पास के अस्‍पलात में भर्ती कराया गया है। बचाव दल की चार टीमों के साथ करीब 180 वि‍शेषज्ञों का दल भी मौके पर मौजूद है। पुलि‍स अधि‍कारि‍यों का कहना है कि‍ बचाव कार्य पूरा होने के बाद हादसे के कारणों की जांच की जाएगी। जो भी इसके लि‍ए जि‍म्‍मेदार होगा उसे बख्‍शा नहीं जाएगा।
शहर के इस इलाके और कई अन्य इलाकों को आज शाम बारिश की बूंदों ने सराबोर किया। घटनास्थल पर बचाव अधिकारियों ने कहा कि चोट के साथ 26 लोगों को बचा लिया गया है और उन्हें एक नजदीकी निजी अस्पताल में रेफर किया गया है। दमकल एवं बचाव सेवा के संयुक्त निदेशक एस विजयशेखर ने इससे पहले कहा कि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इमारत के गिरने के दौरान तकरीबन 50 श्रमिक वहां मौजूद थे।
घटना पर शोक प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री जे जयललिता ने कहा कि उनके निर्देश पर एनडीआरएफ दलों को पड़ोसी अरक्कोणम से रवाना किया गया है। वहीं, अनेक एजेंसियां राहत अभियान में लगी हुई हैं। एक वक्तव्य में जयललिता ने कहा कि उन्होंने घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही शुरू करने का आदेश दिया है।
जयललिता ने कहा कि उन्होंने घायलों के लिए सर्वश्रेष्ठ मेडिकल उपचार का आदेश दिया है और पशुपालन मंत्री टी के एम चिन्नैया को घटनास्थल पर तैनात किया है। इसके अतिरिक्त वरिष्ठ अधिकारियों को हालात का जायजा लेने को कहा है। उन्होंने कहा कि पूरी रात निर्बाध बचाव अभियान सुनिश्चित करने के लिए रोशनी की विशेष व्यवस्था की गई है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, घटना पर क्‍या कहा जयललिता ने -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Share it
Top