logo
Breaking

विजयवाड़ा बनेगी तेलंगाना की राजधानी, मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने की घोषणा

विजयवाड़ा राजधानी के साथ ही राज्य में तीन मेगा सिटी और 10 स्मार्ट सिटी भी बनाए जाएंगे।

विजयवाड़ा बनेगी तेलंगाना की राजधानी, मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने की घोषणा
हैदराबाद. राज्य विभाजन के बाद आंध्र प्रदेश की नई राजधानी विजयवाड़ा बनेगी। मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने आज विधानसभा में इस आशय की घोषणा की। नायडू की इस घोषणा का वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सदस्यों ने जमकर विरोध किया। उन्होंने इसके खिलाफ नारे लगाए और धरना भी दिया। विपक्षी सदस्यों के हंगामे और धरने के कारण सदन की कार्यवाही तीसरी बार 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई। वाईएसआर कांग्रेस सदस्यों के विरोध को अनसुना करते हुए नायडू ने कहा कि विजयवाड़ा राजधानी के साथ ही राज्य में तीन मेगा सिटी और 10 स्मार्ट सिटी भी बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि रायलसीमा और उत्तरी तटीय आंध्र के पिछड़े इलाकों के विकास के लिए विशेष योजनाएं भी बनाई जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि नई राजधानी के लिए भूमि आवंटन संबंधी प्रक्रियाओं के लिए केबिनेट की एक उपसमिति गठित की गई है।
गौरतलब है कि जून में आंध्र प्रदेश का बंटवारा कर एक नया राज्य तेलंगाना बनाया गया था। व्यवस्था थी कि वर्ष 2024 तक हैदराबाद दोनों राज्यों की राजधानी बनाए रखा जा सकता है, और उसके बाद आईटी हब के रूप में मशहूर हैदराबाद नए राज्य तेलंगाना को सौंप दिया जाएगा। लगभग एक दशक पहले हैदराबाद को 'सिलिकॉन वैली' जैसा बनाने का श्रेय मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को दिया जाता है, और उन्होंने नए राज्य के गठन पर वचनबद्धता जताई थी कि वह सिंगापुर की तर्ज पर एक 'सुपर कैपिटल' का निर्माण करेंगे। कई सप्ताह तक वह संकेत देते रहे कि नई राजधानी शक्तिशाली तथा प्रभावी कम्मा समुदाय के इलाके विजयवाड़ा के निकट होगी।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, वाईएसआर कांग्रेस का विरोध जारी रहेगा-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

Share it
Top