Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चार साल बाद बदला योगेश्वर दत्त का ओलंपिक मेडल का रंग

लंदन ओलंपिक में 60 किग्रा फ्रीस्‍टाइल स्‍पर्द्धा में रूस के बेसिक कुदुखोव ने सिल्‍वर मेडल जीता था।

चार साल बाद बदला योगेश्वर दत्त का ओलंपिक मेडल का रंग
नई दिल्ली. 2012 के लंदन ओलंपिक में कांस्‍य पदक जीतने वाले पहलवान योगेश्‍वर दत्‍त को रियो ओलिंपिक से भले ही खाली हाथ लौटना पड़ा हो, लेकिन अब उनको एक सांत्‍वना पुरस्‍कार मिलने जा रहा है। वह अब अपग्रेड होकर सिल्‍वर का होने जा रहा है। ऐसा इसलिए होने जा रहा है क्‍योंकि जिस रूसी पहलवान ने उस दौरान सिल्‍वर मेडल हासिल किया था, उसका डोप टेस्‍ट पॉजिटिव निकला है। यानी वह डोपिंग की परीक्षा में फेल हो गया।
लंदन ओलंपिक में 60 किग्रा फ्रीस्‍टाइल स्‍पर्द्धा में रूस के बेसिक कुदुखोव ने सिल्‍वर मेडल जीता था और योगेश्‍वर को कांस्‍य मिला था, लेकिन अब बेसिक का डोप टेस्‍ट पॉजिटिव पाए जाने के कारण वह तमगा कांस्‍य पदक विजेता रहे योगेश्‍वर को दिया जाएगा। कुदुखोव की 27 साल की उम्र में 2013 में रूस में कार दुर्घटना में मौत हो चुकी है, लेकिन इस महीने रियो ओलिंपिक से पहले अंतरराष्‍ट्रीय ओलंपिक समिति (आइओसी) ने लंदन ओलंपिक के दौरान एकत्र किए सैंपलों का फिर से परीक्षण किया था।
दरअसल यह एक स्‍टैंडर्ड अभ्‍यास के तहत किया जाता है और ऐसे सैंपलों को 10 साल तक संरक्षित रखा जाता है। इसका मकसद एडंवास टेस्‍ट परीक्षणों के द्वारा ऐसे सैंपलों का परीक्षण करना होता है ताकि कोई गलत तरीके से यदि सफल हुआ है तो उस गलती को सुधारा जा सके। उसी के तहत कुदुखोव के सैंपल का अब फिर से परीक्षण हुआ और उनका डोप पॉजिटिव पाए जाने के कारण उनका सिल्‍वर, अब योगेश्‍वर दत्‍त को मिलेगा।
इसके साथ ही ओलंपिक में सिल्‍वर मेडल हासिल करने वाले दूसरे भारतीय पहलवान हो जाएंगे। इसी श्रेणी के 66 किग्रा भार वर्ग में सिल्‍वर मेडल हासिल करने वाले दूसरे पहलवान सुशील कुमार हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top