Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कभी मनजोत पर लगा था ये बड़ा आरोप, आज भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में मैन ऑफ द मैच रहे मनजोत कालरा ने इस मैच में नाबाद 101 रनों की शानदार पारी खेली।

कभी मनजोत पर लगा था ये बड़ा आरोप, आज भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन
X

दिल्ली के क्रिकेट में एक कहावत है कि आप तभी सफल हो सकते है जब व्यवस्था आपके खिलाफ होती है और अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में मैन ऑफ द मैच रहे मनजोत कालरा इसके सटीक उदाहरण है। दिग्गज वीरेन्द्र सहवाग से विराट कोहली तक सब की दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) से जूनियर या सीनियर स्तर पर कोई ना कोई शिकायत जरूर रही है।

कोहली ने यहां तक कहा था कि वह उस वक्त काफी निराश हुए थे जब रनों का अंबार लगने के बाद भी दिल्ली अंडर-15 टीम में उनका चयन नहीं हुआ था। सहवाग और गौतम गंभीर को भी डीडीसीए प्रशासन से परेशानी हुई है। पंजाब के बाएं हाथ के बल्लेबाज मनजोत कालरा ने फाइनल मैच में नाबाद 101 रनों की शानदार पारी खेली। कालरा ने इस विश्व कप के 6 मैचों की पांच पारियों में 252 रन बनाए।

इसे भी पढ़े: IND vs SA: अफ्रीका में ऐसा कारनामा करने वाले पहले भारतीय बने युजवेंद्र चहल

मनजोत कालरा पर लगा था ये आरोप

कालरा पर उम्र संबंधी धोखाधड़ी का आरोप लगा। कुछ अभिभावकों ने डीडीसीए प्रशासक सेवानिवृत न्यायाधीश विक्रमजीत सेन से मनजोत के खिलाफ शिकायत की। डीडीसीए के एक धड़े ने कई जूनियर क्रिकेटरों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया जिसमें मनजोत का भी नाम था। हालांकि इससे पहले बीसीसीआई ने उनका आयु-सत्यापन परीक्षण करा लिया था जिसमें वह सफल रहे।

दिल्ली अंडर-19 टीम में चयन के लिए उनसे फिर से चिकित्सा रिपोर्ट देने के लिए कहा गया जबकि वह भारत के अंडर-19 विश्व कप टीम के संभावितों में शामिल थे। इसके बाद दिल्ली के चयनकर्ताओं ने रणजी सत्र के लिए टीम में उनका चयन यह कहते हुए नहीं किया कि अंडर-19 टीम को उनकी ज्यादा जरूरत हैं। यह ऐसा समय था जब अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ चाहते थे कि ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ी रणजी मैच खेले।

मनजोत के चचरे भाई चेतन कालरा ने बताया कि झूठी पुलिस शिकायतें दायर होने के कारण हमारे लिए मुश्किल समय था। लेकिन सच्चाई की जीत हुई क्योंकि हमे मनजोत के बारे में पता था। उसके पिता और भाई हितेश ने बहुत त्याग किया है और उसकी सफलता के पिछे उनका हाथ है। साथ ही मनजोत के कोच संजय भारद्वाज ने उसकी तारीफ करते हुए कहा- वह मेरे पास छह साल पहले भरत नगर क्रिकेट अकादमी में आया था। उसमें कौशल के साथ हाथ और आंख का शानदार समन्वय था। आयु-वर्ग क्रिकेट में उसने काफी रन बनाये है और उसके प्रदर्शन से मैं आश्चर्यचकित नहीं हूं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story