Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

श्रीलंकाई टीम 2 घंटे तक मैदान पर नहीं उतरी, श्रीलंका को मिली सजा, जानिए पूरा मामला

शनिवार को श्रीलंका और वेस्टइंडीज के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन एक अजब वाकया देखने को मिला जब श्रीलंकाई खिलाड़ी मैदान पर उतरने से ही मना कर दिया।

श्रीलंकाई टीम 2 घंटे तक मैदान पर नहीं उतरी, श्रीलंका को मिली सजा, जानिए पूरा मामला

शनिवार को श्रीलंका और वेस्टइंडीज के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन एक अजब वाकया देखने को मिला जब अंपायरों की गेंद बदलने की मांग से नाराज श्रीलंकाई खिलाड़ी मैदान पर उतरने से ही मना कर दिया।

दरअसल तीसरे दिन का खेल शुरू होने से पहले अंपायर अलीम डार और इयान गोल्ड गेंद की स्थिति से संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने गेंद बदलने के आदेश दिए थे। अंपायरों को दूसरे दिन जिस गेंद का उपयोग किया गया था उससे बॉल टेंपरिंग की आशंका लग रही थी, इसलिए उन्होंने तीसरे दिन दूसरी गेंद से मैच कराने का निर्देश दिया था।

ये वाकया तब हुआ जब वेस्टइंडीज के 253 रन के जवाब में श्रीलंका ने पहली पारी में दो विकेट के नुकसान पर 118 रन बना लिए थे। इसके बाद श्रीलंका की टीम ने अंपायरों के फैसले का विरोध करते हुए मैदान पर उतरने से मना कर दिया।

अंपायरों, मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ और श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांडीमल के बीच लम्बी बातचीत बाद करीब 2 घंटे की देरी से मैच शुरू हुआ। मैदान पर नहीं उतरने की वजह से श्रीलंका को पांच रनों की पेनाल्टी का जुर्माना लगाया गया और वेस्टइंडीज के स्कोर में पांच रन जुड़ गए।

बता दें कि रविवार को आईसीसी ने कहा कि श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांडीमल पर वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में बॉल टेम्परिंग करने का आरोप है। दिनेश चांडीमल को आईसीसी आचार संहिता के लेवल 2.2.9 के उल्लंघन करने का दोषी पाया गया है।

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में इससे पहले एक बार पाकिस्तान ने 2006 में मैदान पर उतरने से मना कर दिया था जिसके बाद मैच आगे नहीं खेला गया था। इस मैच में अंपायर बिली डाक्ट्रोव और डेरेल हेयर ने पाकिस्तान पर गेंद से छेड़छाड़ के लिए पांच पेनल्टी रन का जुर्माना लगाया था। अंपायर के फैसले से नाराज चौथे दिन चाय के विश्राम के बाद पाकिस्तानी टीम मैदान पर नहीं उतरी और अंपायरों ने इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया।

Share it
Top