Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सानिया मिर्जा ने शारापोवा और विश्व टेनिस के बारे में दिया ये बड़ा बयान

यूएस ओपन 2017 के पहले दिन सबसे अहम मुकाबला शारापोवा-हालेप के बीच था।

सानिया मिर्जा ने शारापोवा और विश्व टेनिस के बारे में दिया ये बड़ा बयान
X

यूएस ओपन 2017 के पहले दिन सबसे अहम मुकाबला शारापोवा-हालेप के बीच था। यह और ज्यादा रोमांचक इसलिए भी हो गया क्योंकि ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में लंबे समय बाद वापसी करने वाली खिलाड़ी ने इसमें तीन सेटों में ही जीत दर्ज कर ली।

मारिया को देख ऐसा लगा जैसे उन्हें बस जीत चाहिए थी। हालेप के लिएयह दुर्भाग्यपूर्ण था कि उन्हें वर्ष के अंतिम ग्रैंड स्लैम के अपने पहले ही मैच में डरावने सपने जैसा इतना कठिन ड्रॉ मिला।

इसे भी पढ़े:- जन्मदिन विशेष: जब ध्यानचंद की हॉकी स्टिक तुड़वा कर देखी गई थी उसमें कहीं चुम्बक तो नहीं

दोनों खिलाड़ियों को अपनी सर्विस कायम रखने में परेशानी का सामना करना पड़ा। ऐसा न केवल उनकी रिटर्न करने की उत्कृष्ट क्षमता के कारण हुआ, बल्कि आर्थर ऐश "सेंटर कोर्ट" की धीमी गति के कारण भी।

मैंने अभी तक जो देखा है उसके अनुसार विभिन्न 'कोर्ट' की ख़ासियतें अलग-अलग होती हैं। जैसे 'सेंटर कोर्ट' धीमा है तो नडाल के खेल के अनुरूप है, लेकिन अन्य कोर्ट बहुत तेज होते हैं जो बड़े हिटर्स के लिए आदर्श हो सकते हैं।

लंबे समय बाद ग्रैंड स्लैम में अपनी पहली जीत दर्ज करते हुए शारापोवा बेहद भावुक थीं। उनकी जीत एक मुश्किल प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ आई और देखना दिलचस्प होगा कि क्या मारिया प्रदर्शन में इस निरंतरता को कायम रखते हुए ड्रॉ में और आगे बढ़ पाएंगी।

ब्रिटेन की जोहान कोंटा को पहले राउंड में ही क्रुनिक के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस नतीजे से मेरा यह विश्वास मजबूत हुआ है कि टेनिस मैचों का अनुमान लगाना लगभग असंभव है।

ऐसे में जबकि सेरेना विलियम्स इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रही हैं तो तो कई खिलाड़ियों के पास खिताब जीतने का सुनहरा मौका है। इन हालात में तीसरी वरीयता प्राप्त गारबाइन मुगुरुजा फिर से खुद को एक मजबूत दावेदार मान सकती हैं।

उन्होंने पहले दिन लेपेचन्को के खिलाफ जोरदार शुरुआत कर इसकी बानगी दे भी दी है। पूर्व विश्व नंबर एक कैरोलिन वोज़्नियाकी ने सीधे सेटों में जीत से शुरुआत की और अब उनके समने मजबूत मकारोवा के रूप में कठिन चुनौती है।

एक अन्य मुकाबले में एक और पूर्व नंबर वन जेलेना जानकोविच को पेट्रा क्विटोवा के हाथों पहले ही दौर में हार मिली। डबल्स में मेरी जोड़ीदार चीन की शुआई पेंग ने सिंगल्स में जीत से शुरुआत की। इससे मुझे भरोसा मिला है कि वे घुटने की चोट से उबर गईं हैं।

जहां तक पुरुष ड्रॉ की बात है तो यह निराशाजनक है कि रोजर फेडरर और नदाल की भिड़ंत फाइनल की जगह सेमीफाइनल में होने की उम्मीद है। ऐसे में जबकि जोकोविच और मरे टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रहे हैं, फेडरर और नदाल के पास एक और बेहतरीन और जबरदस्त भिड़ंत से टेनिस जगत को अभिभूत करने का मौका है।

दिग्गज पुरुष खिलाड़ियों के बीच अपनी पहचान बना चुके 6 फुट 6 इंच के जर्मनी के 20 वर्षीय अलेक्जेंडर ज्वेरेव के पास अब ग्रैंडस्लैम में खुद को स्थापित करने का मौका है। यदि वे ऐसा कर पाते हैं तो आने वाले दिनों में हमें कुछ बेहद रोमांचक क्षण देखने को मिल सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story