Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय वायुसेना के 86वें स्थापना दिवस पर सेना की वर्दी में नजर आए सचिन तेंदुलकर, जानें और किन खिलाड़ियों को मिला है ये सम्मान

दुनिया की चौथी सबसे मजबूत वायुसेना भारतीय वायुसेना आज अपना स्थापना दिवस मना रही है। गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर आईएएफ 86वां स्थापना दिवस मनाएगी। इस दौरान महान बल्लेबाज और ग्रुप कैप्टन सचिन तेंदुलकर भी नजर आए।

भारतीय वायुसेना के 86वें स्थापना दिवस पर सेना की वर्दी में नजर आए सचिन तेंदुलकर, जानें और किन खिलाड़ियों को मिला है ये सम्मान
X

दुनिया की चौथी सबसे मजबूत वायुसेना भारतीय वायुसेना आज अपना स्थापना दिवस मना रही है। गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर आईएएफ 86वां स्थापना दिवस मनाएगी। इस दौरान महान बल्लेबाज और ग्रुप कैप्टन सचिन तेंदुलकर भी नजर आए। आगे जानेंगे सचिन तेंदुलकर के अलावा और किन खिलाड़ियों को सेना ने यह सम्मान दिया है।

इसे भी पढ़ें: भारत छठी बार बना U-19 एशिया कप चैंपियन, फाइनल में श्रीलंका को रौंदा

सचिन तेंदुलकर: सचिन तेंदुलकर ने अपने 24 साल के क्रिकेट करियर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं। उन्होंने विश्वकप जीता है, शतकों का शतक बनाया और दशकों तक गेंदबाजों के लिए एक डरावने सपने की तरह रहे। 3 सितंबर 2010 को आईएएफ एयर चीफ मार्शल पी.वी. नायक ने दिल्ली में सचिन को भारतीय वायुसेना में मानद ग्रुप कैप्टन की उपाधि से सम्मानित किया।

सचिन यह सम्मान हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी हैं। वायुसेना के इस सम्मान का सचिन बहुत सम्मान करते हैं और वे वायुसेना के सबसे बड़े आयोजन में शामिल होते हैं, वह भी वायुसेना की अपने यूनिफॉर्म में।

एमएस धोनी: क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज़ एमएस धोनी ने कई यादगार उपलब्धियां अपने नाम की हैं। उन्होंने भारत को टी20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और कई ऐसे बड़े खिताब जितवाया है। बचपन में धोनी आर्मी ऑफिसर बनने का सपना देखा करते थे।

बचपन में आर्मी ऑफिसर बनने का सपना देखा करते थे. क्रिकेट में अपने अद्भुत योगदान के कारण धोनी ने वर्ष 2015 में अपना यह सपना पूरा किया। जब खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए पैराशूट रेजिमेंट में उन्हें लेफ्टिनेंट कर्नल का मानद रैंक प्रदान किया गया था।

साइना नेहवाल: 25 सितंबर 2012 को किरण एमके-11 ट्रेनर जेट उड़ान भरने पर भारतीय स्टार शटलर साइना नेहवाल ने एक अलग ऊंचाई हासिल की। हैदराबाद के बाहरी इलाके में 22 मिनट उन्होंने ग्रुप कैप्टन नागेश कपूर के साथ विमान का सह-संचालन किया।

कपिल देव: क्रिकेट जगत के महान ऑलराउंडर कपिल देव ने 1983 में अपनी कप्तानी में भारत को पहला विश्वकप दिलाया। खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए कपिल को मानद लेफ्टिनेंट कर्नल के रूप में क्षेत्रीय सेना (टीए) में कमीशन दिया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story