Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राज्यसभा में नहीं, सोशल मीडिया पर बोले सचिन, भारत में खेल को बढ़ावा देने के लिए कही ये बड़ी बात, देखें विडियो

सचिन तेंडुलकर गुरुवार को राज्यसभा में पहली बार भाषण देने उठे थे लेकिन सदन में हंगामे के चलते बोल नहीं पाए।

राज्यसभा में नहीं, सोशल मीडिया पर बोले सचिन, भारत में खेल को बढ़ावा देने के लिए कही ये बड़ी बात, देखें विडियो

सचिन तेंडुलकर गुरुवार को राज्यसभा में पहली बार भाषण देने उठे थे लेकिन सदन में हंगामे के चलते बोल नहीं पाए। सचिन ने शुक्रवार को सोशल मीडिया के सहारे अपनी बात कही।

संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा के मनोनीत सांसद सचिन ने अपने फेसबुक अकाउंट और यूट्यूब पर अपनी स्पीच अपलोड कर देश को अपना विजन बताने की कोशिश की है।

यह भी पढ़ें- रोहित शर्मा बने रिकार्ड शर्मा, सबसे तेज टी-20 शतक के साथ ये रिकार्ड्स भी किए अपने नाम

सचिन की यह स्पीच करीब 15 मिनट लंबी है। इस वीडियो में सचिन ने स्वस्थ भारत का अपना विजन शेयर किया है। इस महान बल्लेबाज ने बताया कि भारत को स्पोर्ट्सिंग नेशन बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि भारत सिर्फ खेल को पसंद करने वाला देश नहीं बल्कि खेल खेलने वाला देश बनाना चाहते हैं।

यहां देखें विडियो

मैं अक्सर सोचता हूं कहां से की शुरूआत

वीडियो की शुरुआत करते हुए सचिन कहते हैं, मैं अक्सर सोचता हूं मुझे क्या चीज यहां लाई। फिर मैं पाता हूं कि क्रिकेट के मेरे बेबी स्टेप मेरे यहां होने का कारण हैं और इस खेल ने मुझे मेरे जीवन के सबसे यादगार पल दिए हैं। मैं हमेशा खेल खेलना पसंद करता हूं और क्रिकेट मेरा जीवन है।

हेल्दी और फिट इंडिया का दिया संदेश

उन्होंने कहा, आर्थिक विकास, गरीबी, खाद्य सुरक्षा और स्वास्थ्य। एक खिलाड़ी होने के नाते मैं खेल, स्वास्थ्य और फिटनेस पर बात करूंगा जो हमारी इकॉनमी पर भी असर डालते हैं। मेरा विजन हेल्दी और फिट इंडिया। जब स्वस्थ युवा, तब देश में कुछ हुआ।

पिता ने दी खेलने की आजादी

तेंडुलकर अपने पिता का जिक्र करते हुए कहते हैं, मेरे पिता प्रो. रमेश तेंडुलकर एक कवि थे और एक लेखक भी थे। उन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया और जिंदगी में जो मैंने करना चाहा, उसमें मुझे प्रोत्साहित किया।

जो सबसे खास तोहफा उन्होंने मुझे दिया, वह था 'खेलने की आजादी और खेलने का अधिकार। मैं हमेशा उनका आभारी रहूंगा।

Share it
Top