Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Paralympics Tokyo 2020: टोक्यो पैरालिंपिक में अवनि लेखरा ने रचा इतिहास, गोल्ड के बाद ब्रॉन्ज मेडल पर किया कब्जा

Paralympics Tokyo 2020: पैरा-शूटर अवनि लेखरा (Avani Lekhara) ने तोक्यो पैरालिंपिक के इतिहास में अपना नाम दर्ज कर लिया है। क्योंकि 10 मीटर राफाइनल में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने के बाद महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 में 445.9 पॉइंट्स के साथ ब्रॉन्ज मेडल (Bronze Medal) भी अपने नाम कर लिया है। इस तरह एक ही पैरालिंपिक में अवनि ने दूसरा मेडल जीता है।

Paralympics Tokyo 2020: तोक्यो पैरालिंपिक में अवनि लेखरा ने रचा इतिहास, गोल्ड के बाद ब्रॉन्ज मेडल पर किया कब्जा
X

 तोक्यो पैरालिंपिक में अवनि लेखरा ने रचा इतिहास

Paralympics Tokyo 2020 टोक्यो पैरालिंपिक से आज देश के लिए दूसरी खुशी की खबर सामने आई है। अब पैरा-शूटर अवनि लेखरा (Avani Lekhara) ने टोक्यो पैरालिंपिक के इतिहास में अपना नाम दर्ज कर लिया है। क्योंकि 10 मीटर राफाइनल में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने के बाद महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 में 445.9 पॉइंट्स के साथ ब्रॉन्ज मेडल (Bronze Medal) भी अपने नाम कर लिया है। इस तरह एक ही पैरालिंपिक में अवनि ने दूसरा मेडल जीता है। इसी के साथ भारत का यह 12वां मेडल है। इस जीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी के बाद कई अन्य नेताओं ने अवनि को बधाई दी है। आपको बता दें कि अवनि की रीढ़ की हड्डी में 2012 में हुई एक कार दुर्घटना में चोट लगी थी। इस मेडल के साथ भारत ने सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हुए 12 मेडल अभी तक अपने नाम किए है। जिसमे 2 गोल्ड, 6 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल है।

पैरा शूटर अवनि लेखरा ने आज टोक्यो पैरालिंपिक की 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन एसएच1 प्रतियोगिता में ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया जिससे वह दो पैरालंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गयीं। अवनि इससे पहले 10 मीटर एयर राइफल स्टैडिंग एसएच1 प्रतियोगिता में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं। लेखरा ने 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन एसएच1 प्रतियोगिता में 1176 के स्कोर से दूसरे स्थान पर रहकर फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था।

फाइनल काफी चुनौतीपूर्ण रहा जिसमें लेखरा ने कुल 445.9 अंक का स्कोर बनाया और वह यूक्रेन की इरिना श्चेटनिक से आगे रहकर पदक हासिल करने में सफल रहीं। वहीं यूक्रेन की निशानेबाज एलिमिनेशन में खराब शॉट से पदक से चूक गयीं और मेडल भारत की झोली में आ गिरा। उधर, अंदेशा लगाया जा रहा है कि आज भारत को कुछ और मेडल भी मिल सकते है क्योंकि भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत और उनकी जोड़ीदार पलक कोहली ने शुक्रवार को यहां टोक्यो पैरालिंपिक की बैडमिंटन मिश्रित युगल स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिये क्वालीफाई किया जबकि तीन एकल खिलाड़ी सुहास यथिराज, तरूण ढिल्लों और मनोज सरकार ने भी अंतिम चार में जगह बनायी।

भारत के लिए गौरव का एक और क्षण: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने टोक्यो पैरालिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर भारतीय निशानेबाज अवनि लेखरा को बधाई दी और कहा कि उनके शानदार प्रदर्शन से उन्हें बहुत खुशी हुई। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि टोक्यो पैरालिंपिक में भारत के लिए गौरव का एक और क्षण। अवनि लेखरा के शानदार प्रदर्शन से बेहद उत्साहित हूं। देश के लिए कांस्य पदक जीतने पर उन्हें बधाईयां। भविष्य के लिए उन्हें ढेर सारी शुभकामनाएं। 19 वर्षीय अवनि ने इससे पहले इतिहास रचते हुए आर2 महिला 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 में गोल्ड मेडल जीता था। उन्होंने भारत को पैरालंपिक में शूटिंग में का पहला पदक दिलाया था।

Next Story