Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sania Mirza ने कहा- विंबलडन खेलने के सपने पर लोग हंसते थे!

Sania Mirza : सानिया मिर्जा ने कहा लोगों के बारे में सोचना आपके सपनों को तोड़ सकता है। सानिया मिर्जा ने कहा कि मेरे माता पिता ने कभी लोग क्या कहेंगे इसकी परवाह नहीं की और हमेशा मेरा साथ दिया, इसलिए मै खुद को भाग्यशाली मानती हूं।

Sania Mirza ने कहा- विंबलडन खेलने के सपने पर लोग हंसते थे!
X
Sania Mirza

Sania Mirza : सानिया मिर्जा आज दुनिया भर में अपने खेल के कारण प्रसिद्ध है, टेनिस में सानिया मिर्ज़ा (Tennis Player Sania Mirza) भारत की सबसे सफल खिलाड़ी है। लेकिन एक महिला होकर उनका इस खेल में आना और इन उपलब्धियों को छूना बिलकुल भी आसान नहीं रहा है, सानिया मिर्जा ने कहा कि अगर उनके माता पिता (Sania Mirza Parents) सपोर्ट नहीं करते तो शायद वो इतना बड़ा मुकाम कभी नहीं छू पाती।

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) और अखिल भारतीय टेनिस संघ ने वेबिनार का आयोजन किया, इसमें विश्व प्रसिद्ध टेनिस प्लेयर सानिया मिर्जा (Sania Mirza Popularity) ने अपनी जिंदगी और खेल से जुड़े अहम् पहलुओं पर चर्चा की।

सानिया मिर्जा ने कहा लोग पूछते थे बच्चे कब पैदा करोगी

सानिया मिर्जा ने इस वेबिनार में कहा कि एक महिला के लिए खेलों में आना थोड़ा मुश्किल होता है, सानिया मिर्जा ने बताया कि लोग मुझसे भी पूछते थे कि बच्चे कब पैदा करोगी। लोग कहते थे कि जब तक बच्चे नहीं होंगे तब तक लाइफ कम्पलीट नहीं होगी। सानिया ने कहा कि ये हमारी संस्कृति से जुड़े मुद्दों के कारण भी होता है, जिसे बदलने में समय लगेगा।

माता पिता का अहम योगदान

सानिया मिर्जा ने वेबिनार में अपने शुरूआती दिनों के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने बहुत मुश्किलों का सामना किया है, लेकिन उनके माता माता ने हमेशा उनका साथ निभाया। सानिया ने कहा कि मेरा टेनिस खिलाड़ी बनने का सपना देखना चलन के उलट था। सानिया मिर्जा ने कहा कि उस समय जब मैंने खेलना शुरू किया था तब लड़की बोले कि उसे विंबलडन खेलना है, तो लोग हंसते थे।

Also Read- भारतीय बच्चे का गोल देखकर Lionel Messi भी रह जाएंगे हैरान- देखें वीडियो

उन्होंने कहा कि लोगों के बारे में सोचना आपके सपनों को तोड़ सकता है। सानिया मिर्जा ने कहा कि मेरे माता पिता ने कभी लोग क्या कहेंगे इसकी परवाह नहीं की और हमेशा मेरा साथ दिया, इसलिए मै खुद को भाग्यशाली मानती हूं।


Next Story