Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ओलपिंक में मेडल जीतने वाली साक्षी मलिक ने मांगी माफी, जानें पहलवान के माफी मांगने की वजह

World Wrestling Championships 2019: ओलंपिक में कांस्य पदक (Bronze Medal) जीतने वाली भारतीय महिला पहलवान (Indian Wrestler) साक्षी मलिक (Sakshi Malik) ने माफी मांग ली है। जिसके बाद उनके ऊपर से बहुत बड़ा खतरा टल गया है।

ओलपिंक में मेडल जीतने वाली साक्षी मलिक ने मांगी माफी, जानें पहलवान के माफी मांगने की वजह
X

World Wrestling Championships ओलंपिक में कांस्य पदक (Bronze Medal) जीतने वाली भारतीय महिला पहलवान (Indian Wrestler) साक्षी मलिक (Sakshi Malik) के ऊपर से वर्ल्ड चैंपियनशिप में नहीं खेलने का बहुत बड़ा खतरा टल गया है। नेशनल कैंप से बिना बताए गायब होने के कारण साक्षी मलिक, किरण गोदारा और सीमा पर वर्ल्ड चैंपियनशिप में नहीं खेलने का खतरा मंडरा रहा था।

भारतीय कुश्ती संघ (Wrestling Federation of India) ने नेशनल कैंप से निष्कासित करने के साथ ही इन तीनों को वर्ल्ड चैंपियनशिप में नहीं खेलने को लेकर नोटिस जारी किया था। जिसका जवाब देते हुए तीनों महिला पहलवानों ने संघ से रक्षाबंधन के कारण गायब होने की बात कही है और इसके लिए किसी से अनुमति नहीं लेने पर तीनों ने माफी मांग ली है। साक्षी मलिक, किरण गोदारा और सीमा द्वारा माफी मांगे जाने के बाद कुश्ती संघ ने तीनों को वर्ल्ड चैंपियनशिप में खेलने के लिए हरी झंडी दे दी है।


बता दें कि लखनऊ में 16 जुलाई को सीनियर महिला पहलवानों का नेशनल कैंप हुआ था, जिसमें 36 महिला पहलवानों जो शामिल किया गया था। यह कैंप 24 अगस्त तक चला और इस बीच 28 जुलाई को वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए छह भार वर्ग के ट्रायल करा दिए गए थे। यह ट्रायल होने के बाद अधिकतर महिला पहलवान कैंप से बिना बताए गायब हो गई थी और विदेश में खेलने गई महिला पहलवान भी वापस लौटने के बाद भी कैंप नहीं पहुंची थी। इस कारण कुश्ती संघ ने 16 अगस्त को 23 पहलवानों को निष्कासित कर दिया था।


बता दें कि पहलवानों के लिए ओलपिंक खेलने के लिए वर्ल्ड चैंपियनशिप में भाग लेना बहुत जरुरी है। दरअसल वर्ल्ड चैंपियनशिप से ही उन्हें ओलपिंक कोटा मिलेगा। कजाकिस्तान में 14 सितंबर से वर्ल्ड चैंपियनशिप की शुरुआत हो रही है। 24 जुलाई से समर ओलपिंक 2020 की शुरुआत हो रही है।

बतातें चलें कि भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 2016 के समर ओलंपिक में 58 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता था और ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनी थी। साथ ही वह देश की चौथी महिला ओलंपिक पदक विजेता बनी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story