Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पद्मा श्री से सम्मानित होने वाले पहले खिलाड़ी थे Balbir Singh, भारतीय टीम को दिलाया था पहला वर्ल्ड कप

Balbir Singh Died : तीन बार के गोल्ड मेडलिस्ट हॉकी प्लेयर बलबीर सिंह जी का आज सुबह निधन हो गया, उनके निधन पर क्रिकेटर्स समेत हर खेल से जुड़े शख्स ने श्रद्धांजलि दी। सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, रवि शास्त्री, सानिया मिर्जा, पीटी उषा समेत हर खिलाड़ी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।

पद्मा श्री से सम्मानित होने वाले पहले खिलाड़ी थे Balbir Singh, भारतीय टीम को दिलाया था पहला वर्ल्ड कप
X

हॉकी जगत के मशहूर प्लेयर और भारतीय हॉकी टीम (Indian Hockey Team) के लिए कई वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले लीजेंड बलबीर सिंह (Balbir Singh Death) का सोमवार सुबह निधन हो गया। पिछले 15 दिनों से बीमार चल रहे हॉकी प्लेयर बलबीर सिंह ने चंडीगढ़ स्थिति हॉस्पिटल में अपनी अंतिम सांस ली। बलबीर सिंह जी के निधन से पूरा देश दुखी है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्वीट कर लिखा- पद्मश्री बलबीर सिंह जी को उनके योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा, मै उनके निधन से दुखी हूं, मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और उनके चाहने वालों के साथ है।

भारत के राष्ट्रपति (President Of India) ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया, और उन्हें श्रंद्धाजलि अर्पित की। हॉकी ही नहीं बलबीर सिंह अपनी ग्रेट अचीवमेंट को लेकर पूरे देश में मशहूर थे, उनके निधन पर क्रिकेटर्स समेत हर खेल से जुड़े शख्स ने श्रद्धांजलि दी। सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), विराट कोहली (Virat Kohli), रवि शास्त्री (Ravi Shastri), सानिया मिर्जा (Sania Mirza), पीटी उषा (PT Usha) समेत हर खिलाड़ी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।

पद्म श्री से सम्मानित होने वाले पहले खिलाड़ी

बलबीर सिंह के नाम कई वर्ल्ड रिकॉर्ड (Balbir Singh World Record) है, उनमे से एक है उन्होंने 1952 के ओलिंपिक (1952 Olympic Games) गेम में 5 गोल दागे थे, जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। बलबीर सिंह ने 3 बार ओलिंपिक में स्वर्ण पदक जीते हैं। आपको बता दें कि बलबीर सिंह जी पद्मा श्री अवार्ड (Padma Shri Award) से सम्मानित होने वाले पहले खिलाड़ी थे। उन्हें उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए 1957 में पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया था।

बतौर कोच भारत को दिलाया था स्वर्ण

भारतीय हॉकी टीम (Indian Hockey Team) ने अपना एकमात्र हॉकी वर्ल्ड कप 1975 में जीता था, इस टीम की जीत में बतौर कोच बलबीर सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। बलबीर सिंह जी को मेजर ध्यानचंद लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाजा गया था। आज हमने भारत के एक शानदार खिलाड़ी को खो दिया, भारत में जब भी हॉकी की बात होगी तो उनका नाम अवश्य ही लिया जाएगा।

Next Story