Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बुरी खबरः कोरोना वायरस के चलते भारत में होने वाला वर्ल्ड कप अनिश्चितकाल के लिए टला

Fifa Women's Under 17 World Cup 2020 : अभी भारत के साथ अधिकतर देशों में कोरोना वायरस का खतरा है, जिसके मद्देनजर ही फीफा अंडर17 महिला विश्वकप को स्थगित किया गया है।

भारत में होने वाला वर्ल्ड कप भी कोरोना वायरस की वजह से अनिश्चितकाल के लिए टला
X

Fifa Women's Under 17 World Cup 2020 : नवम्बर में होने वाले U17 वीमेन फीफा वर्ल्ड कप को अभी 6 महीने हैं, लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus In India) की वजह से इसको अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है। स्थगित का फैसला फीफा कॉन्फेडरेशन ग्रुप ने लिया है, जिसे कोरोना वायरस के फैसलों संबंधित बनाया गया है। फीफा अंडर 17 वीमेन वर्ल्ड कप में भारत समेत 16 बड़े देशों की महिला टीमों (Fifa Women's Under 17 World Cup 2020 Teams) को हिस्सा लेना है, जिन्हे वर्ल्ड कप से पहले क्वालीफाइंग मैच भी खेलना है। भारत के आलावा इसमें जापान और नार्थ कोरिया टीम को डायरेक्ट जगह मिली है। वर्ल्ड कप का आयोजन इसी वर्ष 2 नवंबर से लेकर 21 नवंबर तक होना था।

अभी भारत के साथ अधिकतर देशों में कोरोना वायरस का खतरा है, जिसके मद्देनजर ही फीफा अंडर17 महिला विश्वकप को स्थगित किया गया है। कोरोना वायरस (Coronavirus) इस समय भारत के साथ पूरी दुनिया में चिंता का विषय बना हुआ है। भारत में कोरोना वायरस के अब तक 2500 से अधिक संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं।

इंडियन फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल पटेल ने वर्ल्डकप स्थगित का किया समर्थन

आल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (All India Football Federation) के अध्यक्ष और फीफा के कॉउंसिल मेंबर प्रफुल पटेल ने इस फैसले का समर्थन करते हुए कहा कि हमारी प्राथमिकता खिलाडियों और लोगों की सुरक्षा है, वर्ल्ड कप स्थगित करने का फैसला सभी (टीम, विजिटर्स, स्टाफ, होस्टिंग सिटीज) के लिए अच्छा है।

यूरोप में बड़ी संख्या में फैला है संक्रमण

चीन के वुहान से निकला कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया में फैल चुका है। अब कोरोना वायरस ने यूरोप में चीन से भी अधिक त्रासदी मचाई है। सिर्फ इटली में ही इस वायरस ने 14 हजार से अधिक लोगों की जिंदगी छीनी है। स्पेन में भी कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 10 हजार से पार पहुंच गया है। अमेरिका जैसा बड़ा देश भी कोरोना वायरस से लड़ने में विफल साबित हो रहा है। हम जानते हैं कि यूरोप और अमेरिका के बिना फुटबॉल वर्ल्ड कप के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता है, और हमने आपको पहले ही बताया था कि बहुत मुश्किल है ऐसे हालत में ये देश अपनी टीमों को वर्ल्ड कप में खेलने के लिए भेजें।

Next Story