Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टोक्यो ओलंपिक में मारिन के नहीं होने से भी कड़ा होगा मुकाबला- पीवी सिंधु

स्पेनिस बैटमिंटन खिलाड़ी कैरोलिना मारिन (Carolina Marins) घुटने की चोट के कारण टोक्यो ओलंपिक में नहीं खेल पाएंगी। वहीं सिंधु का मानना है कि कैरोलिना के ना होने से भी प्रतिस्पर्धा कड़ी होगी।

टोक्यो ओलंपिक में मारिन के नहीं होने से भी कड़ा होगा मुकाबला- पीवी सिंधु
X

टोक्यो ओलंपिक में खेलेंगी पीवी सिंधु (फाइल फोटो)

खेल। टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के लिए जी तोड़ मेहनत करने वाली भारत की स्टार बैडमिंटन (Badminton Star player of India) खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने कहा है कि वह अपनी प्रतिद्वंद्वियों को परेशानी में डालने के लिए नए कौशल और तकनीक पर काम कर रही हैं। रियो ओलंपिक (Rio Olympic) की रजत पदक विजेता और विश्व चैम्पियन (World Champion) सिंधु का मानना है कि कोरोना वायरस महामारी (Corona Pandemic) के कारण मिले आराम से उन्हें अपने खेल की कमजोरियों को दूर करने और उसमें कुछ नया जोड़ने का मौका मिला। बता दें कि उनकी कड़ी प्रतिद्वंद्वी और मौजूदा चैम्पियन कैरोलिना मारिन (Carolina Marins) घुटने की चोट के कारण ओलंपिक में नहीं खेल पाएंगी। वहीं सिंधु का मानना है कि कैरोलिना के ना होने से भी प्रतिस्पर्धा कड़ी होगी।

दरअसल सिंधु ने भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) की ओर से आयोजित वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'महिलाओं के सर्किट में शीर्ष 10 खिलाड़ी समान स्तर की हैं। अगर एक खिलाड़ी नहीं खेल पाता है तो आप इसे आसानी से नहीं ले सकते हैं।' उन्होंने कहा, 'ताइ जु यिंग, रतचानोक इंतानोन, नोजोमी ओकुहारा और अकाने यामागुची जैसी खिलाड़ी हैं। ये सभी अच्छी खिलाड़ी हैं, आप यह नहीं कह सकते कि अगर एक खिलाड़ी अनुपस्थित है तो यह आसान होगा। मैं इसको लेकर सहज नहीं हो सकती, मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर ध्यान देना होगा।'

वहीं सिंधु 2016 ओलंपिक फाइनल और 2017 विश्व चैम्पियनशिप के खिताबी मुकाबले में मारिन से हार गई थीं। उन्होंने कहा, 'रतचानोक जैसी कुछ खिलाड़ी खतरनाक हैं। वह एक कुशल खिलाड़ी है, हमें उससे सतर्क रहना होगा।' साथ ही सिंधु ने कहा, 'जहां तक मेरी बात है तो तकनीक और कौशल में सुधार करने के लिए यह मेरे लिए बहुत अच्छा समय रहा। मैंने सुधार किया है, यह अच्छा रहा कि मुझे इतना अधिक समय मिल गया। हालांकि आम तौर पर हमें अपनी गलतियों को सुधारने या नए कौशल को सीखने का समय नहीं मिलता।' उन्होंने कहा, 'इसमें समय लगता है, इसलिए मेरे पास यह समय है और मैं इसका उपयोग कर रही हूं। उम्मीद है कि ओलंपिक में मेरे पास कुछ नई तकनीक और कौशल होगा।' सिंधु ने कहा कि उन्हें और अन्य खिलाड़ियों को चीनी खिलाड़ियों से सतर्क रहना होगा क्योंकि वे पिछले कुछ समय से प्रतियोगिताओं में नहीं खेल रही हैं।

सिंधु ने आगे कहा, 'वे लंबे समय से नहीं खेली हैं, हमने उन्हें नहीं देखा है। चेन यू फेई और ही बिंग जियाओ बहुत अच्छी खिलाड़ी हैं। ओलंपिक में परिस्थितियां पूरी तरह से अलग होंगी। आप अपने प्रतिद्वंद्वियों को कम करके नहीं आंक सकते हो।' अपने मजबूत पक्षों के बारे में सिंधु ने कहा कि वह हमेशा आक्रामक खेल खेलना पसंद करती हैं। उन्होंने कहा, 'आक्रमण मेरा मजबूत पक्ष है, प्रतिद्वंद्वी मेरा खेल जानते हैं और इसलिए मैं अपने रक्षण पर भी काम कर रही हूं। मैं लंबे कद की हूं इसलिए मेरा आक्रमण अच्छा है, मुझे प्रत्येक स्ट्रोक, हर चीज के लिए तैयार रहना होगा।'

Next Story