Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Tokyo Olympic 2020: महिला डबल्स में भारत का नेतृत्व करेंगी सानिया-अंकिता की जोड़ी

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में महिला टेनिस डबल्स (Women's tennis Doubles) में भारत का नेतृत्व सानिया मिर्जा (Sania Mirza) के साथ अंकिता रैना (Ankita raina) करेंगी। इसकी जानकारी गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (ITF) ने दी।

Tokyo Olympic 2020: महिला डबल्स में भारत का नेतृत्व करेंगी सानिया-अंकिता की जोड़ी
X

Tokyo Olympic 2020: महिला डबल्स में भारत का नेतृत्व करेंगी सानिया-अंकिता की जोड़ी।

खेल। 23 जुलाई से शुरु होने वाले टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में महिला टेनिस डबल्स (Women's tennis Doubles) में भारत का नेतृत्व सानिया मिर्जा (Sania Mirza) के साथ अंकिता रैना (Ankita raina) करेंगी। इसकी जानकारी गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (ITF) ने दी।

दरअसल सानिया मिर्जा की वर्ल्ड नंबर 9 की संरक्षित रैंकिंग (प्रोटेक्टेड रैंकिंग) है। जिस कारण उन्होंने ओलंपिक में महिला डबल्स के लिए सीधे एंट्री हासिल की। इस दौरान खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने सानिया मिर्जा और अंकिता रैना को ट्वीट करके बधाई दी।

क्या होता है संरक्षित रैंकिंग (प्रोटेक्टेड रैंकिंग)?

दरअसल टेनिस में जब कोई भी महिला लंबी चोट से परेशान हो, तो इस स्थिति में प्रोटेक्टेड रैंकिंग उसे वर्ल्ड रैंकिंग में बनाए रखने की अनुमति देती है। वैसे ही गर्भावस्था के बाद तीन साल या प्रतियोगिता में वापसी से एक साल पहले की हालात के लिए इसे बनाया गया है। वहीं प्रोटेक्टेड रैंकिंग का इस्तेमाल टोक्यो ओलंपिंक में प्रवेश के लिए भी किया जा सकता है।

वहीं बेटे के जन्म से पहले सानिया मैटरनिटी लीव पर थी हालांकि, छुट्टी से पहले महिला डबल्स में उनकी रैंक 9वीं थी। जो कि उन्हें ग्रीष्मकालीन खेलों के लिए शुरुआती स्थान में खेलने की गारंटी देता है। इसी के साथ सानिया को टोक्यो ओलंपिक के लिए अपना साथी चुनने की भी अनुमति थी जिसके बाद उन्होंने विश्व रैंकिंग में 95वें नंबर पर काबिज अंकिता रैना को अपना साथी चुना। इसके साथ ही बता दें कि सानिया मिर्जा का यह चौथा ओलंपिक गेम होगा जबकि अंकिता रैना अपने पहले ग्रीष्मकालीन खेलों में शिरकत करेंगी।

Next Story