Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

All England Open 2021: पीवी सिंधु के पास खिताब जीतने का सुनहरा मौका

स्विस ओपन फाइनल में मिली हार को भुलाकर वर्ल्ड चैंपियन (World Champion) पीवी सिंधु (P. V. Sindhu) सितारों की गैरमौजूदगी का फायदा उठाकर खिताब अपने नाम करने की कोशिश करेगी।

स्विस ओपन फाइनल में हार गई थीं पीवी सिंधु
X

पीवी सिंधु के पास खिताब जीतने का सुनहरा मौका

खेल। बुधवार से बर्मिंघम (Birmingham) में ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप (All England Open Badminton Championships) शुरू होने जा रही है। इस चैंपियनशिप (Championships) के लिए स्विस ओपन फाइनल में मिली हार को भुलाकर वर्ल्ड चैंपियन (World Champion) पीवी सिंधु (P. V. Sindhu) सितारों की गैरमौजूदगी का फायदा उठाकर खिताब अपने नाम करने की कोशिश करेगी। दरअसल सिंधु को स्विस ओपन फाइनल (Swiss Open final) में स्पेन (Spain) की कैरोलिना मारिन (Carolina Marin) से एकतरफा मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। वहीं तीन बार की विश्व चैम्पियन (World Champion) मारिन ने चोट के कारण इस टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है। इसके साथ ही चीन, कोरिया और चीनी ताइपे के खिलाड़ी भी इस सुपर 1000 टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे। जो टोक्यो ओलंपिक क्वालिफिकेशन (Tokyo olympic Qualification) दौर का हिस्सा नहीं हैं। हालांकि, इससे टूर्नामेंट कुछ बेरौनक हो गया है, लेकिन इससे भारत के 19 सदस्यीय दल को बेहतर प्रदर्शन करने का मौका मिला है। बता दें कि 1980 में प्रकाश पादुकोण और 2001 में पुलेला गोपीचंद ने इस खिताब को अपने नाम किया था। जिसके बाद इन दोनों के अलावा भारत के लिए यहां कोई खिताब नहीं जीत सका है। दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल 2015 में उपविजेता रही थीं।

दरअसल सिंधु यहां 2018 में सेमीफाइनल तक पहुंचीं, लेकिन उनके अलावा कोई और भारतीय आगे नहीं बढ़ सका। ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधु एक बार फिर खिताब की प्रबल दावेदार होंगी, लेकिन साइना अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं हैं। वह पिछले दो साल में सिर्फ दो बार क्वार्टर फाइनल तक ही पहुंच सकीं। अन्य भारतीयों में दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत और युगल वर्ग में सात्विक साइराज रांकिरेड्डी और चिराग शेट्टी ने स्विस ओपन में अच्छा प्रदर्शन किया और वे इस लय को कायम रखना चाहेंगे।

वहीं पांचवीं वरीयता प्राप्त सिंधु का सामना पहले दौर में मलेशिया की सोनिया चिया से होगा, जबकि क्वार्टर फाइनल में वह जापान की अकाने यामागुची से भिड़ सकती हैं। इसके साथ ही लंदन ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साइना का सामना पहले दौर में सातवीं वरीयता प्राप्त डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट से होगा।

Next Story