Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''मेजर ध्यानचंद को सचिन से पहले मिलना चाहिए था भारत रत्न''

ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग संबंधी टीशर्ट पहने हुए थे प्रदर्शनकारी।

मेजर ध्यानचंद को सचिन से पहले मिलना चाहिए था भारत रत्न
X
नई दिल्ली. हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग पर पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ियों और आम लोगों ने जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। कई दिग्गजों का मानना था कि मेजर ध्यानचंद को क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर से पहले ही भारत रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए था।
विरोध प्रदर्शन में काफी संख्या में छात्र भी शामिल रहे जो ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग संबंधी टीशर्ट पहने थे। मेजर ध्यानचंद का जन्मदिन 29 अगस्त को पूरे देश में खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
विरोध प्रदर्शन के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय को ज्ञापन भी सौंपा गया, जिसमें भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान व राज्यसभा सदस्य दिलीप टिर्की, पूर्व हॉकी खिलाड़ी जफर इकबाल, अजीत पाल सिंह, मोहम्मद रियाज, ध्यानचंद के पुत्र अशोक ध्यानचंद, रेत से कलाकृति बनाने वाले कलाकार सुदर्शन पटनायक समेत अन्य के हस्ताक्षर हैं।
दिलीप टिर्की ने कहा कि ओलिंपिक में भारतीय खिलाडि़यों के कमजोर प्रदर्शन पर आंसू बहाए जा रहे हैं, लेकिन खिलाड़‍ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अभी तक क्या किया इस पर विचार करने की जरुरत है। तीन ओलिंपिक खेलों में भारत को स्वर्ण पदक दिलाने वाले हॉकी के जादूगर के नाम पर विश्व भर में कई प्रतिष्ठानों, स्थानों के नाम रखे गए हैं, लेकिन अभी तक उन्हें भारत रत्न नहीं दिया गया है।
उन्होंने कहा कि खिलाडि़यों के साथ जब तक भेदभाव खत्म नहीं किया जाएगा और उन्हें सम्मानित नहीं किया जाता है तब तक खेल का विकास संभव नहीं है। पूर्व हॉकी खिलाड़ी जफर इकबाल ने कहा कि 70 सालों से चली आ रही यह उपेक्षा शायद मोदी सरकार के कार्यकाल में खत्म हो सकती है और उन्हें भारत रत्न दिया जा सकता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story