Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पहलवान कोच ''महावीर सिंह फोगाट'' को मिला नए साल का ''तोहफा''

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पहलवान और कोच महावीर फोगाट को यह तोहफा दिया।

पहलवान कोच
भिवानी. रेसलर्स की फाइट के लिए अखाड़े में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मैट की कमी से जूझ रहे द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच महावीर फोगाट को प्रदेश सरकार ने नए साल का तोहफा दिया। शनिवार को प्रदेश सरकार के निर्देश पर प्रशासनिक अधिकारियों ने गांव बलाली पहुंचकर कुश्ती के लिए मैट मुहैया कराए। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पहलवान और कोच महावीर फोगाट के अखाड़े को ओलंपिक साइज के मैट दिए। साथ ही प्रदेश के सौ अखाड़ों को भी मैट प्रदान किए जाएंगे, ताकि पहलवानों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की अभ्यास की सुविधा मिल सके। यह जानकारी जानकारी मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने दी है।
हालांकि, अधिकारियों की ओर से मुहैया कराए गए मैट भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर के नहीं हैं। प्रशासन ने इस सबंध में फोगाट को डी प्लान के अनुसार फंड देकर अच्छी क्वॉलिटी व ओलिंपिक स्तर के साइज का मैट खरीदने का आश्वासन दिया है।
1 जनवरी को फोगाट परिवार मुख्यमंत्री से भेंट करेगा
नए वर्ष पर 1 जनवरी को फोगाट परिवार मुख्यमंत्री से भेंट करेगा। बता दें कि ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली महिला पहलवान गीता फौगाट के पिता महावीर अपनी पहलवान बेटियों के कारण दुनिया भर में ख्याति हासिल कर चुके हैं। उन्होंने अपनी बेटियों को अपने गांव बलाली में अखाड़ा बनाकर प्रशिक्षण दिया और उन्हें विश्वस्तरीय पहलवान बनाया। उनके जीवन पर आमिर खान की फिल्म दंगल अभी हाल ही में रिलीज हुई है, जिसे मुख्यमंत्री देख चुके हैं और प्रदेश में टैक्सफ्री भी कर चुके हैं।
फोगाट के अखाड़े को मैट देने का वादा
मालूम हो कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बीते दिनों फोगाट बहनों के पिता और कोट महाबीर फोगाट के अखाड़े को मैट देने का वादा किया था। सीएम ने कहा था कि नए साल के तोहफे के रूप में वह ओलिंपिक स्तर व साइज के कुश्ती मैट देंगे। सीएम घोषणा के बाद शनिवार को भिवानी एडीसी धीरेन्द्र खडग़टा व खेल विभाग के डिप्टी डायरेक्टर छाजूराम कुश्ती मैट लेकर पहुंचे।
100 कुश्ती अखाड़ों के लिए गद्दे
इस दौरान एडीसी धीरेन्द्र खडग़टा ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नव वर्ष के अवसर पर 100 अखाड़े कुश्ती अखाड़ों के लिए गद्दे दिए गए हैं। सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत कुश्ती में प्रदेश का नाम रोशन करने वाली बलाली बहनों के गांव से की है।
सभी रजिस्टर्ड अखाड़ों को मिलेंगे मैट
इस योजना के तहत प्रदेश के सभी रजिस्ट्रड अखाड़ों में नए साल के मौके पर 12-12 मीटर के गद्दों का यह मैट दिया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में खेलों का बढ़ावा देकर, ग्रामीण अंचल में छुपी प्रतिभाओं को आगे लाना सरकार का मुख्य उद्देश्य है। प्रदेश सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में व्यायाम शालाएं खोलने का भी निर्णय लिया गया है। इन व्यायाम शालाओं में सभी प्रकार की सुविधाएं भी दी जाएंगी।
भविष्य में अच्छी व ओलिंपिक स्तर का मैट होगा उपलब्ध
वहीं, खेल विभाग के डिप्टी डायरेक्टर छाजूराम ने बताया कि फिलहाल बलाली गांव में कुश्ती मैट दे दिया गया है। भविष्य में डी प्लान योजना के तहत अच्छी व ओलिंपिक स्तर का मैट भी उपलब्ध करवा दिया जाएगा। इसके अलावा बलाली गांव में कुश्ती के लिए एक एयरकंडीशन हॉल तैयार किया जा रहा है, जिसमें सैंकड़ों युवा एक साथ व्यायाम व कुश्ती कर सकेंगे।
खिलाड़ियों के लिए खेल स्टेडियम की मांग
इस दौरान महावीर बलाली व सरपंच द्वारा गांव में खिलाड़ियों के लिए एक ट्रैक व खेल स्टेडियम की मांग की गई। अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा पंचायत अगर जमीन देती है तो जल्द ही गांव में स्टेडियम व ट्रैक भी बनवा दिया जाएगा। एडीएसी ने इस मौके पर डी प्लान के तहत गांव के नवर्निमित कुश्ती हॉल में कुश्ती के लिए एक अतिरिक्मैट और देने की भी घोषणा की।
पिछले 10 वर्षों से मैट के लिए लड़ाई
द्रोर्णाचार्य अवॉर्डी कोच महावीर फोगाट ने मैट मिलने पर सीएम मनोहर लाल व खेल मंत्री अनिल विज का धन्यवाद किया। फोगाट ने कहा कि वह पिछले 10 वर्षों से मैट के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। हरियाणा सरकार ने उनकी इस मांग को पूरी कर उसके सपनों को पूरा किया है। उन्हें उम्मीद है कि भविष्य में और बड़ा व अच्छी क्वॉलिटी का मैट भी मिल जाएगा। इस मौके पर जिला खेल अधिकारी लक्ष्मण सैनी, नायब तहसीलदार नौरंगलाल व सरपंच अमित कुमार सहित अन्य मौजूद थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top