Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यूसेन बोल्ट: किराना दुकान से विश्व के सबसे तेज धावक बनने का यादगार सफर

बोल्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप में 8 गोल्ड और 2 सिल्वर के साथ 10 मेडल जीत चुके हैं।

यूसेन बोल्ट: किराना दुकान से विश्व के सबसे तेज धावक बनने का यादगार सफर
X

यूसेन बोल्ट जब ट्रैक पर दौड़ते है तो ऐसा लगता है कोई इंसान नहीं बल्कि एक महामानव दौड़ रहा हो। ट्रैक पर चीते की रफ्तार से दौड़ता हुआ बोल्ट एक ऐसा इंसान जिसकी रफ्तार का अंदाजा सिर्फ हाई डेफनिशन कैमरे पर ही लगाया जा सकता है।

बोल्ट के पास वर्ल्ड चैंपियनशिप में 8 गोल्ड और 2 सिल्वर के साथ 10 मेडल हो चुके हैं। यूसेन बचपन से ही अपनी मां के बेहद दुलारे रहे। वेस्टइंडीज का एक मशहूर द्वीप जमैका यही एक साधारण परिवार में हुआ था यूसेन बोल्ट का जन्म।

इसे भी पढ़े:- दुनिया का सबसे तेज रनर बोल्ट, पूरी नहीं कर पाया अपनी आखिरी रेस, ट्रैक पर मुंह के बल गिरा

मौजूदा समय में विश्व क्रिकेट में अपनी तूफानी बल्लेबाज़ी से कमाल कर रहे क्रिस गेल भी यही से ताल्लुक रखते हैं। बोल्ट के ट्रेलॉनी पेरिश गांव में ना तो सड़कों पर बत्तियां है और ना ही हर घर में पानी की बुनियादी सुविधा है।

बोल्ट की मां जेनिफर के मुताबिक उन्हें इस तरह की ज़िंदगी से कोई शिकवा नहीं है। जेनिफर का कहना है कि दुनिया के सबसे तेज़ धावक सिर्फ एक ही बार किसी चीज़ में देर हुआ है।

बोल्ट सिर्फ पैदा होने के वक्त ही देर हुआ। बोल्ट का जन्म डॉक्टर के निर्धारित समय से करीब 10 दिन की देरी से हुआ लेकिन वो बचपन से काफी ऊर्जावान और चंचल रहे हैं।

इसे भी पढ़े:- कोई लक्ष्य नहीं, विश्व चैम्पियनशिप में एक मैच पर ही ध्यान लगाऊंगा: किदांबी श्रीकांत

आइये जानते है विश्व के सबसे तेज धावक यूसैन बोल्ट के बारे में कुछ रोचक बाते

# यूसैन बोल्ट ने 2009 की बर्लिन विश्व चैंपियशिप में 100 मीटर की दूरी 9.58 सेकेंड में पूरा करने का रिकॉर्ड बनाया था। जिसे आज तक कोई धावक नहीं तोड़ पाया।

# इसके अनुसार बोल्ट ने 9.58 सेकेंड में 100 मीटर का लक्ष्य अपनी रफ़्तार को 12.2 मीटर प्रति सेकेंड तक पहुंचाकर हासिल किया। यानी बोल्ट 27 मील प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रहे थे

# बोल्ट एक साधारण परिवार से आते हैं। अपनी बहन, भाई और परिवार की मदद के लिए उन्होंने किराना दुकान पर रम और सिगरेट बेचने का काम किया था।

# एथलीट से पहले वो क्रिकेट में गेंदबाज बनना चाहते थे और वकार युनूस उनके पसंदीदा थे लेकिन उन्होंने जो किया पूरी शिद्दत से किया।

# लंदन में हुई चैंपियनशिप के फ़ाइनल में बोल्ट को हार का सामना करना पड़ा क्योंकि दौड़ ख़त्म होने से पहले उनकी मांशपेशियों में खिंचाव की वजह से दर्द शुरू हो गया। इस तरह बोल्ट अपने आखिरी मैच को जीत के साथ यादगार नहीं बना सके।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story