Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आइपीएल उद्घाटन समारोह हुआ फीका, सीओए ने खर्च को लेकर लिया बड़ा फैसला

टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में चार चांद लगने वाले थे और यह कहा जा रहा था कि बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड के कलाकार भी शामिल होंगे और इस समारोह को रंगीन बनाया जाएगा, मगर प्रशासकों समिति (सीओए) ने उद्घाटन समारोह में कम खर्च करने को कहा है।

आइपीएल उद्घाटन समारोह हुआ फीका, सीओए ने खर्च को लेकर लिया बड़ा फैसला

इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) की नीलामी को देखने के बाद से ही लगने लगा था कि इस टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में चार चांद लगने वाले थे और यह कहा जा रहा था कि बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड के कलाकार भी शामिल होंगे और इस समारोह को रंगीन बनाया जाएगा, मगर प्रशासकों समिति (सीओए) ने उद्घाटन समारोह में कम खर्च करने को कहा है।

6 अप्रैल को आइपीएल के 11वें सीजन का उद्घाटन समारोह मुंबई के क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में होना था, मगर अब 7 अप्रैल को इस टूर्नामेंट के पहले मैच से पहले उद्घाटन समारोह वानखेडे स्टेडियम में होगा।

बीसीसीआइ ने लीग की शुरुआत से एक दिन पहले समारोह को आयोजित करने का फैसला लिया था। मगर सीओए ने इस कार्यक्रम में खर्च राशि को कम करने को कहा है।

ये भी पढ़े: T20 सीरीज: रोहित शर्मा ने कहा- टी-20 सीरीज में कोई भी जीत सकता है

बीसीसीआइ के अधिकारियों ने कहा है कि सीओए चाहते है कि समारोह में 50 करोड़ से ज्यादा खर्च ना हो। समारोह को लीग के मैच से पहले ही आयोजित किया है इससे पैसा और समय दोनों ही बचेगा। 27 मई को आइपीएल का समापन समारोह मुंबई में होगा।

बता दें कि इंडियन प्रीमियर लीग में बीसीसीआइ ने अंपायर समीक्षा प्रणाली डीआरएस को मंजूरी दे दी है। आइपीएल में डीआरएस का प्रयोग पहली बार हो रहा है। इससे पहले कई वर्षों तक बीसीसीआइ इसका विरोध करती आ रही है, लेकिन अब इस प्रणाली को अपनी लीग से जोड़ चुकी है।

बीसीसीआइ ने रेफरल सिस्टम का लगातार विरोध करती आ रही थी, लेकिन 2016 में इंगलैंड के दौरे के वक्त उसने अपना रुख नरम कर लिया था।

Latest

View All

वायरल

View All

गैलरी

View All
Share it
Top