Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

IPL 2018: केन विलियमसन से सीख लें अजिंक्य रहाणे और गौतम गंभीर

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने इंडियन प्रीमियर लीग में यह साबित किया कि तकनीकी रूप से सक्षम परंपरागत शैली मे बल्लेबाजी करने वाले भी बल्लेबाज टी-20 प्रारूप में तेजी से रन बना सकते हैं।

IPL 2018: केन विलियमसन से सीख लें अजिंक्य रहाणे और गौतम गंभीर

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने इंडियन प्रीमियर लीग में यह साबित किया कि तकनीकी रूप से सक्षम परंपरागत शैली मे बल्लेबाजी करने वाले भी बल्लेबाज टी-20 प्रारूप में तेजी से रन बना सकते हैं और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोन्स चाहते है कि खराब फॉर्म में चल रहे गौतम गंभीर और अजिंक्य रहाणे जैसे भारतीय बल्लेबाज उन से सीख ले सकते है।

जोन्स से पीटीआई से कहा- मुझे उम्मीद थी कि विलियमसन अच्छा करेंगे। डेविड वार्नर के यहां नहीं खेलने से उन्हें काफी फायदा हुआ है।उन्होंने कहा- यह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ टी-20 लीग है। विलियमसन को जो मौका मिला उन्होंने उसका पूरा फायदा उठाया और दुनिया को दिखा दिया कि वे कितने शानदार खिलाड़ी है।

इसे भी पढ़े: IPL 2018: मुंबई इंडियंस में खेलने को लेकर हार्दिक पंड्या ने दिया बड़ा बयान

जोन्स ने कहा- आपके पास गंभीर और रहाणे जैसे दूसरे खिलाड़ी भी है जो परंपरागत शैली में बल्लेबाजी करते हैं। उन्हें विलियमसन का अनुसरण करना चाहिए कि वह कैसे 130-140 के स्ट्राइक रेट तक पहुंच जा रहे।

ऑस्ट्रेलिया के लिए 52 टेस्ट और 164 एकदिवसीय मैच खेलने वाले इस बल्लेबाज ने कहा- अगर आप ऐसा कह रहे कि विलियमसन (13 मैचों में 625 रन ) रहाणे और गंभीर से बेहतर है तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।

इसे भी पढ़े: IPL 2018: दमदार सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ प्लेऑफ का टिकट कटाने उतरेगी KKR, दोनों टीमों में हो सकते हैं बड़े बदलाव

लेकिन तथ्य यह है कि उन्होंने ( विलियमसन ) ने ज्यादा खुल कर बल्लेबाजी की है। वह शॉट लगाने से पहले परंपरागत स्थिति में आ जाते है। उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है और यह साबित किया कि टी-20 में भी परंपरागत बल्लेबाज की जगह है।

Share it
Top