Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IND vs SA: लुंगी में फंसे भारतीय शेर, कोहली की कप्तानी में पहली बार सीरीज हारा भारत

घर के शेर भारतीय बल्लेबाजों ने आज एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजी आक्रमण के सामने घुटने टेक दिए जिससे टीम को दूसरे टेस्ट में 135 रन की शिकस्त का सामना करना पड़ा।

IND vs SA: लुंगी में फंसे भारतीय शेर, कोहली की कप्तानी में पहली बार सीरीज हारा भारत
X

घर के शेर भारतीय बल्लेबाजों ने आज एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजी आक्रमण के सामने घुटने टेक दिए जिससे टीम को दूसरे टेस्ट में 135 रन की शिकस्त का सामना करना पड़ा जिससे विराट कोहली की टीम के लगातार नौ टेस्ट श्रृंखला जीतने के अभियान पर भी विराम लग गया। पहले टेस्ट में 72 रन से जीत दर्ज करने वाली दक्षिण अफ्रीका ने इस तरह तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली।

दक्षिण अफ्रीका के 287 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम असमान उछाल वाली सुपर स्पोर्ट्स पार्क की पिच पर पांचवें और अंतिम दिन दूसरी पारी में 50.2 ओवर में 151 रन पर ढेर हो गई। टीम इंडिया की ओर से रोहित शर्मा ने सर्वाधिक 47 रन बनाए। फाफ डु प्लेसिस की अगुआई वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इसके साथ ही 2015 में भारत में मेजबान टीम के हाथों 0-3 की हार का बदला भी चुकता कर लिया।

इसे भी पढ़े: IND vs SA: ये रही टीम इंडिया की शर्मनाक हार के 5 बड़े कारण

लुंगी एनगिडी का पदार्पण मैच में धमाका

दक्षिण अफ्रीका की ओर से पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 12.2 ओवर में 39 रन देकर छह विकेट हासिल किए। उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया। भारतीय टीम में काफी खामियां देखने को मिली। उपमहाद्वीप के बाहर एक साल से अधिक समय में सिर्फ दूसरा टेस्ट खेल रहे भारत के टीम चयन से लेकर शाट चयन में खामियां दिखी। टीम में जज्बे की कमी और विकेट के बीच दौड़ को लेकर सामंजस्य की कमी भी रही।

इस बीच एनगिडी, लांस क्लूजनर (भारत के खिलाफ 1996 में 62 रन पर आठ विकेट), चार्ल्स लेंगवेल्ट (इंग्लैंड के खिलाफ 2005 में 46 रन पर पांच विकेट), वर्नन फिलेंडर (आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2011 में 15 रन पर पांच विकेट), मर्चेन्ट डि लेंगे (श्रीलंका के खिलाफ 2011 में 81 रन पर सात विकेट) और काइल एबोट (पाकिस्तान के खिलाफ 2013 में 29 रन पर सात विकेट) के बाद दक्षिण अफ्रीका के छठे तेज गेंदबाज बने जिसने पदार्पण मैच में ही पारी में पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किए।

भारत के लिए ऐसा रहा पांचवां दिन

भारत ने दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 35 रन से ही और जल्द ही उसका स्कोर सात विकेट पर 87 रन हो गया। सुबह की 19वीं गेंद पर चेतेश्वर पुजारा (19) मैच में दूसरी बार रन आउट हो गए। वह गैरजरूरी तीसरे रन के लिए दौड़े लेकिन एबी डिविलियर्स की थ्रो पर क्विंटन डिकाक ने उन्हें रन आउट कर दिया। पुजारा एक ही टेस्ट की दोनों पारियों में रन आउट होने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं।

इसे भी पढ़े: 8 साल बाद टीम में वापसी, अब अफ्रीका में पूर्व पत्नी और चीटर दोस्त से होगा सामना

तीन ओवर बाद पार्थिव पटेल (19) भी पवेलियन लौट गए जब कागिसो रबादा (47 रन पर तीन विकेट) की गेंद पर मोर्ने मोर्कल ने डीप स्क्वायर लेग बाउंड्री पर उनका शानदार कैच लपका। हार्दिक पंड्या (06) भी इसके बाद एनगिडी की गेंद को स्लिप के ऊपर से खेलने के प्रयास में विकेट के पीछे कैच दे बैठे। एनगिडी ने रविचंद्रन अश्विन (03) को विकेट के पीछे कैच कराकर भारत की टेस्ट ड्रा कराने की उम्मीदों को लगभग ध्वस्त कर दिया।

रोहित (74 गेंद में 47 रन, छह चौके, एक छक्का) और मोहम्मद शमी (24 गेंद में 28 रन, पांच चौके) ने आठवें विकेट के लिए 61 गेंद में 54 रन की साझेदारी करके 39वें ओवर में भारत का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। रबादा ने डीप में रोहित को कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। छह गेंद बाद एनगिडी की गेंद को पुल करने की कोशिश में शमी भी मिड आन पर कैच दे बैठे जिससे इस तेज गेंदबाज ने पांचवां विकेट हासिल किया। दो ओवर बाद एनगिडी ने जसप्रीत बुमराह (02) की पारी का अंत करके भारत की शर्मनाक हार तय की।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story