Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

IND vs SA: भारत की सबसे बड़ी जीत, पहली बार अफ्रीका को ''घर'' में 9 विकेट से रौंदा

भारत-साउथ अफ्रीका के बीच सेंचुरियन में 6 वनडे मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला गया।

IND vs SA: भारत की सबसे बड़ी जीत, पहली बार अफ्रीका को

भारत-साउथ अफ्रीका के बीच सेंचुरियन में 6 वनडे मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला गया। भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। युजवेंद्र चहल के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की मदद से भारत ने दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां दक्षिण अफ्रीका को 32.2 ओवर में 118 रन पर आउट कर दिया।

119 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने 1 विकेट के नुकसान पर रन बनाकर इस मैच को 9 विकेट से जीत लिया है। इसके साथ ही भारत इस सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है।

भारत ने टॉस जीतकर दक्षिण अफ्रीका को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया जिसके पांच बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन कोई भी 25 से अधिक रन नहीं बना पाया। लेग स्पिनर चहल ने 22 रन देकर पांच और कुलदीप यादव 20 रन देकर तीन विकेट लिए।

चहल ने 22 रन देकर पांच विकेट लिये जो दक्षिण अफ्रीका में किसी लेग स्पिनर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। कुलदीप ने 20 रन देकर तीन विकेट चटकाये जिससे दक्षिण अफ्रीकी टीम अपनी सरजमीं पर अब तक के अपने सबसे न्यूनतम स्कोर पर आउट हो गयी। जसप्रीत बुमराह (12 रन देकर एक) और भुवनेश्वर कुमार (19 रन देकर एक) ने भी एक-एक विकेट लिया। दक्षिण अफ्रीका ने अपने आखिरी छह विकेट 19 रन के अंदर गंवाए। इससे पहले अपनी धरती पर उसका न्यूनतम स्कोर 119 रन था जो उसने इंग्लैंड के खिलाफ 2009 में पोर्ट एलिजाबेथ में बनाया था। पहली बार वनडे में कप्तानी कर रहे एडेन मार्कराम के लिए शुरू से कुछ भी अच्छा नहीं रहा। पहले वह टॉस हार गये और विराट कोहली ने उनकी टीम को बल्लेबाजी को लिए आमंत्रित किया।

पिच काफी शुष्क थी और उसमें भारत के कलाईयों के दोनों स्पिनरों ने पर्याप्त टर्न हासिल किया। हाशिम अमला (23) और क्विटंन डिकाक (20) ने पहले विकेट के लिये 39 रन जोड़े लेकिन दसवें ओवर में यह साझेदारी टूटने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने लगातार विकेट गंवाए। अमला को भुवनेश्वर ने विकेट के पीछे कैच कराया।स्पिनरों के आक्रमण पर आते ही दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी की कमजोरी फिर से खुलकर सामने आ गयी। उसने 51 रन पर तीन विकेट गंवाये। डिकाक को चहल ने डीप मिडविकेट पर कैच कराया जबकि कुलदीप ने मार्कराम (आठ) को इसी तरह से कैच देने के लिये मजबूर किया।

इसके चार गेंद बाद कुलदीप की तेजी से स्पिन लेती गेंद पर डेविड मिलर (शून्य) भी पवेलियन लौट गये। जेपी डुमिनी (25) और अपना पहला वनडे मैच खेल रहे खायलिले जोंडो (25) ने 48 रन जोड़कर दक्षिण अफ्रीका की उम्मीद जगायी। जोंडो ने चहल पर स्लॉग स्वीप करने के प्रयास में मिडविकेट पर कैच दिया। चहल और कुलदीप के सामने दक्षिण अफ्रीका के पुछल्ले बल्लेबाज भी बगलें झांकते हुए नजर आये। क्रिस मौरिस ने आखिरी बल्लेबाज के रूप में आउट होने से पहले 14 रन बनाए।

लाइव स्कोरबोर्ड

युजवेंद्र चहल को 28.3 में तीसरी सफलता प्राप्त हुई। ड्यूमिनी 25 रन बनाकर पगबाधा आउट। इसके अगले ही ओवर में कागिसो रबाडा (1) भी आउट। भारत ने सातवीं सफलता प्राप्त कर ली है।

साउथ अफ्रीका ने 26.3 ओवर में युजवेंद्र चहल की गेंद पर जोंडो का विकेट खो दिया है। जोंडो 45 गेंदों में 25 रन बनाकर हार्दिक पांड्या को अपना कैच थमा बैठे।

टीम ने 13वें और 14 वें ओवर के बीच 5 गेंदों के अंदर ही क्विंटन डी कॉक (20), एडेन मार्करम (8) औक डेविड मिलर (0) का विकेट गंवा दिया।

कुलदीप यादव की पहली ही गेंद पर फाफ डू प्लेसिस आउट हो चुके हैं। साउथ अफ्रीका की हालत इस वक्त बेहद खराब हो चुकी है। कुलदीप यादव ने अपने 13वें ओवर में नए कप्तान एडेन मार्करम और डेविड मिलकर को आउट कर अफ्रीकी टीम को पटरी से उतार दिया है।

युजवेंद्र चहल अपना दूसरा ओवर डालते हुए। पहली गेंद पर कोई रन नहीं। अगली तीन गेंदों पर एक रन के लिए दौड़। आखिरी गेंद पर क्विंटन छक्का जड़ने की कोशिश में पांड्या के हाथों कैच आउट। साउथ अफ्रीका को दूसरा झटका लग चुका है।

भुवनेश्वर कुमार ने 9.4 ओवर में हाशिम अमला को आउट किया। अमला का कैच विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी ने पकड़ा। भारत को पहली सफलता मिली। मैदान पर मार्करम आ चुके हैं।

भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने पारी की शुरुआत की और पहले ओवर में चार रन दिए। वहीं दूसरी ओर से जसप्रीत बुमराह ने गेंदबाजी का कमान संभला रखा है। (2 ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्कोर – 4/0)

भारत ने पहले मैच में जीत दर्ज करने वाली टीम में कोई बदलाव नहीं किया है जबकि दक्षिण अफ्रीका ने टीम में दो बदलाव किए हैं। चोटिल कप्तान फाफ डुप्लेसिस की जगह पर खाया जोंडो को अपना पहला वनडे खेलने का मौका दिया गया है। आलराउंडर एंडिल फेलुकवायो की जगह बायें हाथ के कलाईयों के स्पिनर तबरेज शम्सी को टीम में रखा गया है।आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय क्रिकेट टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रविवार को दूसरे एक दिवसीय मैच में कप्तान फाफ डु प्लेसिस के बगैर उतर रही मेजबान टीम की फिटनेस समस्याओं का फायदा उठाना चाहेगी।

भारत ने डरबन में पहला वनडे छह विकेट से जीतकर छह मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बना ली। इस हार के साथ दक्षिण अफ्रीका का अपनी सरजमीं पर फरवरी 2016 से चला आ रहा लगातार 17 जीत का सिलसिला थम गया।

इसे भी पढ़े: अंडर 19 वर्ल्डकप: मास्टर ब्लास्टर ने टीम इंडिया की जीत पर बीसीसीआई को दिया क्रेडिट

डरबन की हार के बाद दक्षिण अफ्रीका को दूसरा झटका लगा जब कप्तान डुप्लेसिस उंगली की चोट के कारण बाहर हो गए। उन्हें पहले वनडे में चोट लगी थी और स्कैन से पता चला कि उन्हें फ्रेक्चर है। वह वनडे श्रृंखला और टी20 श्रृंखला दोनों नहीं खेल सकेंगे।

जीत से भारत बनेगा बादशाह

भारत यदि 2-0 की बढ़त बना लेता है तो दक्षिण अफ्रीका वनडे में नंबर वन की रैंकिंग गंवा देगा। भारत को एक दिवसीय प्रारूप में नंबर वन के ताज तक पहुंचने के लिए श्रृंखला 4-2 से जीतनी होगी। भारत का इस मैदान पर रिकार्ड अच्छा रहा है और 11 वनडे में से यहां उसने चार जीते जबकि पांच हारे हैं। इसी मैदान पर भारत ने 2003 विश्व कप में पाकिस्तान को हराया था। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां पांच वनडे में से भारत ने दो जीते और दो हारे हैं।

टीम इस प्रकार है

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, एमएस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल

दक्षिण अफ्रीका: एडेन मार्करैम (कप्तान) हाशिम अमला, क्विंटन डि कॉक (विकेटकीपर), खाया जोंडो, जेपी डुमिनी, डेविड मिलर, क्रिस मोरिस, तबरेज शमसी, कैगिसो रबाडा, मॉर्ने मॉर्कल , इमरान ताहिर

Share it
Top