Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

IND vs SA: पिच के खराब बर्ताव के कारण तीसरे दिन का खेल खत्म, अफ्रीका को लगा पहला झटका

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला जोहानिसबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में खेला जा रहा है।

IND vs SA: पिच के खराब बर्ताव के कारण तीसरे दिन का खेल खत्म, अफ्रीका को लगा पहला झटका

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला जोहानिसबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में खेला जा रहा है। बल्‍लेबाजी के लिए मुश्किल बनते जा रहे इस विकेट पर भारतीय टीम की दूसरी पारी तीसरे दिन चाय के बाद 247 रन पर समाप्‍त हुई। टीम इंडिया की ओर से अजिंक्‍य रहाणे (48), विराट कोहली (41) और भुवनेश्‍वर कुमार (33) ने उपयोगी पारी खेलते हुए टीम को 200 के पार पहुंचाने में अहम योगदान दिया। पहली पारी के आधार पर मिली 7 रन की बढ़त को कम करने के बाद दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 241 रन का लक्ष्‍य है।

भारतीय टीम ने पहली पारी में 187 रन बनाए थे जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 194 पर पर सिमट गई थी। जीत के लिए मिले 241 रनों के जवाब में दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी का स्‍कोर तीसरे तीन खेल खत्म होने तक 1 विकेट के नुकसान पर 17 रन है। डीन एल्‍गर 11 और हाशिम अमला 2 रन बनाए नाबाद हैं। एडेन मार्कराम (4) आउट होने वाले बल्‍लेबाज हैं। अफ्रीका की दूसरी पारी के 9वें ओवर में जसप्रीत बुमराह की एक गेंद डीन एल्गर के हेलमेट में जा लगी, जिसके बाद मैच रेफरी ने बीच में दखल दिया और दोनों कप्तानों की सलाह से फिलहाल खेल रोक दिया।

विकेट पतन: 17-1 (पार्थिव, 4.6), 51-2 (राहुल, 18.6), 57-3 (पुजारा, 21.6),100-4 (विजय, 40.5), ,134-5 (कोहली, 49.2), 148-6 (पंड्या, 53.1), 203-7 (रहाणे, 67.3), 238-8 (शमी, 74.4), 240-9 (भुवनेश्‍वर, 77.2), , 247-10 (बुमराह, 80.1)

तीसरा दिन: दूसरा सेशन

पारी के 59वें ओवर में भुवनेश्‍वर को उस समय जीवनदान मिला जब मोर्केल की गेंद पर स्लिप में डीन एल्‍गर ने उनका आसान कैच छोड़ दिया। भुवी उस समय 15 रन पर थे। अगले ही ओवर में दक्षिण अफ्रीकी टीम ने रहाणे को भी जीवनदान दिया। उनका कैच एंडिले फेलुकवायो ने छोड़ा।

साउथ अफ्रीका को छठी सफलता मिल चुकी है। हार्दिक पांड्या, कगीसो रबाडा की गेंद पर 4 रन बना आउट हो चुके हैं। भारत की स्थिति बेहद खराब हो गई है। दूसरे सेशन में दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी की शुरुआत मोर्ने मोर्केल और वर्नोन फिलेंडर ने की। विजय के स्‍थान पर अजिंक्‍य रहाणे बैटिंग के लिए आए।

विराट और रहाणे की जोड़ी ने पांचवें विकेट के लिए 34 रन की साझेदारी की। इस दौरान विराट आक्रामक अंदाज में बैटिंग करते हुए अर्धशतक की ओर बढ़ते नजर आ रहे थे। 134 के कुल योग पर रबाडा दक्षिण अफ्रीकी के लिए सबसे बड़ी सफलता लेकर आए जब उन्‍होंने विराट (41रन, 79 गेंद, छह चौके) को बोल्‍ड कर दिया।

तीसरा दिन: पहला सेशन

विजय और कोहली के बीच चौथे विकेट के लिए 43 रन की उपयोगी साझेदारी हुई। विजय के आउट होते ही अम्‍पायरों ने लंच ब्रेक घोषित कर दिया। भारत ने मुरली विजय के रूप में अपना चौथा विकेट खो दिया है। विजय 25 रन बनाकर कगीसो रबाडा की गेंद पर बोल्ड हो गए। भारत की स्थिति एक बार फिर खराब हो गई है।

टीम इंडिया तीसरे दिन जल्द अपने दो विकेट गंवाने के बाद बेहद दबाव में है। अब काफी हद तक दारोमदार कप्तान विराट कोहली पर आ चुका है। भारत ने 57 रन की लीड बना ली है। राहुल के स्‍थान पर खेलने आए चेतेश्‍वर पुजारा (1)ज्‍यादा देर नहीं टिके, उन्‍हें मोर्ने मोर्केल ने डु प्‍लेसिस से कैच कराया। टीम इंडिया का तीसरा विकेट 57 के स्‍कोर पर गिरा।

तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के लिए पहला ओवर कागिसो रबाडा ने फेंका जिसमें दो रन बने। दिन के दूसरे ही ओवर में भारत को केएल राहुल (16 रन, 44 गेंद, दो चौके) का विकेट गंवाना पड़ा। वर्नोन फिलेंडर मेजबान टीम के लिए यह कामयाबी लेकर आए। कैच दूसरे स्लिप में कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस ने लपका।

भारत की पहली पारी तरह दक्षिण अफ्रीका के भी केवल तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे। उसकी पारी अनुभवी हाशिम अमला के इर्द गिर्द घूमती रही जिन्होंने लगभग चार घंटे क्रीज पर बिताकर 61 रन बनाये। इस बीच उन्होंने नाइटवाचमैन कैगिसो रबाडा (30) के साथ तीसरे विकेट के लिये 66 और वर्नोन फिलैंडर (35) के साथ आठवें विकेट के लिये 44 रन जोड़े।

भारत ने बल्लेबाजी लाइनअप में बदलाव किया तथा मुरली विजय (नाबाद 13) के साथ विकेटकीपर पार्थिव पटेल को पारी का आगाज करने के लिये भेजा। इस रणनीति के बावजूद भारत अच्छी शुरूआत हासिल करने में असफल रहा। पार्थिव (16) ने तीन चौके लगाये लेकिन वह 15 गेंदों का ही सामना कर पाये और नियमित सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (नाबाद 16) को पांच ओवर बाद ही क्रीज पर उतरना पड़ा।

फिलैंडर की गेंद पार्थिव के बल्ले के बाद पैड से लगकर गली में उछल गयी जहां मार्कराम ने आगे गिरते हुए उसे कैच में बदल दिया। विजय और राहुल ने हालांकि दिन के आखिरी 12 ओवरों में टीम को कोई झटका नहीं लगने दिया और इस तरह से दूसरा दिन भारत के नाम करने में अपनी योगदान दिया।

वांडरर्स पर भारत का रिकॉर्ड

वैसे वांडरर्स पर भारत का रिकार्ड अच्छा रहा है। भारत ने इस मैदान पर चार टेस्ट ( नवंबर 1992 , जनवरी 1997, दिसंबर 2006 और दिसंबर 2013 ) खेले हैं और एक भी गंवाया नहीं है । भारत ने यहां 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट जीता था जिसमें श्रीसंत ने 99 रन देकर आठ विकेट लिये थे। 11 बरस बाद भारतीय टीम उसी हरी भरी और उछाल भरी पिच पर खेलेगी।

टीमें :

भारत: विराट कोहली (कप्‍तान), मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्‍य रहाणे, पार्थिव पटेल, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्‍वर कुमार, मोहम्‍मद शमी, ईशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह

दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्‍लेसिस (कप्‍तान), डीन एल्‍गर, एडेन मार्कराम, हाशिम अमला, एबी डिविलियर्स, क्विंटन डिकॉक, वर्नोन फिलेंडर, कागिसो रबाडा, मोर्ने मोर्केल, लुंगी एंगिडी, और एंडिले फेलुकवायो

Share it
Top