Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंदौर टेस्ट: मातृभूमि पर कप्तान के रूप में विराट कोहली का पहला शतक

भारत ने पहले दिन के खेल की समाप्ति तक 267/3 का स्कोर बना लिया है।

इंदौर टेस्ट: मातृभूमि पर कप्तान के रूप में विराट कोहली का पहला शतक
X
इंदौर. न्यूजीलैंड और भारत के बीच 3 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच इंदौर के होलकर स्टेडियम में खेला जा रहा था। टीम इंडिया ने पहली पारी 3 विकेट पर 267 रन बना लिए थे। विराट कोहली (103) और अजिंक्य रहाणे (79) क्रीज पर बने रहे। कप्तान कोहली ने मुश्किल समय पर धैर्य से खेलते 184 गेंदों में अपना 13वां टेस्ट शतक जमा दिया था। इससे पहले उन्होंने 108 गेंदों में 13वीं फिफ्टी पूरी की थी। कप्तान के रूप में कोहली का भारतीय धरती पर पहला शतक है, वहीं रहाणे ने 123 गेंदों में 10वीं फिफ्टी बनाई।
भारत में 3 साल बाद कोहली का टेस्ट शतक
टीम इंडिया टेस्ट कप्तान कोहली ने भारतीय धरती पर 3 साल बाद टेस्ट शतक लगाया है। यह कप्तान के रूप में भी देश की धरती पर उनका पहला शतक है। आखिरी बार 13 दिसंबर, 2012 को इंग्लैंड के खिलाफ नागपुर टेस्ट में 103 रन बनाए थे। इस सीरीज में कानपुर में उनका बल्ला खामोश रहा था, वहीं कोलकाता टेस्ट की दूसरी पारी में उन्होंने 45 रन बनाकर फॉर्म में वापसी के संकेत दिए थे। इससे पहले उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ जुलाई, 2016 में दोहरा शतक लगाया था। बता दें कि भारत ने पहले दिन के खेल की समाप्ति तक 267/3 का स्कोर बना लिया है।
गंभीर की अच्छी शुरुआत
ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर डीप स्क्वेयर लेग में रहाणे को 11 के स्कोर पर जीवनदान भी मिला, जब उनके पुलशॉट पर मैट हेनरी मुश्किल कैच (सही अंदाजा नहीं लगा पाए) नहीं पकड़ सके। सुबह कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया। 2 साल बाद वापसी करने वाले गौतम गंभीर ने शुरुआत तो अच्छी की, लेकिन उसे बनाए नहीं रख सके और 53 गेंदों में 29 रन (3 चौके, 2 छक्के) बनाकर पैवेलियन लौट गए।
कीवी कप्तान केन विलियम्सन ने तेज गेंदबाज के कम प्रभावी होने पर पांचवें ओवर में ही स्पिनर जीतन पटेल को गेंद थमा दी और उनका यह दांव सटीक रहा। पटेल ने टीम इंडिया के ओपनर मुरली विजय (10) को आउट कर 26 रन पर पहला झटका दिया। विजय को टॉम लाथम ने शॉर्ट लेग पर खूबसूरती से लपका। दूसरा झटका अच्छी लय में दिख रहे गौतम गंभीर (29 रन) के रूप में लगा. गंभीर को ट्रेंट बोल्ट ने पगबाधा आउट किया। गंभीर-पुजारा ने मिलकर 34 रन जोड़े। सीरीज में 3 फिफ्टी लगा चुके चेतेश्वर पुजारा से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वह चौथी फिफ्टी लगाने से ही चूक गए और 41 रन पर स्पिनर मिचेल सैंटनर की गेंद पर बोल्ड हो गए। पुजारा-कोहली के बीच 40 रन की साझेदारी हुई।
टीम इंडिया ने तीन टॉस जीते, तीनों में पहले बैटिंग
कोहली सीरीज में तीसरी बार टॉस जीते हैं और तीनों ही मैच में पहले बैटिंग की है। कोलकाता टेस्ट में जीत दर्ज करके सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर चुकी टीम इंडिया अंतिम टेस्ट को जीतकर अपनी सरजमीं पर एक और ‘क्लीन स्वीप’ की कोशिश में होगी। इसके साथ ही वह टेस्ट में नंबर वन की रैंकिंग को भी बरकरार रखना चाहेगी।
भुवी की जगह उमेश, धवन की जगह गौतम गंभीर
टीम इंडिया में दो बदलाव किए गए हैं। ओपनर शिखर धवन के चोटिल हो जाने के कारण गौतम गंभीर को शामिल किया गया है, जबकि तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की जगह उमेश यादव रखे गए हैं।
पुराना है गंभीर की वापसी का सिलसिला
2004 में टेस्ट में पदार्पण करने वाले गंभीर कुछ खास सफल नहीं रहे और टीम में जगह खो दी, लेकिन उन्होंने 2008 में टेस्ट में फिर वापसी करने के बाद श्रीलंका के खिलाफ शानदार खेल दिखाया था और इसके बाद के 13 टेस्ट मैचों में उन्होंने 8 शतक ठोक दिए. 2012 में उनका खराब दौर आ गया और टीम से बाहर हो गए। अगस्त, 2014 में एक बार फिर वापसी की, लेकिन टीम में जगह नहीं पक्की कर पाए। उन्होंने कोलकाता नाइटराइडर्स को अपनी कप्तानी में दो बार आईपीएल चैंपियन भी बनाया है और बीते दो साल में उन्होंने घरेलू जमीन पर काफी रन बनाए हैं।
विलियम्सन की वापसी
न्यूजीलैंड की टीम में कप्तान केन विलियम्सन की वापसी हुई है, जिससे सीरीज में 2-0 से पिछड़ रही कीवी टीम को राहत मिलने की उम्मीद है।
4 साल में तीसरे क्लीन स्वीप की दहलीज पर
पिछले 4 साल के दौरान देखें, तो टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 2012-13 से हराने के बाद अगले सत्र में वेस्टइंडीज का सफाया किया था। फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी पिछले साल यह कारनामा लगभग दोहरा ही दिया था, लेकिन सफलता नहीं मिली. पिछले कुछ अर्से में भारतीय टीम के अपनी धरती पर बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए इस बार न्यूजीलैंड के खिलाफ क्लीन स्वीप करने में सफल होने के पूरे आसार हैं।
भारत-न्यूजीलैंड आमने-सामने
टीम इंडिया टेस्ट रिकॉर्ड के मामले में न्यूजीलैंड पर भारी है. दोनों टीमों के बीच अब तक 56 टेस्ट मैच हुए हैं, जिनमें टीम इंडिया ने 20 मैच जीते हैं, वहीं न्यूजीलैंड को 10 मैचों में जीत मिली हैं, जबकि 26 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं। न्यूजीलैंड ने आखिरी बार 2012 में भारत दौरा किया था, जिसमें टीम इंडिया ने उसे 2-0 से हराया था। यदि दोनों देशों के बीच आखिरी टेस्ट सीरीज की बात करें, तो टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के साथ आखिरी सीरीज उसी की धरती पर 2013-14 में खेली थी, जिसमें उसे 0-1 से हार का सामना करना पड़ा था। टीम इंडिया ने घरेलू मैदान पर पिछले 13 मैचों में से 11 में जीत दर्ज की है और दो ड्रॉ खेले हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story