Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में एक से ज्यादा पदक जीत सकता है भारत: विजेन्दर सिंह

विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप जर्मनी के हैम्बर्ग में 25 से।

विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में एक से ज्यादा पदक जीत सकता है भारत: विजेन्दर सिंह
X

आठ वर्ष पहले मुक्केबाजी विश्व चैंपियनशिप में भारत के लिए पहला कांस्य पदक जीत इतिहास रचने वाले मुक्केबाज विजेन्दर सिंह ने उम्मीद जताई कि 25 अगस्त से जर्मनी के हैम्बर्ग में शुरू हो रही विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारतीय मुक्केबाज एक से ज्यादा पदक जीत सकते हैं।

बीजिंग ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले विजेन्दर ने 2009 में मिलान में हुई 15वीं विश्व चैंपियपशिप में पदक जीता था। इसके बाद 2011 और 2015 में विकास कृष्णा और शिव थापा ने इस चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था।

इसे भी पढ़ें: सरकार ने की खेल पुरस्कारों की घोषणा, चेतेश्वर-हरमनप्रीत सहित इन खिलाड़ियों को मिलेंगे अवॉर्ड

विजेन्दर ने साक्षात्कार में कहा, इस बार चैंपियनशिप में काफी अनुभवी मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं। मैं भी उस टीम का हिस्सा रहा हूं जिसमें शिव थापा, विकास कृष्णा और मनोज कुमार शामिल थे। मैं उन्हें अच्छे से जानता हूं। इन खिलाड़ियों में क्षमता है कि ये देश के लिए एक से ज्यादा पदक जीत सके। अगर वे पूरी क्षमता से खेलेंगे तो मुझे लगता है कि इस बार एक से ज्यादा पदक जीतने की पूरी संभावना है।

उन्होंने कहा, इससे पहले इन खिलाड़ियों ने बड़े स्तर पर कई मुकाबलों में शानदार खेल दिखाया है और उन्हें पता है कि वहां क्या करना है। मैं उन्हें कुछ सुझाव नहीं दे सकता लेकिन उन्हें काफी एकाग्र होना होगा।

इस वर्ष एशियाई चैंपियनशिप के जरिए क्वालीफाई करने वाले विकास (75 किग्रा) और शिवा (60 किग्रा) के साथ अमित फांगल (49 किग्रा), कविन्द्र बिष्ट (52 किग्रा), गौरव बिधुड़ी (56 किग्रा), मनोज कुमार (69 किग्र), सुमित सांगवान (91 किग्रा) और सतीश कुमार (91 किग्रा से अधिक) हैम्बर्ग पहुंच चुके हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story