Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कबड्डी वर्ल्ड कपः ईरान को हराकर भारत बना विश्वविजेता

थाईलैंड को हराकर फाइनल में पहुंचा था भारत

कबड्डी वर्ल्ड कपः ईरान को हराकर भारत बना विश्वविजेता
नई दिल्ली. द एरेना बाय ट्रांसस्टेडिया पर भारत ने अपना वर्ल्ड चैंपियन का खिताब बरकरार रखते हुए ईरान की टीम को कबड्डी वर्ल्ड कप के फाइनल में हरा दिया। मैच के दूसरे हाफ तक ईरान की टीम ने मैच में भारत पर बढ़त बनाकर यहां मैच देखने आए दर्शकों की सांसें चढ़ा दीं। दूसरे हाफ तक ईरान की टीम ने भारत पर 5 अंकों की बढ़त बना कर रखी थी। इसके बाद अजय ठाकुर ने शानदार खेल दिखाते हुए भारत को मैच में वापस ला दिया। अजय ठाकुर के जबर्दस्त खेल की बदौलत भारत ने ईरान की टीम को दो बार ऑल आउट किया। मैच में बढ़त बनाने के बाद भारत के लिए प्रदीप, अनूप, सुरजीत समेत सभी खिलाड़ियों ने शानदार खेल दिखाया।

एक समय 19-14 से पिछड़ रही भारतीय टीम ने अजय ठाकुर की शानदार रेड का बाद वापसी की और एक ही बार में ईरान के दो खिलाड़ियों को बाहर कर दिया। इसके बाद भारत ने मैच में पकड़ बनाए रखी। एक वक्त पर 5 अंकों से पिछड़ रही टीम इंडिया ने स्कोर को 20-20 से बराबर कर दिया और ईरान की टीम को ऑल आउट कर मैच में 24-21 की बढ़त ले ली। मुश्किल में दिख रही भारतीय टीम ने शानदार वापसी की, तो यहां से भारत ने कोई गलती नहीं की और अंत तक पूरे मैच में बढ़त बना कर रखी।

ईरान ने टॉस जीतकर पाले में अपनी पसंद की साइड चुनी। ईरान को पहला पॉइंट हासिल करने के लिए रिव्यू का सहारा लेना पड़ा। मैच की शुरुआत से ईरान भारत से आगे रहा और उसने अपने शानदार खेल से भारत की टीम को कई बार चौंकाया। ईरानी खिलाड़ियों ने अपने बेहतरीन तालमेल से कई मौकों पर भारत के रेडर्स को सुरक्षित वापस नहीं जाने दिया। मैच के पहले हाफ में ईरान ने भारत की टीम को ऑल आउट भी कर दिया और पहला हाफ खत्म होने पर उसने टीम इंडिया पर 5 अंकों की बढ़त बना कर रखी।

एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान की टीम ने मैच में फेवरेट मानी जा रही भारतीय टीम को कड़ी चुनौती पेश की। अपनी रेड और मजबूत डिफेंस से ईरान ने जता दिया कि इस खिताब के लिए वह अपना सब कुछ झोंक देगा। ईरानी टीम मैच में पूरी तरह फोकस बनाए हुए थी और दबाव में खेल रही भारतीय टीम की छोटी-छोटी गलतियों को भी पकड़ रही थी। पहली बार कबड्डी वर्ल्ड कप का फाइनल खेल रही ईरानी टीम ने भारत पर पूरे मैच में दबाव बनाकर रखा। पर अंत में भारतीय टीम ने सर्वश्रेष्ठ खेल दिखा विश्व विजेता का खिताब फिर से अपने पास बरकरार रखा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top