Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मैच के बाद कोहली और कोच शास्त्री का बड़ा बयान, कहा- खुदा न खास्ता अगर भुवनेश्वर या बुमराह..

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार को खत्म हुई एकदिवसीय श्रृंखला में अंबाती रायुडू का चौथे स्थान पर शानदार बल्लेबाजी करना और युवा खलील अहमद के तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर सामने आना सकारात्मक चीजें रहीं।

मैच के बाद कोहली और कोच शास्त्री का बड़ा बयान, कहा- खुदा न खास्ता अगर भुवनेश्वर या बुमराह..

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार को खत्म हुई एकदिवसीय श्रृंखला में अंबाती रायुडू का चौथे स्थान पर शानदार बल्लेबाजी करना और युवा खलील अहमद के तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर सामने आना सकारात्मक चीजें रहीं।

कोहली ने मैच के बाद सम्मान समारोह में कहा- हमारे लिए दो विभागों में सुधार जरूरी था जिसमें तीसरे गेंदबाज के तौर पर खलील का शानदार प्रदर्शन करना एक है। खुदा न खास्ता अगर भुवनेश्वर (कुमार) या (जसप्रीत) बुमराह चोटिल हो गये तो खलील का होना अच्छा है जो विकेट ले सकते हैं।

रायुडू ने भी चौथे क्रम पर अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभाई है। श्रृंखला से पहले हम इन दोनों मामलों को दुरूस्त करना चाहते थे और दोनों में सफल रहे। शास्त्री भी टीम में वापसी करने के बाद रायुडू के प्रदर्शन से खुश है।

इसे भी पढ़ें: भारत ने वेस्टइंडीज को रौंदकर लगाया सीरीज का छक्का, जडेजा की फिरकी और रोहित का कमाल

उन्होनें कहा- मैं रायुडू से खुश हूं। लगभग दो वर्षों के बाद टीम में वापसी करना कभी आसान नहीं होता। कुछ मैचों में खराब प्रदर्शन से आप टीम से अपना स्थान गवां सकते है। उसने दबाव का अच्छे से सामना किया और पिछले मैच में शानदार बल्लेबाजी की।

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा

कोहली की तरह शास्त्री भी खलील के प्रदर्शन से प्रभावित दिखे लेकिन चाहते हैं कि यह खिलाड़ी खुद को कुछ और मौकों पर साबित करे। उन्होंने कहा- बायें हाथ का तेज गेंदबाज काफी किफायती हो सकता है। खलील अभी अपरिपक्व है।

उसके पास अनुभव की कमी है लेकिन विविधता और आक्रामकता की कमी नहीं है। अगर वह अपनी गति थोड़ी और बढ़ा सका तो ज्यादा असरदार होगा। शास्त्री ने कहा कि टीम घरेलू मैदान पर लगातार छठी एकदिवसीय श्रृंखला जीत कर लय में आ गयी है।

उन्होंने कहा- हम लय में आ गये हैं। मुझे लगता है कि दूसरे और तीसरे एकदिवसीय के बाद हम अच्छा नहीं खेल सके थे। कई बार आपको अच्छा करने के लिए प्रेरणा की जरूर होती है और अंतिम दो एकदिवसीय में हमने शानदार प्रदर्शन किया। वेस्टइंडीज की इस टीम में दमखम है। उनकी टीम में कुछ शानदार खिलाड़ी है जो अनुभव के साथ बड़ी टीमों को परेशान कर सकते हैं।

कप्तान विराट कोहली ने कहा

कोहली ने पिछले दो मैचों में शानदार प्रदर्शन के लिए गेंदबाजों की तारीफ की। उन्होंने कहा- उनके शानदार प्रदर्शन के कारण हम मैच को इतनी जल्दी खत्म कर पाये। गेंदबाजों को सही दिशा में गेंदबाजी करने का श्रेय जाता है।

उन्होंने कहा- इस मैच में वेस्टइंडीज के पहले बल्लेबाजी करने के फैसले से हमें हैरानी हुई। हम वैसे भी पहले गेंदबाजी करना चाहते थे।'' इस मौके पर वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डन ने टीम के प्रदर्शन पर निरंतरता की कमी पर निराशा जताई।

उन्होंने कहा- हम जिस तरह से श्रृंखला को खत्म करना चाहते थे वैसा नहीं कर सके। पिछले दो मैचों में निरंतररता की कमी रही। हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। भारत के खिलाफ उसकी सरजमीं पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को श्रेय दिया जाना चाहिए।

उनके गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन हमारे ज्यादातर खिलाड़ी खराब शॉट चयन के कारण आउट हुए। उन्होंने कहा- शिमरोन हेतमेयर और शाई होप इस श्रृंखला में वेस्टइंडीज के लिए दो अच्छे खिलाड़ी सबित हुये। ओशाने थामस ने दिखाया कि उनके पास भी क्षमता है।

Share it
Top