Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निलंबित हार्दिक पांड्या और केएल राहुल स्वदेश लौटेंगे, पिछले 82 वर्षों में दूसरी बार हुआ ऐसा

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पंड्या और केएल राहुल को शुक्रवार को टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर गई टिप्पणियों के लिए जांच लंबित होने तक निलंबित कर दिया गया। प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने यह जानकारी दी। इन दोनों क्रिकेटरों की ‘कॉफी विद करण'' कार्यक्रम में की गई आपत्तिजनक टिप्पिणयों के कारण बवाल मच गया था।

निलंबित हार्दिक पांड्या और केएल राहुल स्वदेश लौटेंगे, पिछले 82 वर्षों में दूसरी बार हुआ ऐसा
X

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पंड्या और केएल राहुल को शुक्रवार को टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर गई टिप्पणियों के लिए जांच लंबित होने तक निलंबित कर दिया गया। प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने यह जानकारी दी। इन दोनों क्रिकेटरों की ‘कॉफी विद करण' कार्यक्रम में की गई आपत्तिजनक टिप्पिणयों के कारण बवाल मच गया था। वे अभी भारतीय टीम के साथ एक दिवसीय श्रृंखला खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया में हैं लेकिन उन्हें स्वदेश लौटना होगा। इन दोनों को सिडनी में शनिवार को होने वाले पहले एक दिवसीय मैच के लिए टीम में भी नहीं चुना गया था।

IND vs AUS ist ODI Live Score: ऑस्ट्रेलिया को लगा पहला झटका, फिंच लौटे पवेलियन

राय ने कहा कि पंड्या और राहुल दोनों को जांच लंबित होने तक निलंबित किया गया है। यह फैसला तब आया जबकि सीओए में राय की साथी डायना इडुल्जी ने इन दोनों पर ‘आगे की कार्रवाई तक निलंबन' की सिफारिश की थी क्योंकि बीसीसीआई की विधि टीम ने महिलाओं पर इनकी विवादास्पद टिप्पणी को आचार संहिता का उल्लंघन घोषित करने से इनकार कर दिया है। इडुल्जी ने शुरुआत में इन दोनों को दो मैचों के लिए निलंबित करने का सुझाव दिया था लेकिन बाद में इस मामले को विधि विभाग के पास भेज दिया जबकि राय उनसे सहमत हो गए थे और निलंबन की सिफारिश कर दी थी।

इडुल्जी ने रखा निलंबन का प्रस्ताव

कानूनी टीम से राय लेने के बाद इडुल्जी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा, यह जरूरी है कि दुर्व्यवहार पर कार्रवाई का फैसला लिए जाने तक दोनों खिलाड़ियों को निलंबित रखा जाए। जैसा कि बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी के मामले में किया गया था, जब यौन उत्पीड़न के मामले में उन्हें छुट्टी पर भेजा गया था।

कोहली ने भी की निंदा

कार्यक्रम में की गई इन दोनों की टिप्पणियों की भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी निंदा की। उन्होंने इसे अनुचित बताया। पंड्या ने कार्यक्रम के दौरान कई महिलाओं के साथ संबंध होने का दावा किया और यह भी बताया कि वह इस मामले में अपने परिजनों के साथ भी खुलकर बात करता है। राहुल अपने संबंधों के बारे में जवाब देने में हालांकि अधिक संयमित दिखे

पिछले 82 वर्षों में दूसरी बार हुआ ऐसा

भारतीय क्रिकेट में खिलाड़ियों से जुड़े विवाद पहले भी होते रहे हैं लेकिन हार्दिक पंड्या और केएल राहुल का मामला पिछले 82 वर्षों में केवल दूसरी घटना है जबकि भारतीय क्रिकेटरों को दौरे के बीच स्वदेश भेजा जाएगा। वर्षों पहले 1936 में महान लाला अमरनाथ को तत्कालीन कप्तान विजयनगरम के महाराज यानि विज्जी ने एक प्रथम श्रेणी मैच के दौरान कथित अपमान के कारण भारत के इंग्लैंड दौरे के बीच से स्वदेश भेज दिया था।

विदेशी दौरों में कई बार अनुशासनात्मक मसले उठे लेकिन भारतीय क्रिकेट के इतिहास में यह पहला अवसर है जबकि बोर्ड ने कार्रवाई की और दोषी खिलाड़ियों को स्वदेश लौटने के लिये कहा। लाला अमरनाथ की विज्जी के साथ बहस मुख्य रूप से टीम की राजनीति से जुड़ी थी और आम राय रही है कि ब्रिटिश भारत के तहत एक रियासत के शासक को अपनी योग्यता नहीं बल्कि पद के कारण कप्तानी मिली थी।

ईएसपीएनक्रिकइन्फो में जुलाई 2007 में प्रकाशित एक आलेख के अनुसार अमरनाथ क्षुद्र राजनीति का शिकार हुए थे। पंड्या और राहुल का मामला एकदम से भिन्न है और उन्हें महिलाओं के लिये आपत्तिजनक टिप्पणियां करने की कीमत चुकानी पड़ रही है।

नवजोत सिंह सिद्धू

भारतीय खिलाड़ी के दौरे के बीच से स्वदेश लौटने की एक और घटना 1996 में घटी थी जब नवजोत सिंह सिद्धू कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन से तीखी बहस के बाद दौरे से हट गये थे। वह किसी को सूचित किये बिना चुपचाप निकल गये थे जिससे कमरे में उनके साथी को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण का मौका मिल गया। यह साथी कोई और नहीं बल्कि सौरव गांगुली थे जिन्होंने लार्ड्स में पदार्पण मैच में ही शतक जड़ा था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story