Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IND vs AUS 5th ODI 2019: उस्मान ख्वाजा का शतक, ऑस्ट्रेलिया ने दस साल बाद जीती भारत में श्रृंखला

IND vs AUS 5th ODI 2019: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का पांचवां और निर्णायक मुकाबला दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने पांचवें और निर्णायक मैच में भारत को 35 रन से हराकर पांच मैचों की वनडे सीरीज को 3-2 से अपने नाम कर लिया।

IND vs AUS 5th ODI 2019: उस्मान ख्वाजा का शतक, ऑस्ट्रेलिया ने दस साल बाद जीती भारत में श्रृंखला
X

IND vs AUS 5th ODI 2019 Live Score

ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा के श्रृंखला में दूसरे शतक, लेग स्पिनर एडम जंपा की शानदार गेंदबाजी तथा भारत की प्रयोगधर्मिता का पूरा फायदा उठाकर पांचवें और निर्णायक एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को 35 रन से जीत दर्ज करके दस साल बाद भारतीय सरजमीं पर वनडे श्रृंखला अपने नाम की। फिरोजशाह कोटला में केवल दो बार (1982 और 1996) ही कोई टीम 250 से अधिक का लक्ष्य सफलतापूर्वक हासिल कर पायी।

ऑस्ट्रेलिया का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला सही रहा और केवल चार विशेषज्ञ बल्लेबाजों के साथ उतरे भारत के लिये 273 रन का लक्ष्य पहाड़ जैसा बन गया। शुरू में रोहित शर्मा (89 गेंदों पर 56 रन) की अर्धशतकीय पारी तथा बाद में केदार जाधव (57 गेंदों पर 44 रन) और भुवनेश्वर कुमार (54 गेंदों पर 46 रन) ने सातवें विकेट के लिये 91 रन जोड़कर उम्मीद जगायी लेकिन भारत आखिर में 50 ओवर में 237 रन पर आउट हो गया।

जंपा ने 46 रन देकर तीन जबकि तेज गेंदबाज पैट कमिन्स, जॉय रिचर्डसन और मार्कस स्टोइनिस ने दो-दो विकेट लिये। इससे पहले ख्वाजा ने 106 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 100 रन बनाये। उन्होंने कप्तान आरोन फिंच (43 गेंदों पर 27 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 76 और पीटर हैंड्सकांब (60 गेंदों पर 52 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 99 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की।

भारत ने अच्छी वापसी की लेकिन पुछल्ले बल्लेबाजों ने अंतिम चार ओवर में 42 रन जुटाये जिससे आस्ट्रेलिया नौ विकेट पर 272 रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंच गया। आस्ट्रेलिया ने इससे पहले 2009 में भारतीय सरजमीं पर छह मैचों की श्रृंखला 4-2 से जीती थी। इस बार उसने पहले दो मैच गंवाने के बाद लगातार तीन मैच जीतकर श्रृंखला 3-2 से अपने नाम की।

यह वनडे में पांचवां अवसर है जबकि किसी टीम ने पहले दो मैच हारने के बाद श्रृंखला जीती। आस्ट्रेलिया से पहले दक्षिण अफ्रीका (दो बार), बांग्लादेश और पाकिस्तान ने यह उपलब्धि हासिल की थी। भारत ने दूसरी बार पहले दो मैच जीतने के बाद श्रृंखला गंवायी। इससे पहले 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ वह शुरुआती बढ़त का फायदा नहीं उठा पाया था। शिखर धवन (12) मोहाली की अपनी फार्म को बरकरार नहीं रख पाये।

दिल्ली का एक अन्य स्टार कोहली आक्रामक मूड में लग रहे थे। मनपसंद शाट नहीं लगने पर वह एक दो बार झल्लाये भी। ऐसे में मार्कस स्टोइनिस की अतिरिक्त उछाल वाली अपेक्षाकृत धीमी गेंद पर कट करने के प्रयास में वह विकेट के पीछे कैच दे बैठे।कोटला को सांप सूंघ गया। दिल्ली का एक बल्लेबाज पवेलियन लौट रहा था तथा एक और बल्लेबाज अपने घरेलू मैदान पर उतर रहा था।

विश्व कप 2015 के बाद नंबर चार पर कई प्रयोग करने वाली भारतीय टीम ने ऋषभ पंत (16) को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी लेकिन वह पहली परीक्षा में नाकाम रहे। जंपा पर छक्का जड़कर उत्साह जगाने वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने आफ स्पिनर नाथन लियोन की बाहर की तरफ टर्न होती गेंद पर स्लिप में कैच थमा दिया।

विजय शंकर (16) उतावलापन महंगा पड़ा तो रोहित दो जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाये। अपना 41वां अर्धशतक पूरा करने वाले यह बल्लेबाज अति उत्साही शाट लगाने के प्रयास में स्टंप आउट हो गया। जंपा ने इसी ओवर में रविंद्र जडेजा (शून्य) को भी पवेलियन भेजा।

भारत की हार जब तय लग रही थी तब जाधव ने दर्शकों में भरोसा जताया जबकि भुवनेश्वर ने अपने बल्लेबाजी कौशल का अच्छा नमूना पेश किया। इन दोनों ने दिखाया कि दबाव में सतर्कता और आक्रामकता के साथ बल्लेबाजी कैसे की जाती है। जाधव ने मैक्सवेल पर छक्का लगाया तो भुवनेश्वर ने जंपा और जॉय रिचर्डसन की गेंदें छह रन के लिये भेजकर अपनी सीटों से उठ चुके दर्शकों को बैठने के लिये मजबूर किया। लेकिन इन दोनों के लगातार गेंदों पर आउट होने से रही सही उम्मीद समाप्त हो गयी।

इससे पहले भारत ने पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला किया। जसप्रीत बुमराह (दस ओवर में 39 रन, कोई विकेट नहीं) और जडेजा (दस ओवर में 45 रन देकर दो विकेट) ने अधिक प्रभावित किया। भुवनेश्वर (दस ओवर में 48 रन देकर तीन विकेट) सबसे सफल गेंदबाज रहे, मोहम्मद शमी (नौ ओवर में 57 रन देकर दो विकेट) ने टुकड़ों में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन कुलदीप यादव (दस ओवर में 74 रन एक विकेट) ने निराश किया।

ख्वाजा का शतक, ऑस्ट्रेलिया का चुनौतीपूर्ण स्कोर

उस्मान ख्वाजा के श्रृंखला में दूसरे शतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने पारी के दूसरे चरण में लड़खड़ाने के बावजूद भारत के खिलाफ पांचवें और निर्णायक एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को नौ विकेट पर 272 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। ख्वाजा ने 106 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 102 रन बनाये। उन्होंने कप्तान आरोन फिंच (43 गेंदों पर 27 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 76 और पीटर हैंड्सकांब (60 गेंदों पर 52 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 99 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की।

ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी दस ओवर में 70 रन बनाये

ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी दस ओवर में 70 रन बनाये लेकिन इस बीच पांच विकेट भी गंवाये। अगर फिरोजशाह कोटला के रिकार्ड को देखें तो भारत के लिये लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं होगा। इस मैदान पर केवल दो अवसरों पर 250 रन से अधिक के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया गया। आाखिरी बार विश्व कप 1996 में श्रीलंका ने यह कारनामा किया था।

बादल छाये थे, मौसम सुहावना था और पिच सपाट थी। शायद इन परिस्थितियों को देखकर ही भारतीय टीम प्रबंधन ने पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला किया। मोहम्मद शमी की पहली गेंद आउटस्विंगर थी जिसे फिंच नहीं समझ पाये, लेकिन बल्लेबाज जल्द ही सहज होकर खेलने लगे।

भारत की तरफ से

भारत की तरफ से जसप्रीत बुमराह (दस ओवर में 39 रन, कोई विकेट नहीं) और रविंद्र जडेजा (दस ओवर में 45 रन देकर दो विकेट) ने अधिक प्रभावित किया। भुवनेश्वर कुमार (दस ओवर में 48 रन देकर तीन विकेट) सबसे सफल गेंदबाज रहे, शमी (नौ ओवर में 57 रन देकर दो विकेट) ने टुकड़ों में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन कुलदीप यादव (दस ओवर में 74 रन एक विकेट) ने निराश किया।

ऑस्ट्रेलिया की रणनीति

ऑस्ट्रेलिया की रणनीति साफ थी। बुमराह को संभलकर खेलना और बाकी गेंदबाजों को निशाने पर रखना। जब 14 ओवर के बाद स्कोर बिना किसी नुकसान के 73 रन था तब पांचवें गेंदबाज के रूप में जडेजा ने गेंद संभाली और उनकी तीसरी गेंद ही फिंच के बल्ले को चूमकर विकेटों में समा गयी।

आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने चारों छक्के कुलदीप पर लगाये। ख्वाजा ने इस चाइनामैन स्पिनर पर लांग आन पर दो गगनदायी छक्के जड़े। कुलदीप की एक गुगली ने जरूर हैंड्सकांब को छका दिया था लेकिन तब विकेटकीपर ऋषभ पंत भी गच्चा खा गये और गेंद चार रन के लिये चली गयी।

ऑस्ट्रेलिया बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रहा था

आस्ट्रेलिया 28 ओवर के बाद एक विकेट पर 157 रन बनाकर बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रहा था। ऐसे में विराट कोहली का बुमराह को गेंद सौंपना महत्वपूर्ण साबित हुआ। अपने पहले चार ओवर में केवल आठ रन देने वाले बुमराह ने कसी हुई गेंदबाजी जारी रखी। बुमराह ने दबाव बनाया तो भुवनेश्वर और जडेजा ने उसे भुनाया। ख्वाजा ने 102 गेंदों पर शतक पूरा किया लेकिन इसी स्कोर पर भुवनेश्वर की गेंद पर कवर में कैच दे बैठे। कोहली ने ही अगले ओवर में ग्लेन मैक्सवेल (एक) का एक्स्ट्रा कवर पर कैच लेकर दर्शकों में जोश भरा।

शमी अपना तीसरा स्पैल करने के लिये आये। उनकी तेजी से उठती गेंद को हैंडसकांब नहीं समझ पाये जो उनके बल्ले को चूमकर विकेट के पीछे गयी और इस बार पंत ने कोई गलती नहीं की। हैंड्सकांब ने इससे पहले वनडे में अपना चौथा अर्धशतक पूरा किया। मोहाली के नायक एश्टन टर्नर (20) ने चौके से शुरुआत की। उन्होंने कुलदीप पर मिडविकेट पर सीधा छक्का जमाया लेकिन गेंदबाज ने जल्द ही बदला चुकता कर दिया।

टर्नर ने गुगली को हवा में लहराया जिसे जडेजा ने सीमा रेखा पर कैच कर दिया। इसके बाद भुवनेश्वर ने मार्कस स्टोइनिस (20) और शमी ने एलेक्स कैरी (20) को पवेलियन भेजा। जॉय रिचर्डसन (29) और पैट कमिन्स (15) ने 48वें ओवर में बुमराह पर 19 रन बटोरकर उनका गेंदबाजी विश्लेषण बिगाड़ा और स्कोर 250 रन के पार पहुंचाया। भा

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने भारत के खिलाफ पांचवें और अंतिम एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। भारत ने अंतिम एकादश में युजवेंद्र चहल की जगह रविंद्र जडेजा को और लोकेश राहुल की जगह मोहम्मद शमी को उतारा है। ऑस्ट्रेलिया ने टीम में दो बदलाव किए हैं। शान मार्श की जगह मार्कस स्टोइनिस और जेसन बेहरनडोर्फ की जगह नाथन लियोन खेलेंगे।

इस समय पांच मैचों की वनडे सीरीज 2-2 से बराबर है। पहले मैच को भारत ने छह विकेट से जीता था जबकि दूसरे वनडे में बेहद नजदीकी मुकालबे में आठ रन की रोमांचक जीत मिली थी। वहीं दूसरी तरफ तीसरे वनडे को ऑस्ट्रेलिया ने 32 रन से जीता था। जबकि चौथे वनडे को ऑस्ट्रेलिया ने 4 विकेट से जीतकर सीरीज में बराबरी कर ली।

IND vs AUS 5th ODI 2019 Live Streaming: जानें मोबाइल और टीवी पर कब, कहां और कैसे देखें भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया 5वां वनडे लाइव स्ट्रीमिंग

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया वनडे रिकॉर्ड (IND vs AUS 5th ODI 2019)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अबतक 135 वनडे मैच खेले जा चुके हैं। जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने 76 मैचों में जीत हासिल की है। जबकि भारत को 49 मैचों में जीत मिली है। दोनों टीमों के बीच खेले गए दस वनडे मैचों का कोई परिणाम नहीं निकला है।

फिरोज शाह कोटला में रिकॉर्ड (IND vs AUS 5th ODI 2019)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तक दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर 4 वनडे मैच खेले जा चुके हैं। जिसमें से भारतीय टीम को तीन मैचों में जीत मिली है जबकि ऑस्ट्रेलियाई टीम महज एक ही मैच जीतने में कामयाब हो पाई है। भारत ने दिल्ली में सभी टीमों के खिलाफ 1983 से 2017 के बीच कुल 19 वनडे मैच खेले हैं। जिसमें भारत को 12 मैचों में जीत मिली है। कोटला में 20 अक्टूबर 2017 को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए आखिरी मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था।

भारत ने जीते- 12 मैच

पहले बल्लेबाजी करते हुए जीते- 7 मैच

लक्ष्य का पीछा करते हुए जीते- 5 मैच

कुल मैच-24

पहले बल्लेबाजी करते हुए जीते- 11

लक्ष्य का पीछा करते हुए जीते- 12

पहली पारी का औसत स्कोर- 233

दूसरी पारी का औसत स्कोर- 211

उच्चतम कुल स्कोर - 330/8 (50 ओवर) वेस्टइंडीज बनाम नीदरलैंड

न्यूनतम कुल स्कोर - 115/10 (31.3 ओवर) नीदरलैंड बनाम वेस्टइंडीज

उच्चतम स्कोर का पीछा - 281/4 (40.5 ओवर) भारत बनाम श्रीलंका

सबसे कम स्कोर का बचाव - 67/10 (43.4 ओवर) भारत बनाम पाकिस्तान

भारत (IND vs AUS 5th ODI 2019)

भारत ने आखिरी मैच में चार बदलाव किए और वे उसी टीम के साथ जारी रह सकते हैं। पिछले मैच में खेलने वाले सभी खिलाड़ी को एक और मौका मिल सकता है। आखिरी मैच निर्णायक हो गया है ऐसे में टीम मैनेजमेंट किसी भी प्रमुख खिलाड़ियों को आराम देने से परहेज करेगा।

विराट कोहली के बाद केएल राहुल नंबर चार पर बल्लेबाजी करने आ सकते हैं जबकि पिछले मैच में महंगे साबित हुए भुवी को भी लय में आने की जरूरत है। युजवेंद्र चहल भी फिरोजशाह कोटला में अपना शानदार प्रदर्शन करना चाहेंगे। मोहम्मद शमी की भी टीम में वापसी हो सकती है।

IND vs AUS 5th ODI 2019: 'करो या मरो' मैच में श्रृंखला जीतने पर होगी भारत की निगाह

ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS 5th ODI 2019)

ऑस्ट्रेलियाई टीम अब अचानक शानदार प्रदर्शन से खुश होगा। पिछले मैच में एश्टन टर्नर ने एक मैच विनिंग पारी खेली, उसे चोटिल मार्कस स्टोइनिस की जगह टीम में शामिल किया गया था। हालांकि स्टोइनिस के फिट होने के बाद यह देखा जाना बाकी है कि किसे बाहर बैठाया जाता है। मौजूदा फॉर्म को देखते हुए शॉन मार्श को बाहर बैठना पड़ सकता है।

पीटर हैंड्सकॉम्ब और उस्मान ख्वाजा भी अच्छी फॉर्म में हैं जो ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए एक अच्छी खबर है। नाथन लियोन स्पिन पिच को देखते हुए लौट सकते हैं और जेसन बेहरेनडॉर्फ को बाहर बैठना पड़ सकता है।

दोनों टीमों की प्लेइंग 11 इस प्रकार है

भारत: रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली (कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), केदार जाधव, विजय शंकर, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह

ऑस्ट्रेलिया: एरोन फिंच (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, पीटर हैंड्सकॉम्ब, मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल, एश्टन टर्नर, एलेक्स केरी (विकेटकीपर), झे रिचर्डसन, पैट कमिंस, एडम जम्पा, नाथन लियोन

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story