Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इंग्लैंड को हराकर ऑस्ट्रेलिया ने चौथी बार जीता वर्ल्ड T20 का खिताब

स्पिनरों के फिरकी के जादू के बाद बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन से ऑस्ट्रेलिया ने सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में एकतरफा फाइनल में इंग्लैंड को आठ विकेट से हराकर चौथी बार महिला विश्व टी20 खिताब जीत लिया।

इंग्लैंड को हराकर ऑस्ट्रेलिया ने चौथी बार जीता वर्ल्ड T20 का खिताब

स्पिनरों के फिरकी के जादू के बाद बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन से ऑस्ट्रेलिया ने सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में एकतरफा फाइनल में इंग्लैंड को आठ विकेट से हराकर चौथी बार महिला विश्व टी20 खिताब जीत लिया।

लगातार पांचवीं बार फाइनल में खेल रहे ऑस्ट्रेलिया ने ऑफ स्पिनर एशलेग गार्डनर (22 रन पर तीन विकेट) और लेग स्पिनर जार्जिया वेयरहैम (11 रन पर दो विकेट) की बदौलत इंग्लैंड को 19.4 ओवर में 105 रन पर ढेर कर दिया। तेज गेंदबाज मेगान शुट ने भी 13 रन देकर दो विकेट चटकाए।

इसे भी पढ़ें: मैरी कॉम ने रिकॉर्ड छठी बार जीता विश्व कप का खिताब, PM नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई

ऑस्ट्रेलिया ने इसके जवाब में 44 रन तक दोनों सलामी बल्लेबाजों एलिसा हीली (22) और बेथ मूनी (14) के विकेट गंवा दिए थे लेकिन गार्डनर (नाबाद 33) और कप्तान मेग लेनिंग (नाबाद 28) के बीच तीसरे विकेट की 62 रन की अटूट साझेदारी की बदौलत 15.1 ओवर में ही टीम ने दो विकेट पर 106 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की।

गार्डनर को उनके ऑलराउंडर प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज एलिसा को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया। एलिसा ने टूर्नामेंट में सर्वाधिक 225 रन बनाने के अलावा चार स्टंपिंग और चार कैच से आठ शिकार भी किए। टूर्नामेंट में उनसे अधिक शिकार सिर्फ भारत की तानिया भाटिया ही कर सकी जिन्होंने दो कैच और नौ स्टंपिंग से 11 शिकार किए।

विश्व क्रिकेट चैंपियनशिप में ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड से कभी नहीं हारा

ऑस्ट्रेलिया को कभी किसी महिला विश्व क्रिकेट चैंपियनशिप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ शिकस्त का सामना नहीं करना पड़ा है और यहां भी यह रिकॉर्ड बरकरार रहा है।

इंग्लैंड को इस क्रम को तोड़ने के लिए अब कम से कम 2020 में होने वाली अगली विश्व चैंपियनिशप का इंतजार करना होगा। सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेल गया यह फाइनल 2014 में बांग्लादेश के मीरपुर में खेले गए विश्व टी20 फाइनल की काफी हद तक पुनरावृत्ति रहा।

मीरपुर में भी इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट पर 105 रन ही बना सकी थी और तब भी आस्ट्रेलिया ने 15 .1 ओवर में चार विकेट पर 106 रन बनाकर जीत दर्ज की थी।

इंग्लैंड का दूसरी बार खिताब जीतने का सपना टूट गया

इससे पहले इंग्लैंड की ओर से सलामी बल्लेबाज डेनियल वाट (43) और कप्तान हीथर नाइट (25) ही ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों का टिककर सामना कर सकीं। डेनियल और हीथर के अलावा इंग्लैंड की और कोई बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच पाई जिससे इंग्लैंड का दूसरी बार विश्व टी20 खिताब जीतने का सपना टूट गया। इंग्लैंड ने 2009 में अपनी सरजमीं पर हुए पहले महिला विश्व टी20 का खिताब फाइनल में न्यूजीलैंड को हराकर जीता था।

Share it
Top