Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरभजन सिंह मेरा सबसे बड़ा दुश्मन थाः रिकी पोंटिंग

रिकी पोंटिंग ने भारतीय बल्लेबाज और टेस्ट कप्तान विराट कोहली की भी जमकर तारीफ की

हरभजन सिंह मेरा सबसे बड़ा दुश्मन थाः रिकी पोंटिंग
नई दिल्ली पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट कप्तान रिकी पोंटिंग ने एक समय क्रिकेट के मैदान पर उनके सबसे बड़े दुश्मन रहे भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह की जमकर तारीफ की है। उन्होंने बताया कि हरभजन उनके दुश्मन नंबर 1 थे और उन्हें आज भी भज्जी के बारे में बुरे सपने आते हैं। बता दें कि हरभजन सिंह ने किसी भी अन्य गेंदबाज के मुकाबले रिकी पोंटिंग को टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 10 बार आउट किया है।

पत्रकारों से बात करते हुए पोंटिंग ने कहा, 'जब में भारत के खिलाफ खेलता था तो हरभजन सिंह मेरे कट्टर दुश्मन थे। मुझे आज भी उनके बुरे सपने आते हैं।' ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को उनके गृहराज्य तस्मानिया ने अपना ब्रांड अम्बेस्डर बनाया है। वे भारत में अपने गृहराज्य के उच्चस्तरीय व्यावसायिक संबधों और शिक्षा से संबंधित कार्यों को बढ़ावा देने के लिए आए हैं।

रिकी पोंटिंग ने भारतीय बल्लेबाज और टेस्ट कप्तान विराट कोहली की भी जमकर तारीफ की और कहा कि वे बहुत ही कुशल और टैलेंटेड खिलाड़ी हैं। जब उनसे मौजूदा दौर के सर्वोत्तम बल्लेबाज के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'सच बताऊं तो मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं तो इन सबको बस खेलते हुए देखना पसंद करता हूं।'

उन्होंने कहा, 'कोहली के पक्ष में उनकी उम्र है। अब तक का उनका एकदिवसीय करियर अविश्वसनीय है। हम यह भी जानते हैं कि उन्होंने पिछले साल क्या किया (चार शतक लगाए)। वह अति कुशल और प्रतिभावन खिलाड़ी हैं। सबसे बड़ी बात तो यह है कि उनके पास बेस्ट बनने व हर संभव तरीके अपने देश का नेतृत्व करने के लिए एटिट्यूड भी है।'

पोंटिंग ने कहा, 'स्मिथ और विलियमसन भी कोहली की तरह ही उसी नाव पर सवार हैं। इनमें से जो भी मानसिक रूप से मजबूत होगा, वह सर्वश्रेष्ठ होगा।'

उन्होंने मौजूदा भारतीय कोच अनिल कुंबले के बारे में भी अच्छी बातें कहीं। उन्होंने कहा, 'वे क्रिकेट के दिग्गजों में से एक हैं। उन्होंने खिलाड़ी और कप्तान दोनों रूपों में बड़ी सफलताएं हासिल की हैं। मुझे उनके साथ मुंबई इंडियंस के लिए काम करने का मौका मिला। उन्हें क्रिकेट के खेल की बहुत अच्छी समझ है।' हालांकि उन्होंने कोच के तौर पर कुंबले के भविष्य पर किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top