Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विश्व कप के इतिहास में अर्जेंटीना के खिलाफ पहली बार जीता फ्रांस, 4-3 से हराया

फीफा विश्व कप 2018 के अंतिम 16 के रोचक मुकाबले में फ्रांस ने 4-3 से जीत दर्ज कर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

विश्व कप के इतिहास में अर्जेंटीना के खिलाफ पहली बार जीता फ्रांस, 4-3 से हराया
X
फ्रांस ने किलियाने एमबापे के तेज तर्रार खेल और दो शानदार गोल की बदौलत अर्जेंटीना की रक्षा पंक्ति की कमियों को उजागर करते हुए शनिवार को यहां विश्व कप अंतिम 16 के रोचक मुकाबले में 4-3 से जीत दर्ज कर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।
मैदान पर एमबापे (टूर्नामेंट के तीन गोल) ने अपनी आक्रामकता से सभी को प्रभावित किया जो टीम को स्पाट किक दिलाने में भी अहम रहे जिनकी बदौलत टीम पहले हाफ में खतरनाक दिख रही थी, हालांकि गेंद पर कब्जे के मामले में अर्जेंटीना आगे रही।
अपने स्टार स्ट्राइकर एंटोइन ग्रिजमान की बदौलत फ्रांस ने 13वें मिनट में पेनल्टी गोल से 1-0 से बढ़त हासिल कर ली थी लेकिन अर्जेंटीना ने 41वें मिनट में एंजेल डि मारिया ने 35 गज की दूरी से खूबसूरत गोल कर टीम पर से दबाव कम कर स्कोर पहले हाफ में 1-1 बराबर कर दिया।
दूसरे हाफ की शुरुआत अर्जेंटीना के लिए खुशियां लेकर आयी जब कप्तान लियोनल मेस्सी के शाट को 48वें मिनट में गैब्रियल मर्काडो ने नेट में पहुंचाया।
हालांकि उनकी यह खुशी कुछ देर ही टिक सकी और बेंजामिन पवार्ड के 57वें मिनट में किए गोल से दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर आ गयीं। एमबापे (19 वर्ष) फिर फ्रांस के लिए खेवनहार निकले जिन्होंने 64वें मिनट और फिर 68वें मिनट में दो गोल कर फ्रांस को 4-2 से आगे कर दिया।
एम्बाप्पे विश्व कप के नॉकआउट मैच में दो गोल करने वाले 20 साल से कम उम्र के दूसरे खिलाड़ी बने। इससे पहले ब्राजील के पेले ने 1958 में स्वीडन के खिलाफ ऐसा किया था। वहीं, अर्जेंटीना के कप्तान मेसी विश्व कप के मैच में अपने देश के लिए दो गोल एसिस्ट करने वाले दूसरे खिलाड़ी बने।
इससे पहले डिएगो मैराडोना ने 1986 में दक्षिण कोरिया के खिलाफ ऐसा किया था। एंजेल डी मारिया ने इस विश्व कप में सबसे ज्यादा दूरी से गोल किया।
उन्होंने 41वें मिनट में 27.61 मीटर की दूरी से गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया। डी मारिया का ये दूसरा विश्व कप गोल है। इससे पहले 2014 में उन्होंने स्विट्जरलैंड के खिलाफ प्री-क्वार्टर फाइनल में ही गोल किया था।

पहला गोलः ग्रीजमैन का कमाल

11वें मिनट में अर्जेंटीना के मार्कोस रोजो ने फ्रांस के कीलियन एमबाप्पे को गिरा दिया। इस पर रेफरी ने रोजो को यलो कार्ड दिखाया और फ्रांस के पक्ष में पेनल्टी दे दी। 13वें मिनट में फ्रांस के एंटोनी ग्रीजमैन ने पेनल्टी पर शॉट लेकर उसे गोल में बदल दिया।

दूसरा गोलः 25 गज से गोल

41वें मिनट में अर्जेंटीना के एंजल डि मारिया ने 25 गज की दूरी से अपने बाएं पैर से गेंद को गोलपोस्ट का रास्ता दिखाया। फ्रांस के गोलकीपर हुगो लोरिस के पास इतना मौका नहीं था कि वे इसे रोक पाते।

तीसरा गोलः मेस्सी की पास से बढ़त

48वें मिनट में लियोनेल मेस्सी ने इनसाइड एरिया में शॉट मारा। गेंद उनके साथ गैब्रिएल मर्काडो के पास पहुंची। मर्काडो ने इसे गोल की ओर मोड़ दिया और लोरिस जब तक कोशिश करते गेंद गोलपोस्ट में पहुंच चुकी थी।

चौथा गोलः हर्नान्डेज का पहला गोल

57वें मिनट में लुकास हर्नान्डेज के क्रास पर फ्रांस के बेंजामिन पवार्ड ने गोल किया। यह उनका विश्व कप और अंतरराष्ट्रीय स्तर का पहला गोल है।

पांचवां गोलः एमबाप्पे का टर्निंग प्वाइंट

64वें मिनट में फ्रांको अरमानी के पास पर कीलियन एमबाप्पे ने गोल कर फ्रांस को मैच में 1 गोल से आगे कर दिया। यही मैच का टर्निंग प्वाइंट भी रहा। इसके बाद से अर्जेंटीना की टीम बिखरी-बिखरी नजर आई।

छठा गोलः चार मिनट में दूसरा गोल

68वें मिनट में ओलिवियर गिरोड के पास से कीलियन एमबाप्पे ने शॉट लिया और अर्जेंटीना के गोलकीपर फ्रांको अरमानी उसे गोलपोस्ट में जाने से नहीं रोक सके।

सातवां गोलः एग्युरो का दनदनाता शॉट

(90+3)वें मिनट में अर्जेंटीना के सर्जियो एग्युरो ने बहुत दूर से गेंद को लाते हुए उसे गोलपोस्ट में पहुंचा दिया। उन्होंने इतनी तेजी से शॉट लिया था कि फ्रांस के हुगो लोरिस को उसे रोकना नामुमकिन था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story