Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Jacob Martin: जिंदगी की जंग लड़ रहा ये पूर्व भारतीय क्रिकेटर, हॉस्पिटल ने बंद कर दी थीं दवाएं, BCCI ने बढ़ाया मदद का हाथ

पिछले महीने सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के बाद भारत के पूर्व बल्लेबाज जैकब मार्टिन (Jacob Martin) गंभीर हालत में हैं, जो अपने इलाज के लिए धन जुटाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। एक समय पर अस्पताल ने दवाएं देना बंद कर दिया था।

Jacob Martin: जिंदगी की जंग लड़ रहा ये पूर्व भारतीय क्रिकेटर, हॉस्पिटल ने बंद कर दी थीं दवाएं, BCCI ने बढ़ाया मदद का हाथ

Jacob Martin on Life Support Yusuf Pathan BCCI

पिछले महीने सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के बाद भारत के पूर्व बल्लेबाज जैकब मार्टिन (Jacob Martin) गंभीर हालत में हैं, जो अपने इलाज के लिए धन जुटाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। द टेलीग्राफ के अनुसार मार्टिन की पत्नी खयाती (Khyati) ने बीसीसीआई से मदद मांगी थी।

उसने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी को एक पत्र लिखा जिसमें बताया कि उनके इलाज पर प्रति दिन 70,000 रुपये का खर्च आ रहा है। जिसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि बीसीसीआई ने 5 लाख और बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने 3 लाख की सहायता राशि दी है।

VIDEO: एक्ट्रेस का बड़ा खुलासा, रोहित शर्मा का मेरे साथ था शारीरिक संबंध, पहली मीटिंग में ही किया था KISS

भारत के पूर्व क्रिकेटर जैकब मार्टिन 28 दिसंबर को एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। रिपोर्ट्स के अनुसार उन्हें लीवर और फेफड़ों में चोट लगी है। इस समय वह वडोदरा के एक अस्पताल में लाइफ सपोर्ट पर हैं।

युसूफ पठान ने लिखा

भारतीय क्रिकेटर युसूफ पठान ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि भारत के पूर्व क्रिकेटर और पूर्व-बड़ौदा कोच जैकब मार्टिन से मुलाकात की जो एक दुर्घटना के बाद अस्पताल में हैं। उन्होंने लिखा कि आप भगवान से आपके लिए प्रार्थना हूँ कि जल्द ठीक हो जाओ।

हॉस्पिटल ने बंद कर दी थीं मार्टिन की दवाएं

बड़ौदा क्रिकेट संघ के एक अधिकारी के मुताबिक जब हमें पता चला तो तुरन्त मार्टिन (Jacob Martin) की मदद की गई। उन्होंने कहा कि अस्पताल का बिल पहले ही 11 लाख रुपये से ऊपर हो गया है और एक समय पर अस्पताल ने भी दवाएं देना बंद कर दिया था। बीसीसीआई (BCCI) ने इसके बाद पैसा भेजा और इलाज नहीं रुका।

जैकब मार्टिन का करियर

बता दें कि जैकब मार्टिन ने 1999 में वेस्टइंडीज के खिलाफ एकदिवसीय मैच में डेब्यू किया और देश के लिए 10 वनडे खेले। उन्होंने 138 प्रथम श्रेणी मैचों में 47 के औसत से 9192 रन बनाए। उन्होंने घरेलू क्रिकेट में बड़ौदा और रेलवे का प्रतिनिधित्व किया है। और उन्होंने आखिरी प्रथम श्रेणी मैच दिसंबर 2009 में खेला था। मार्टिन ने अपनी कप्तानी में एक बार बड़ौदा को रणजी का खिताब भी दिलाया है। मार्टिन बड़ौदा के कोच भी रह चुके हैं। बतातें चलें कि 2011 में मार्टिन को दिल्ली पुलिस ने मानव तस्करी के एक मामले में गिरफ्तार भी किया था।

Share it
Top