Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

FIFA World Cup 2018: ब्राजीली पत्नी, अर्जेंटीना के फैन हैं पति, फीफा वर्ल्ड कप में रोज एक सुखी-एक दुखी

कोच्चि में रहने वाले पी जे जॉर्ज की पत्नी जूलियाना बताती हैं कि अर्जेंटीना और ब्राजील के बीच होनेवाले मैच का रोमांच भारत और पाकिस्तान के बीच होनेवाले क्रिकेट मैच जैसा ही होता है।

FIFA World Cup 2018: ब्राजीली पत्नी, अर्जेंटीना के फैन हैं पति, फीफा वर्ल्ड कप में रोज एक सुखी-एक दुखी
X

कोच्चि। बहुत साल पहले की बात है कोच्चि में रहने वाले पी जे जॉर्ज जो कि ब्राजील के फैन थे उनके घर एक लड़के का जन्म हुआ। जॉर्ज ब्राजील के जाने-माने खिलाड़ी जीको के दीवाने थे, इसलिए उन्होंने अपने बेटे का नाम उन्हीं से मिलता जुलता 'सीको' रख दिया।

लेकिन बड़ा होकर वह लड़का डियेगो मेराडोना का फैन बन गया और अब तक अर्जेंटीना का सपॉर्ट कर रहा है। यहां तक सब ठीक था, परेशानी तब बढ़ी जब सीको ने शादी भी एक ब्राजील की लड़की से कर ली। अब फीफा वर्ल्ड कप के वक्त सीको के घर के बाहर ब्राजील का झंडा लगा है, ब्राजील के फैंस का घर में आना जाना है, लेकिन सीको चाहकर भी कुछ नहीं कर सकते।

हालांकि, टीमों के समर्थन को लेकर पति-पत्नी का मतभेद कभी इनके रिश्ते पर हावी नहीं हुआ। इन दोनों की मुलाकात उस वक्त हुई थी जब सीको एक तेल कंपनी में काम करते थे, उस वक्त जूलियाना एक बैंक में थीं। दोनों ने 2016 में शादी की थी, उसके बाद जूलियाना केरल आकर सीको के साथ ही रहने लगीं।

फिलहाल सीको भी यहीं रहकर काम कर रहे हैं। जब से जूलियाना केरल आकर बसी हैं, आसपास के ब्राजील के फैन्स ने उन्हें अपना लीडर मान लिया है। उनके घर पर ब्राजील के झंडे तक लगा दिए गए हैं। इससे अर्जेंटीना के फैन यानी जूलियाना के पति सीको पर कुछ दबाव तो बन ही रहा है।

अर्जेंटीना-ब्राजील, भारत-पाक जैसे मैच

जूलियाना बताती हैं कि अर्जेंटीना और ब्राजील के बीच होनेवाले मैच का रोमांच भारत और पाकिस्तान के बीच होनेवाले क्रिकेट मैच जैसा ही होता है। जूलियाना के लिए एक परिवार में अलग-अलग टीम के लिए समर्थक देखना नया नहीं है।

इस बारे में वह बताती हैं, 'मेरी मां इटली की थीं, लेकिन मेरा जन्म ब्राजील में हुआ, इसलिए मैं ब्राजील की हूं।' हालांकि, जूलियाना ब्राजील में अपने करीबियों से यह बात छिपाकर रखने की कोशिश करती हैं कि सीको अर्जेंटीना के फैन हैं।

कैब लेते वक्त होती है दिक्कत

जूलियाना बताती हैं कि ब्राजील में सीको के लिए कैब लेने में काफी दिक्कत होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि वहां कोई अपने फुटबॉल लीजेंड के नाम पर अपने बच्चों के नाम नहीं रखता। ऐसे में जब कैब ड्राइवर 'सीको' सुनते हैं तो उन्हें लगता है कि फुटबॉलर जीको ने कैब बुक की है, जिससे वे खुश हो जाते हैं। फिर जूलियाना उनका उत्साह यह कहकर शांत कर देती हैं कि यहां ब्राजील के जीको की नहीं के भारत के सीको की बात हो रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story