Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

FIFA World Cup 2018: जापान ने कोलंबिया को हराकर रचा इतिहास, बनी पहली एशियाई टीम

युया ओसाको के गोल की मदद से जापान ने फीफा विश्व कप में कोलंबिया को 2-1 से हरा दिया और टूर्नामेंट में किसी दक्षिण अमेरिकी टीम को हराने वाली पहली एशियाई टीम बन गई।

FIFA World Cup 2018: जापान ने कोलंबिया को हराकर रचा इतिहास, बनी पहली एशियाई टीम
X

युया ओसाको के गोल की मदद से जापान ने फीफा विश्व कप में कोलंबिया को 2-1 से हरा दिया और टूर्नामेंट में किसी दक्षिण अमेरिकी टीम को हराने वाली पहली एशियाई टीम बन गई। ओसाको ने 73वें मिनट में विजयी गोल दागा।

इसके साथ ही जापान ने ब्राजील में 2014 में हुए विश्व कप में कोलंबिया के हाथों ग्रुप चरण में 4-1 से मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया। कोलंबिया ने 86 मिनट तक दस खिलाड़ियों के साथ खेला।

चार साल पहले एक भी मैच नहीं जीत सकी जापानी टीम की शुरूआत बेहतरीन रही जबकि मुख्य कोच अकिरा निशिनो की नियुक्ति अप्रैल में ही की गई थी। ग्रुप एच के इस मुकाबले में आक्रामक शुरूआत देखने को मिली। कोलंबिया के डिफेंडर कार्लोस सांचेस को इस विश्व कप का पहला लालकार्ड चौथे ही मिनट में मिला।

शिंजी कगावा के छठे मिनट में पेनल्टी पर किये गोल की मदद से जापान ने बढत बना ली। जुआन किंतेरो ने हाफटाइम से ठीक पहले कोलंबिया के लिये बराबरी का गोल किया। हाफटाइम तक स्कोर बराबर था।

पिछले विश्व कप में सर्वाधिक गोल करने वाले जेम्स रौद्रिगेज ने आखिरी आधे घंटे खेल लेकिन गोल नहीं कर सके। ओसाको के गोल के साथ ही मैदान पर भारी तादाद में जुटे कोलंबियाई समर्थकों को मानों सांप सूंघ गया।

इससे पहले सांचेस को जापान के पहले हमले पर ओसाको को हाथ उठाकर बाधा पहुंचाने के लिये लालकार्ड मिला। विश्व कप के इतिहास में यह दूसरा सबसे तेज लालकार्ड था। इससे पहले मैक्सिको में 1986 विश्व कप में स्काटलैंड के खिलाफ उरूग्वे के जोस बतिस्ता को 52वें सेकंड में ही लालकार्ड मिल गया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story