Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फीफा वर्ल्ड कप में पहली बार होगी VIDEO रेफरिंग

फुटबॉल के अंदर और बाहर से हो रहे विरोध के बावजूद रूस में इस साल होने वाले विश्व कप में वीडियो सहायक रेफरी प्रौद्योगिकी (वार) का उपयोग किया जाएगा।

फीफा वर्ल्ड कप में पहली बार होगी VIDEO रेफरिंग
X

फुटबॉल के अंदर और बाहर से हो रहे विरोध के बावजूद रूस में इस साल होने वाले विश्व कप में वीडियो सहायक रेफरी प्रौद्योगिकी (वार) का उपयोग किया जाएगा। फीफा अध्यक्ष जियानी इन्फेनटिनो ने यह जानकारी दी। इन्फेनटिनो ने शुक्रवार को फीफा परिषद की बैठक के बाद कहा- ‘पहली बार 2018 में विश्व कप में ‘वार' का उपयोग किया जाएगा। इसको मंजूरी मिल गई है और हम वास्तव में इस फैसले से बहुत खुश हैं।

‘वार' लाल कार्ड को लेकर भी फैसला करेगी

फुटबॉल के नियमों से जुड़े अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल संघ बोर्ड (आईएफएबी) ने दो सप्ताह पहले ही ज्यूरिख में इस प्रौद्योगिकी को हरी झंडी दिखा दी थी और फीफा परिषद ने उसे अंतिम मंजूरी दी। विश्व कप 14 जून से 15 जुलाई के बीच रूस में खेला जाएगा। इस दौरान इस प्रौद्योगिकी (वार) का उपयोग यह पता करने के लिए किया जाएगा कि गोल हुआ या नहीं और पेनल्टी देनी चाहिए या नहीं। इसके अलावा ‘वार' लाल कार्ड को लेकर भी फैसला करेगी और अगर किसी खिलाड़ी को गलती से सजा मिल गई है तो उसमें सुधार करेगी।

इसे भी पढ़े: टीम इंडिया का कार्यक्रम हुआ तय, पहला डे-नाईट टेस्ट मैच भी खेलेगा

1000 मैचों में आजमाया

‘वार' का 2016 से 20 महासंघों ने प्रयोग के तौर पर उपयोग किया। इनमें जर्मन बुंडेसलिगा और इटली की सेरी ए भी शामिल है। अब तक लगभग 1000 मैचों में इसे आजमाया जा चुका है। वैश्विक तौर पर हालांकि इस प्रौद्योगिकी को समर्थन नहीं मिला और यहां तक कि यूरोपीय फुटबाल संस्था यूएफा भी अभी इसको लेकर पूरी तरह से आश्वस्त नहीं है।

यूएफा के अध्यक्ष अलेक्सांद्र सेफरिन ने कहा, ‘कोई नहीं जानता कि वार कैसे काम करेगी। पहले ही काफी भ्रम है। मैं इसके खिलाफ नहीं हूं लेकिन जब इसका उपयोग किया जाएगा तो हमें इसके बारे में बेहतर पता होना चाहिए। हम विश्व कप में देखेंगे।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story