Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

FIFA वर्ल्ड कप 2018: मैक्सिको को 2-0 से हराकर अंतिम 8 में पहुंचा ब्राजील

नेमार और ब्राजील ने आज यहां मैक्सिको के खिलाफ अपना असली रंग दिखाया जिससे पांच बार की चैंपियन ने 2-0 की जीत दर्ज करके शान से विश्व कप 2018 के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

FIFA वर्ल्ड कप 2018: मैक्सिको को 2-0 से हराकर अंतिम 8 में पहुंचा ब्राजील
X

लीग चरण में लय हासिल करने के लिये जूझ रहे नेमार और ब्राजील ने आज यहां मैक्सिको के खिलाफ अपना असली रंग दिखाया जिससे पांच बार की चैंपियन ने 2-0 की जीत दर्ज करके शान से विश्व कप 2018 के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

ब्राजील को शुरू में लय हासिल करने के लिये इंतजार करना पड़ा लेकिन जब उसके पांवों का जादू चलने लगा तो फिर पिछले चैंपियन जर्मनी को हराकर सुर्खियां बटोरने वाले मैक्सिको के पास उसका कोई जवाब नहीं था।

नेमार ने 51वें मिनट में पहला गोल दागा जबकि स्थानापन्न राबर्टो फर्मिंगो ने 88वें मिनट में ब्राजील की बढ़त दोगुनी की। अगर मैक्सिको के गोलकीपर गुलेरमो ओचोआ ने कुछ अच्छे बचाव नहीं किये होते तो ब्राजील की जीत का अंतर इससे अधिक होता।

ये भी पढ़ेः दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष बने रजत शर्मा, जानें कितने वोटों से जीते

ब्राजील ने लगातार सातवीं बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनायी जबकि मैक्सिको लगातार सातवीं बार अंतिम-16 से आगे बढ़ने में नाकाम रहा। ब्राजील क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम और जापान के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेगा।

ब्राजील पहले हाफ के अंतिम 20 मिनटों में हावी रहा और दूसरे हाफ में अपना आक्रामक रवैया बरकरार रखा। नेमार भी गोल करने में सफल रहे। विलियन ने बायें छोर से मैक्सिको के लिये परेशानी खड़ी की।

उन्होंने गोलमुख के पास नीचे रहता हुआ क्रास दिया जिस पर गैब्रियल जीसस चूक गये लेकिन नेमार मुस्तैद थे और उन्होंने गेंद को गोल के हवाले करने में कोई गलती नहीं की। नेमार ने इसके बाद दूसरा गोल करने में भी अहम भूमिका निभायी।

वह बायें छोर से गेंद संभालकर आगे बढ़े और गोल की तरफ नीचा रहता हुआ शाट जमाया जिसे ओचोआ ने रोकने की कोशिश की लेकिन फर्मिंगो तैयार थे जिन्होंने उसे गोल के हवाले किया। दोनों टीमों ने आक्रामक शुरुआत की लेकिन पहले 20 मिनट में मैक्सिको अधिक आत्मिवश्वास और लय में दिखा।

इस बीच दोनों टीमों को मौके भी मिले लेकिन मैक्सिको के हिरविंग लजानो और ब्राजील के नेमार दोनों इन्हें नहीं भुना पाये। ब्राजील की टीम ने धीरे धीरे लय पकड़ी। नेमार के पास 25वें मिनट में अच्छा मौका था लेकिन मैक्सिको के गोलकीपर ओचोआ ने आगे आकर बड़ी खूबसूरती से उनका यह प्रयास विफल कर दिया।

मैक्सिको की टीम पहले हाफ के अंतिम क्षणों में प्रभावहीन दिखी। उसके खिलाड़ी जूझते हुए नजर आए। इस बीच ब्राजील ने अपने नैसर्गिक खेल दिखाया। फिलिप कोटिन्हो के 32वें मिनट में लगाये गये शॉट को ओचोआ ने रोका जबकि रिबाउंड पर ह्यूगो अयाला ने उसे बाहर कर दिया। मध्यांतर तक दोनों टीमें गोलरहित बराबरी पर थी।

ब्राजील दूसरे हाफ में शुरू से ही मैक्सिको पर हावी हो गया था। कोटिन्हो को ओचोआ ने गोल नहीं करने दिया लेकिन लगातार दबाव बनाने का उन्हें तब फायदा मिला जब नेमार ने गोल दागा। नेमार का यह विश्व कप में छठा गोल था जिससे उन्होंने राबर्टो रिवलिनो और बबेटो की बराबरी की।

ब्राजील की तरफ से विश्व कप में यह 227वां गोल था। इससे उसने जर्मनी को पीछे छोड़कर नया रिकार्ड बनाया। विलियन बेहतरीन फार्म में थे। उन्होंने 63वें मिनट में भी मौका बनाया लेकिन ओचोआ ने फिर से बेहतरीन बचाव किया।

मैक्सिको ने भी इस बीच कुछ अवसरों पर ब्राजीली रक्षापंक्ति में सेंध लगायी। ऐसे ही एक अवसर पर हेक्टर हरेरा ने आंद्रेस गुआर्डाडो को गेंद थमायी लेकिन उनका शाट थियगो सिल्वा ने रोक दिया। इस बीच ब्राजील कोच टिटे ने कोटिन्हो की जगह फर्मिंगो को उतारा जिन्होंने मैदान पर पांव रखने के दो मिनट और छह सेकेंड बाद ही गोल दाग दिया। (इनपुट भाषा)

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story