Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रन-मशीन विराट कोहली ने हासिल किया एक और ''मील का पत्थर'', बनें दूसरे भारतीय

विराट कोहली को टेस्ट क्रिकेट में खुद को स्थापित करने में समय लगा था, लेकिन एक बार जब वह शुरुआती बाधा से गुजर गए तो भारतीय रन-मशीन ने अब इस प्रारूप में सबसे महान खिलाड़ियों में से एक बनने के लिए अपने कदम तेजी से बढ़ा दिए हैं।

रन-मशीन विराट कोहली ने हासिल किया एक और

विराट कोहली को टेस्ट क्रिकेट में खुद को स्थापित करने में समय लगा था, लेकिन एक बार जब वह शुरुआती बाधा से गुजर गए तो भारतीय रन-मशीन ने अब इस प्रारूप में सबसे महान खिलाड़ियों में से एक बनने के लिए अपने कदम तेजी से बढ़ा दिए हैं।

उन्होंने अपने 41वें टेस्ट मैच तक एक भी दोहरा शतक नहीं बनाया था लेकिन इसके बाद उन्होंने 22 मैचों की अवधि में छह दोहरे शतक जड़ दिए। भारतीय कप्तान ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में अपना खाता बाउंड्री से खोला और दूसरी बाउंड्री के साथ ही उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपने 6000 रन पूरे कर लिए।

इसे भी पढ़ें: एशिया कप के लिए टीम का चयन कल, कोहली हो सकते हैं बाहर, ये होंगे कप्तान

कोहली ने अपने पहले 1000 टेस्ट रनों के लिए 27 पारियां खेली थी, 26 और पारी खेलते हुए उन्होंने 2000 रन बनाए। वह अगले 20 और पारी में 3000 रन बनाए जबकि सिर्फ 16 पारियों में उन्होंने अपने अगले 1000 रन बनाए। कोहली ने इस लंबे प्रारूप में 4000 से 5000 रनों तक पहुंचने के लिए सिर्फ 16 पारियां लीं।

आख़िरकार कोहली 119 पारी में 6000 रन तक पहुंच गए। 119 पारी में 6000 रनों के मील का पत्थर पूरा करके कोहली भारतीय खिलाड़ियों में ऐसा करने वाले दूसरे सबसे तेज बल्लेबाज बन गए।

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और कप्तान सुनील गावस्कर ने यहां तक पहुंचने के लिए केवल 117 पारी खेली थी। कुल मिलाकर कोहली इस प्रारूप में 6000 रन पूरे करने वाले 9वें सबसे तेज खिलाड़ी हैं। सर डोनाल्ड ब्रैडमैन ने केवल 68 पारियों में यह कारनामा किया था।

भारत की तरफ से कोहली से पहले जिन खिलाड़ियों ने टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे किए थे उनमें सचिन तेंदुलकर (15921), राहुल द्रविड़ (13265), सुनील गावस्कर (10122), वीवीएस लक्ष्मण (8781), वीरेंद्र सहवाग (8503), सौरव गांगुली (7212), दिलीप वेंगसरकर (6868), मोहम्मद अजहरूद्दीन (6215) और गुंडप्पा विश्वनाथ (6080) शामिल हैं।

Share it
Top