Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पिता की मौत से अकेले पड़ गए थे ऋषभ पंत, जानें फिर कैसे टीम इण्डिया में खेलने तक का सफर तय किया

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट से ऋषभ पंत ने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। 20 वर्षीय दिल्ली के बल्लेबाज को लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे दिनेश कार्तिक की जगह टीम में शामिल किया गया।

पिता की मौत से अकेले पड़ गए थे ऋषभ पंत, जानें फिर कैसे टीम इण्डिया में खेलने तक का सफर तय किया
X

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट से ऋषभ पंत ने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। 20 वर्षीय दिल्ली के बल्लेबाज को लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे दिनेश कार्तिक की जगह टीम में शामिल किया गया।

पंत ने दूसरी ही गेंद पर छक्का से अपना खाता खोल कर अपने डेब्यू टेस्ट को यादगार बना दिया। इसके साथ ही वह पहले भारतीय बल्लेबाज बने जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में छक्का लगाकर अपना खाता खोला। पंत ने इस मैच में 51 गेंदों में 24 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने इंग्लैंड की पहली पारी में पांच कैच भी लपके।

हालांकि ऋषभ पंत के लिए यहां तक का सफ़र इतना आसान नहीं रहा है। ऋषभ पंत की मां सरोज ने कश्मीर टाइम्स से बात करते हुए बताया जब मुझे पता चला कि ऋषभ टेस्ट में डेब्यू करने जा रहा है, तब मैं बहुत घबराई हुई थी।

उसे दूसरी ही गेंद पर छक्का लगाते देख मैं भी हैरान रह गई। टेस्ट खेलने जाने से पहले ऋषभ ने मुझे फोन किया और कहा कि मैं उसे टीवी पर खेलते देखूं। जब बेटा खेल रहा होता है तब अधिकांश मैं टीवी नहीं देखती। आगे सरोज ने कहा- हालांकि पंत के पिता के गुजर जाने के बाद ऋषभ ने मुझसे कहा कि मैं उसे खेलते देखूं।

मैंने ऐसा ही किया। बता दें कि पंत ने अब तक भारत की ओर से चार टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने 23 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिसमें 308 रन का स्कोर भी बनाया हैं। आईपीएल 2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलते हुए भी पंत ने शानदार प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story