Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ जाएगा, जानिए क्यों है खास आज का मैच

भारतीय इतिहास में आज एक नया अध्याय जुड़ जाएगा । ईडन गार्डन्स में होने वाला मैच बेहद खास है, क्योंकि पहली बार यहां डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा।

Eden Gardens The Oldest Surviving Test Ground In Asiaआज भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ जाएगा

कोलकाता का ईडन गार्डन्स आज एक और इतिहास रचने को लिए तैयार है। बांग्लादेश के खिलाफ 22 नवंबर यानि शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे टॉस होते ही भारतीय क्रिकेट इतिहास में नया अध्याय जुड़ जाएगा। भारतीय टीम के लिए उसका 540वां टेस्ट बेहद खास है। वह पहली बार दिन-रात्रि टेस्ट खेलेगी वो भी अपने घर में और यह गौरव हासिल हुआ है कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स को।

एशिया का सबसे पुराना टेस्ट ग्राउंड-1934 से अब तक -

भारतीय क्रिकेट में ईडन गार्डन्स का एक अहम स्थान है। यह एशिया का सबसे पुराना टेस्ट ग्राउंड है, जहां 1934 से टेस्ट मुकाबले खेले जा रहे हैं। यहां पहला टेस्ट इंग्लैंड के खिलाफ 5 से 8 जनवरी (1934) तक खेला गया था। भारत के पहले कप्तान सी.के. नायडू के कप्तानी में खेला गया लेकिन यह टेस्ट ड्रॉ रहा था। और अब यहां खेला जाने वाला 42वां टेस्ट 'डे-नाइट' टेस्ट होगा, जो गुलाबी गेंद से खेला जाएगा।

1987 में इंग्लैंड के बाहर पहली बार ईडन में वर्ल्ड कप फाइनल खेला गया -

कोलकाता के ईडन गार्डन्स को 'क्रिकेट का मक्का' कहे जाने वाले लॉर्ड्स के बाद पहले स्टेडियम के तौर पर माना जाता है, जहां इंग्लैंड के बाहर पहली बार 8 नवंबर 1987 को वर्ल्ड कप फाइनल मैच हुआ था।इससे पहले खेले गए तीनों वर्ल्ड कप फाइनल कोलकाता के ईडन गार्डन्स को 'क्रिकेट का मक्का' कहे जाने वाले लॉर्ड्स के बाद पहले स्टेडियम के तौर पर माना जाता है, जहां इंग्लैंड के बाहर पहली बार 8 नवंबर 1987 को वर्ल्ड कप फाइनल मैच हुआ था।

इससे पहले खेले गए तीनों वर्ल्ड कप फाइनल (1975, 1979 और 1983) लॉर्ड्स में खेले गए थे। अब तक सर्वाधिक 5 बार वर्ल्ड कप पर कब्जा कर चुके ऑस्ट्रेलिया की टीम ने इसी मैदान पर 1987 में इंग्लैंड को फाइनल में हरा पहली बार वर्ल्ड कप का खिताब जीता था।

1999 में एशियन टेस्ट चैम्पियनशिप का पहला मैच ईडन गार्डन्स में हुआ -

आगर एशियन टेस्ट चैम्पियनशिप की बात करें, तो ईडन गार्डन्स में इस टूर्नामेंट का शुरुआती मैच खेला गया था। साल 1999 में 16 से 20 फरवरी तक खेले गए इस टेस्ट मैच में भारत को पाकिस्तान के हाथों 46 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि क्रिकेट कैलेंडर में यह नियमित चैम्पियनशिप नहीं बन सकी। दो ही बार (1998-99 और 2001-02) यह चैम्पियनशिप हो पाई।

22 नवंबर 2019 से उपमहाद्वीप में पहली बार डे-नाइट टेस्ट ईडन -

अब 22 नवंबर का दिन न सिर्फ ईडन के लिए, बल्कि भारतीय क्रिकेट के लिए मील का पत्थर साबित होने जा रहा है। भारतीय उपमहाद्वीप में पहली बार डे-नाइट के आयोजन ने कोलकाता को 'पिंक सिटी' में तब्दील कर दिया है।

सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद भारत के गुलाबी गेंद से खेलने का रास्ता साफ हुआ। उन्होंने कहा था कि कप्तान विराट कोहली इसके लिए सिर्फ तीन सेकेंड में मान गए थे। इस पिंक टेस्ट को लेकर कोलकाता में भारी उत्साह है, मैच के शुरुआती चार दिनों के टिकट काफी पहले ही बिक चुके हैं।

यह मैच विश्व क्रिकेट का 12वां डे-नाइट टेस्ट -

ईडन गार्डन्स का मैच विश्व क्रिकेट का 12वां डे-नाइट टेस्ट है। पहला डे-नाइट टेस्ट 2015 में 27-29 नवंबर तक एडिलेड में खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ यह मुकाबला महज तीन दिनों में 3 विकेट से जीता था।

अब तक किसने कितने डे-नाइट टेस्ट खेले हैं -

ऑस्ट्रेलिया ने सर्वाधिक 5 डे-नाइट टेस्ट खेले हैं। पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और इंग्लैंड ने 3-3, न्यूजीलैड और साउथ अफ्रीका ने 2-2, जबकि जिम्बाब्वे ने एक टेस्ट मैच खेला है।

अब तक कहां-कहां खेले गए हैं डे-नाइट टेस्ट -

ऑस्ट्रेलिया में सबसे ज्यादा पांच डे-नाइट टेस्ट खेले गए हैं। यूएई में 2, जबकि वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड में 1-1 टेस्ट मैच खेला गया है।

Next Story
Top