Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

World Cup Final 2019 : वर्ल्ड कप इतिहास के 5 दिल थाम देने वाले फाइनल मुकाबले

World Cup Final: पहला वर्ल्ड कप 1975 में खेला गया था, तब से अब तक 11 विश्व कप फाइनल (World Cup Final) खेले जा चुके हैं। क्रिकेट वर्ल्ड कप का 12वां फाइनल यानि वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल (World Cup 2019 Final) इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच रविवार यानि 14 जुलाई को लॉर्ड्स में खेला जाना है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको वर्ल्ड कप इतिहास के पांच रोचक फाइनल के बारे में बताने जा रहे हैं।

World Cup Final 2019 : वर्ल्ड कप इतिहास के 5 दिल थाम देने वाले फाइनल मुकाबलेWorld Cup Final 2019 Top 5 Match Of World Cup

World Cup Final

पहला वर्ल्ड कप 1975 में खेला गया था, तब से अब तक 11 विश्व कप फाइनल (World Cup Final) खेले जा चुके हैं। क्रिकेट का जन्मदाता कहा जाने वाला इंग्लैंड अभी तक एक भी वर्ल्ड कप खिताब (World Cup 2019) नहीं जीता है। क्रिकेट वर्ल्ड कप का 12वां फाइनल यानि वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल (World Cup 2019 Final) इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच रविवार यानि 14 जुलाई को लॉर्ड्स में खेला जाना है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको वर्ल्ड कप इतिहास के पांच रोचक फाइनल के बारे में बताने जा रहे हैं।

वर्ल्ड कप इतिहास के पांच रोचक फाइनल

5. वर्ल्ड कप 1996, श्रीलंका बनाम ऑस्ट्रेलिया

वर्ल्ड कप 1996 का फाइनल पूर्व विश्व कप विजेता ऑस्ट्रेलिया और अंडरडॉग श्रीलंका के बीच खेला गया था। श्रीलंका के कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने टॉस जीता और ऑस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी के लिए कहा। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों के अपने कोटे में 7 विकेट पर 241 रन बनाए। जवाब में 30 के स्कोर पर दोनों ओपनरों को खोने के बाद श्रीलंका ने 46.2 ओवर में इस मैच को सात विकेट से जीत लिया। श्रीलंकाई बल्लेबाजी सनसनी अरविंदा डी सिल्वा ने नाबाद 107 रनों की मैच विजयी पारी खेली और इसके अलावे असांका गुरुसिंघा (65) और कप्तान रणतुंगा ने नाबाद 47 रन बनाए।

4. वर्ल्ड कप 1983, भारत बनाम वेस्ट इंडीज

वर्ल्ड कप 1983 का फाइनल दो बार की विश्व कप विजेता वेस्ट इंडीज और भारत के बीच खेला गया था। वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत ने 1983 विश्व कप का फाइनल 43 रनों से जीता था, लेकिन यह विश्व कप फाइनल के इतिहास का सबसे बड़ा उलटफेर था। उस समय की कमजोर टीम भारत ने दो बार की वर्ल्ड चैंपियन वेस्ट इंडीज को हराकर इतिहास रच दिया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 183 रन बनाए थे। जवाब में दिग्गजों से सजी वेस्टइंडीज की टीम को भारतीय गेंदबाजों ने महज140 रनों पर समेट दिया।


3. वर्ल्ड कप 2011, भारत बनाम श्रीलंका

वर्ल्ड कप 2011 का फाइनल श्रीलंका और भारत के बीच खेला गया था। 2011 विश्व कप के फाइनल में श्रीलंका को 10 गेंद शेष रहते 6 विकेट से हराकर भारत ने दूसरी बार बार वर्ल्ड कप का ख़िताब अपने नाम किया था। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए महेला जयवर्धने के शतक की बदौलत 274 रन बनाए। जवाब में भारत ने सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग का विकेट जल्द ही गंवा दिया। हालांकि गौतम गंभीर के 97 और एमएस धोनी के नाबाद 91 रनों की बदौलत भारत दूसरी बार वर्ल्ड कप ख़िताब जीतने में कामयाब रहा।


2. वर्ल्ड कप 1992, पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड

वर्ल्ड कप 1992 का फाइनल पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। इमरान खान की कप्तानी में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 22 रन से हराकर पहली बार विश्व कप ट्रॉफी जीती थी। 1992 में विश्व कप फाइनल को कुछ कारणों से हमेशा याद रखा जाएगा। दरअसल फाइनल से पहले ऐसा नहीं लग रहा था कि पाकिस्तान फाइनल में जाएगा। लेकिन उन्होंने ना सिर्फ फाइनल में जगह बनाई बल्कि मजबूत टीम इंग्लैंड को हराया भी। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट पर 249 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 49.2 ओवरों में महज 227 रनों पर सिमट गई।


1. वर्ल्ड कप 1987, ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड

वर्ल्ड कप 1987 का फाइनल ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। कोलकाता के ईडन गार्डन्स में इंग्लैंड को 7 रन से हराकर ऑस्ट्रेलिया ने अपना पहला विश्व कप ट्रॉफी जीता था। यह इंग्लैंड के बाहर खेला जाने वाला पहला क्रिकेट विश्व कप फाइनल था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 253 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड की टीम 50 ओवर में 8 विकेट पर 246 रन ही बना सकी और बेहद मामूली अंतर से वर्ल्ड कप जीतने से चूक गई।


Share it
Top