Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये 5 क्रिकेटर्स चले थे गेंदबाज बनने, बन गए दुनिया के टॉप बल्लेबाज

एक क्रिकेटर जिसने एक गेंदबाज के रूप में अपना करियर शुरू किया था लेकिन इसके विपरीत वह एक सफल बल्लेबाज बन गए। इस लिस्ट में कुछ ऐसे भी नाम शामिल हैं, जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी से दुनिया को दीवाना बनाया है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम उन टॉप 5 क्रिकेटर्स की बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने गेंदबाजी के तौर पर अपना करियर शुरू किया था लेकिन सफल बल्लेबाज बन गए।

ये 5 क्रिकेटर्स चले थे गेंदबाज बनने, बन गए दुनिया के टॉप बल्लेबाज
X

क्रिकेट अनिश्चितताओं से भरा खेल है। यहां हर समय रिकॉर्ड बनते और टूटते रहते हैं। क्रिकेट की यही खूबसूरती तो लोगों को अपने से बांधे रखती है। क्रिकेट इतिहास में कुछ दिलचस्प वाकये भी हुए हैं। दरअसल एक क्रिकेटर जिसने एक गेंदबाज के रूप में अपना करियर शुरू किया था लेकिन इसके विपरीत वह एक सफल बल्लेबाज बन गए। इस लिस्ट में कुछ ऐसे भी नाम शामिल हैं, जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी से दुनिया को दीवाना बनाया है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम उन टॉप 5 क्रिकेटर्स की बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने गेंदबाजी के तौर पर अपना करियर शुरू किया था लेकिन बन गए सफल बल्लेबाज।

1. स्टीव स्मिथ (Steve Smith)

आधुनिक क्रिकेट के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने अपने करियर की शुरुआत एक गेंदबाज के तौर पर की थी। उन्होंने वर्ष 2010 में तीनों प्रारूपों में ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए डेब्यू किया। शुरू में स्टीव स्मिथ को एक लेग स्पिनर के रूप में इस्तेमाल किया गया था जो बल्लेबाजी लाइन अप में नंबर 7 या 8 पर बल्लेबाजी कर सकते थे। हालांकि 2013 में इंग्लैंड में एशेज श्रृंखला ने स्मिथ के करियर को बदलकर रख दिया। उन्होंने उस श्रृंखला में एक बल्लेबाज के रूप में खुद को स्थापित किया। फिर उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। स्टीव स्मिथ ने अब तक 65 टेस्ट मैचों में 62.96 की शानदार औसत से 119 पारियों में 6485 रन बनाए हैं, जिसमें 25 शतक और 2 दोहरे शतक शामिल हैं। उनके करियर का सबसे अच्छा दौर 2015 में आया, जब टेस्ट के नंबर एक बल्लेबाज बन गए। एक बल्लेबाज के रूप में स्टीव स्मिथ ने आधुनिक पीढ़ी के 'फैब चार' में अपनी जगह बनाई है, जिसमें उनके समकालीन विराट कोहली, केन विलियमसन और जो रूट का नाम शामिल है।


2. कैमरून व्हाइट (Cameron White)

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर कैमरन व्हाइट ने लेग स्पिनर के रूप में अपना करियर शुरू किया। ब्रैड हॉग के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद उन्हें देश का सर्वश्रेष्ठ लेग स्पिनर कहा जाने लगा। कैमरून व्हाइट ने बैंगलोर में भारत के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया और सचिन तेंदुलकर को अपना पहला टेस्ट शिकार बनाया। कैमरून व्हाइट ने 2009 में ऑस्ट्रेलिया के इंग्लैंड दौरे के दौरान एक बल्लेबाज के रूप में खुद को स्थापित किया। उन्होंने साउथेम्प्टन में अपना पहला एकदिवसीय शतक लगाया और फिर धीरे धीरे वह ऑस्ट्रेलिया की बैटिंग लाइन-अप का एक अहम हिस्सा बन गए। माइकल क्लार्क के टी20 प्रारूप से संन्यास के बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया का टी20 कप्तान भी बनाया गया था। 91 एकदिवसीय मैचों में कैमरून व्हाइट ने दो शतक के साथ 33.97 की औसत से 2072 रन बनाए, जबकि गेंदबाजी में वह केवल 12 विकेट हासिल कर सके।


3. सनथ जयसूर्या (Sanath Jaysuriya)

श्रीलंका के बाएं हाथ के बल्लेबाज सनथ जयसूर्या की गिनती दुनिया के महान क्रिकेटरों में होती है। जयसूर्या के सामने गेंदबाजी करने से अच्छे से अच्छे गेंदबाज घबराते थे। हालांकि बहुत कम लोगों को पता होगा कि श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज सनथ जयसूर्या ने भी एक स्पिनर के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी। अपने करियर के पहले पांच वर्षों तक उन्हें एक गेंदबाज के रूप में ही जाना जाता था। हालांकि बाद में उनके करियर का ग्राफ विपरीत दिशा यानि बल्लेबाजी की ओर मुड़ गया, फिर जो हुआ वह एक इतिहास ही है। सचिन तेंदुलकर के बाद जयसूर्या वनडे में 13,000 रन बनाने वाले केवल दूसरे बल्लेबाज बने। सनथ जयसूर्या ने 445 वनडे मैचों में 32.13 की औसत और 91.22 की शानदार स्ट्राइक रेट से 13,340 रन बनाए हैं। उनके नाम 323 वनडे विकेट भी दर्ज है।


4. शोएब मलिक (Shoaib Malik)

37 वर्षीय पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक ने हाल ही में विश्व कप 2019 में खराब प्रदर्शन के बाद एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया। अपने करियर के 20 वर्षों के दौरान शोएब मलिक ने एक विश्वसनीय मध्य-क्रम के बल्लेबाज के रूप में खुद का नाम बनाया था। हालांकि 17 साल की उम्र में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ एक ऑफ स्पिनर के रूप में इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी। 2004 के दौरान उनकी गेंदबाजी एक्शन संदेह के घेरे में थी, लेकिन कुछ महीने बाद उन्हें क्लीन छित मिल गई थी। हालांकि टीम उनकी बल्लेबाजी प्रतिभा के कारण उनके साथ बनी रही। शोएब मलिक ने सलामी बल्लेबाज के रूप में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट शतक बनाया। शोएब मलिक ने सलामी बल्लेबाज, नंबर 3 बल्लेबाज, मध्य क्रम के बल्लेबाज और यहां तक ​​कि फिनिशर के रूप में भी अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने 287 वनडे में 34.56 की औसत से 7534 रन बनाए हैं और 158 विकेट लिए हैं।


5. शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi)

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी की गिनती दुनिया के टॉप ऑलराउंडरों में होती है। शाहिद अफरीदी को 16 साल की उम्र में एक गेंदबाज के तौर पर पाकिस्तान क्रिकेट टीम में शामिल किया गया था। हालांकि अपने दूसरे वनडे में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 37 गेंदों में शतक लगाया, जो सबसे तेज एकदिवसीय शतक का रिकॉर्ड बन गया। यह रिकॉर्ड 17 साल तक कायम रहा हालांकि न्यूजीलैंड के कोरी एंडरसन ने 2014 में 36 गेंदों पर शतक लगाकर इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया।


अफरीदी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। उनकी गेंदबाजी क्षमताओं के बावजूद क्रिकेट जगत में उनकी लोकप्रियता केवल उनकी आक्रामक बल्लेबाजी के कारण थी। 398 एकदिवसीय मैचों में शाहिद अफरीदी ने 117.01 की स्ट्राइक रेट से 8064 रन बनाए। दिलचस्प बात यह है कि इनमें से 5022 रन बाउंड्री से आए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top