Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शाहिद अफरीदी को टीचर से हुआ था प्यार, पिता के कहने पर हुई थी बहन नादिया से शादी

शाहिद अफरीदी और उनकी ममेरी बहन की शादी साल 2000 में हुई थी। आज शाहिद अफरीदी ने अपने चाहने वालों को खुशखबरी देते हुए बताया कि उनकी पत्नी नादिया अफरीदी ने एक प्यारी सी बच्ची को जन्म दिया है। अफरीदी और नादिया की यह पांचवी संतान है।

शाहिद अफरीदी को टीचर से हुआ था प्यार, पिता के कहने पर हुई थी बहन नादिया से शादीशाहिद अफरीदी

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी के घर एक नया मेहमान आया है। शाहिद अफरीदी की पत्नी नादिया अफरीदी ने एक प्यारी सी बच्ची को जन्म दिया है। शाहिद अफरीदी और नादिया अफरीदी की यह पांचवी संतान है और पांचवी लड़की भी। शाहिद अफरीदी ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी।

अफरीदी ने लिखा - अल्लाह की कृपा मुझपर है, पहले से ही चार प्यारी बच्चियों के पिता होने का गर्व मुझे हैं और अब ऊपर वाले ने मुझे एक और प्यारी सी बच्ची दी। इस खुशखबरी को मै अपने चाहने वालों के साथ साझा कर रहा हूं।

शाहिद अफरीदी ने वर्ष 2000 में अपनी ममेरी बहन नादिया से शादी की थी। शादी के बाद नादिया और अफरीदी को चार प्यारी बच्चियां हुई।अफरीदी की बच्चियों के नाम है अक्सा, आशा, अज्वा और असमार। शाहिद अफरीदी ने एक बार इंटरव्यू में बताया था कि कैसे उनकी शादी उनकी ममेरी बहन नादिया से हुई थी।

पिता ने ढूंढी थी शाहिद अफरीदी की हमसफर

शाहिद अफरीदी और नादिया अफरीदी के बीच कभी कुछ विवाद की खबर नहीं आई, दोनों हमेशा एक दूसरे के साथ रहे हैं। एक बार शाहिद अफरीदी ने इंटरव्यू में बताया था कि उनके पिता ने उनके लिए नादिया को चुना था। नादिया उनकी ममेरी बहन थी और वो उन्हें बचपन से जानते भी थे।

अफरीदी ने बताया था कि जब वो कहीं बाहर जा रहे थे तो मजाक में लड़की ढूंढने के लिए पिता से कह दिया था। अफरीदी के वापस घर लौटने पर पिता ने जानकारी दी थी कि उन्होंने लड़की ढूंढ ली है, फिर पिता ने नादिया के बारे में बताया।

शाहिद अफरीदी को 9 वर्ष की उम्र में हुआ था प्यार

एक इंटरव्यू के दौरान शाहिद अफरीदी ने अपने पहले प्यार के बारे में बताया था। शाहिद अफरीदी ने कहा था कि जब वो पढ़ते थे तब उन्हें शिक्षिका से प्यार हो गया था। अफरीदी ने बताया था कि वो टीचर उन्हें बहुत ही सूंदर लगती थी।

1996 में पाकिस्तान के लिए डेब्यू करने वाले शाहिद अफरीदी ने क्रिकेट जगत में एक खास जगह बनाई है। उनको उनकी आक्रामक बल्लेबाजी शैली के लिए बूम बूम नाम मिला हुआ है। 45 वर्षीय शाहिद अफरीदी ने अपना आखिरी मैच 2015 में खेला था।

Next Story
Top