Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Sachin Tendulkar Bowling Records: सचिन तेंदुलकर के 3 गेंदबाजी रिकॉर्ड, जिनसे आप आजतक होंगे अंजान

Sachin Tendulkar Bowling Records: महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने बल्लेबाजी का लगभग हर रिकॉर्ड अपने नाम किया है। लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि सचिन तेंदुलकर बहुत अच्छे गेंदबाज (Sachin Tendulkar Bowling) भी थे। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको सचिन तेंदुलकर के 3 गेंदबाजी रिकॉर्ड (Sachin Tendulkar Bowling Records) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनसे आप आजतक अंजान होंगे।

Sachin Tendulkar Bowling Records: सचिन तेंदुलकर के 3 गेंदबाजी रिकॉर्ड, जिनसे आप आजतक होंगे अंजान

Sachin Tendulkar Bowling Records (सचिन तेंदुलकर बॉलिंग रिकॉर्ड) महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को दुनिया भर के प्रशंसकों के बीच 'क्रिकेट का भगवान' माना जाता है। मास्टर ब्लास्टर क्रिकेट इतिहास के सबसे लोकप्रिय बल्लेबाजों में से एक हैं। सचिन तेंदुलकर ने बल्लेबाजी का लगभग हर रिकॉर्ड अपने नाम किया है। रिकॉर्ड की इस लंबी लिस्ट में टेस्ट और वनडे क्रिकेट दोनों में सबसे अधिक शतक और रन बनाने का रिकॉर्ड भी शामिल है।

लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि सचिन तेंदुलकर बहुत अच्छे गेंदबाज (Sachin Tendulkar Bowling) भी थे। महान क्रिकेटर ने अपने करियर में 200 अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए हैं, जिसमें वनडे में 155 और टेस्ट मैचों में 44 विकेट शामिल है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको सचिन तेंदुलकर के 3 गेंदबाजी रिकॉर्ड (Sachin Tendulkar Bowling Records) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनसे आप आजतक अंजान होंगे।

1. एकदिवसीय विकेट लेने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय

सचिन तेंदुलकर एक विलक्षण प्रतिभा के खिलाड़ी थे। उन्होंने 16 साल की उम्र में ही अपना इंटरनेशनल डेब्यू कर लिया था। हालांकि तेंदुलकर को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला विकेट लेने के लिए कुछ समय इंतजार करना पड़ा। आखिर में उनका इंतजार 5 दिसंबर 1990 को खत्म हुआ, जब उन्होंने श्रीलंका के रोशन महानामा का विकेट लिया। इसके साथ तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय विकेट लेने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय क्रिकेटर बन गए। तेंदुलकर ने 17 साल और 224 दिन की उम्र में यह कारनामा कर पूर्व भारतीय स्पिनर मनिंदर सिंह का रिकॉर्ड तोड़ दिया।


2. एशिया कप के एक संस्करण में एक भारतीय स्पिनर द्वारा सर्वाधिक विकेट

सचिन तेंदुलकर को पार्टनरशिप तोड़ने के लिए जाना जाता था। तेंदुलकर ने 2004 के एशिया कप में अपने गेंदबाजी से शानदार प्रदर्शन करके सबको चौंका दिया था। स्पिनर सचिन तेंदुलकर ने इस एशिया कप में छह मैचों में 12.25 की असाधारण गेंदबाजी औसत से 12 विकेट चटकाए थे। इस दौरान उन्होंने एशिया कप के एक संस्करण में एक भारतीय स्पिनर द्वारा लिए गए सर्वाधिक विकेटों का रिकॉर्ड तोड़ा था। इतना ही नहीं 2004 के एशिया कप में सचिन इरफान पठान के बाद दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज थे। इरफान पठान ने 14 विकेट लिए थे।


3. वनडे मैचों में आखिरी ओवर में दो बार छह या उससे कम रनों का बचाव करने वाला एकमात्र गेंदबाज

अगर अंतिम ओवरों में बल्लेबाजी करने वाली टीम को 10-12 रनों की जरूरत होती है, तो उन्हें मैच जीतने के लिए पसंदीदा माना जाता है। लेकिन आखिरी ओवर में छह रन से कम स्कोर का बचाव करना बहुत ही दुर्लभ उपलब्धि है, यही वजह है कि केवल एक गेंदबाज ने इसे दो बार हासिल किया है। और यह गेंदबाज कोई और नहीं बल्कि सचिन तेंदुलकर है।


तेंदुलकर एकमात्र ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने आखिरी ओवर में एक से अधिक बार छह रन से कम स्कोर का बचाव किया है। 1993 में दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए आखिरी ओवर में छह रन चाहिए थे और आखिरी ओवर ने सचिन ने महज तीन रन दिए थे। 1997 में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने ओवर की पहली गेंद पर आखिरी विकेट चटकाकर यह कारनामा दोहराया था।


Next Story
Share it
Top